Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 30th of September 2020
 
दुनिया

कोरोना काल में राहत की खबर: ऑक्सफोर्ड की कोरोना वैक्सीन का ब्रिटेन में फिर से ट्रायल शुरू

Sunday, September 13, 2020 08:55 AM
प्रतीकात्मक तस्वीर।

लंदन। ऑक्सफोर्ड और एस्ट्राजेनेका की कोरोना वायरस वैक्सीन के अंतिम चरण के ट्रायल को ब्रिटेन में फिर से शुरू कर दिया गया है। एस्ट्राजेनेका ने कहा कि ब्रिटेन की मेडिसिंस हेल्थ रेगुलेटरी अथॉरिटी ने पूरे मामले की जांच के बाद इसे सुरक्षित पाया है। जिसके बाद इसके क्लिनिकल ट्रायल को हरी झंडी दी गई है। वैक्सीन के ट्रायल को उस समय रोक दिया गया था जब एक वॉलंटियर पर इसका गंभीर असर दिखाई दिया था।

2020 के अंत तक आ सकती है यह वैक्सीन
एस्ट्राजेनेका के सीईओ पास्कल सॉरियट को वैक्सीन के जल्द उपलब्ध होने की उम्मीद है। उनका कहना है कि यह वैक्सीन इस साल के अंत तक या अगले साल की शुरुआत तक आ सकती है।

चीन की वैक्सीन का कोई साइड इफेक्ट नहीं
चीन की चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप ने अपनी कोरोना वायरस वैक्सीन को सुरक्षित और प्रभावी बताया है। कंपनी ने एक बयान में कहा कि अभी तक जिन लोगों को इस वैक्सीन के दोनों टीके लगाए जा चुके हैं उनमें किसी तरह का कोई साइड इफेक्ट नहीं दिखा है। कंपनी ने अपने आधिकारिक वीचैट अकाउंट पर कहा कि अभी तक इस वैक्सीन की डोज लगभग एक लाख लोगों को दी गई है।

चीन ने तीन कोविड वैक्सीन को दी मंजूरी
चीन ने तत्काल उपयोग के लिए कोरोना वायरस के तीन वैक्सीन को मंजूरी दी है। इनमें से दो को चाइना नेशनल बायोटेक ग्रुप ने विकसित किया है। वैक्सीन की खुराक सबसे पहले संक्रमण की चपेट में आने की संभावना वाले उच्च जोखिम समूह जैसे कि मेडिकल स्टाफ, राजनयिकों को दी गई है।  

दाग धोना चाहता है चीन, इसलिए इतनी तेजी
कोरोना वायरस से निपटने के लिए चीन की विश्व स्तर पर आलोचना हो रही है। यही कारण है कि वह कोरोना वायरस वैक्सीन के विकास को लेकर इतनी तेजी दिखा रहा है। हालांकि उसपर इस संक्रमण को दुनियाभर में फैलाने का भी आरोप लग चुका है।

यह भी पढ़ें:

अफगानिस्तान में 19 आतंकवादियों ने किया आत्मसमर्पण

अफगानिस्तान में पश्चिम हेरात प्रांत में 19 तालिबानी आतंकवादियों ने सेना के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया है। सेना ने यह जानकारी दी है।

30/01/2020

सबसे कम उम्र में अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली लेखक बनीं नीदरलैंड की मारिके

नीदरलैंड की 29 वर्षीय मारिके लुकास रिजनेवेल्ड सबसे कम उम्र में अंतरराष्ट्रीय बुकर पुरस्कार जीतने वाली लेखक बन गई हैं। यह पुरस्कार मूल बुकर पुरस्कार से अलग है और इसका लक्ष्य विश्वभर में अच्छे उपन्यास के अधिक प्रकाशन और उसे पढ़ने के लिए प्रोत्साहित करना है।

27/08/2020

नेतन्याहू ने रॉकेट की आवाज सुनकर बीच में छोड़ी रैली

इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू ने एक रैली बीच में ही छोड़ दी। वह होने वाली पार्टी की प्राइमरी के लिए प्रचार कर रहे थे।

26/12/2019

पर्यावरण कार्यकर्ता ग्रेटा फिर नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामांकित, स्वीडन के 2 सांसदों ने आगे बढ़ाया नाम

जलवायु परिवर्तन और ग्लोबल वार्मिग जैसे वैश्विक संकट के खिलाफ पुरजोर आवाज उठाने वाली 17 वर्षीय ग्रेटा थनबर्ग को फिर नोबेल शांति पुरस्कार के लिए नामित किया गया है। इस वर्ष ग्रेटा का नाम उनके देश स्वीडन के दो सांसदों ने आगे बढ़ाया है।

04/02/2020

नियमित कामकाज के लिए किसी देश पर निर्भर नहीं रहेगा WHO, नए संगठन की स्थापना

अपने नियमित कामकाज के लिए सदस्य देशों की मदद पर विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) की निर्भरता समाप्त करने की दिशा में कदम बढ़ाते हुए डब्ल्यूएचओ फाउंडेशन के नाम से एक नये संगठन की स्थापना की गई है।

28/05/2020

जापानी पोत से 1,000 टन तेल का रिसाव, मॉरीशस में पर्यावरणीय आपातकाल घोषित

मॉरीशस के द्वीप में जुलाई के अंतिम सप्ताह से फंसे एक जापानी पोत से हिंद महासागर में 1,000 टन तेल का रिसाव हुआ है। अंतरिक्ष से ली गई तस्वीरों में जहाज के आस-पास बड़ा सा काला धब्बा नजर दिखाई देता है।

09/08/2020

पाकिस्तान इंटरनेट स्वायत्ता मामले में दुनिया के खराब देशों में शामिल

पाकिस्तान लगातार नौंवें वर्ष इंटरनेट स्वायत्ता के मामले में दुनिया के खराब देशों में शुमार किया गया। फ्रीडम हाउस नामक संस्था ने यह जानकारी दी है।

06/11/2019