Dainik Navajyoti Logo
Monday 20th of September 2021
 
दुनिया

बिडेन ने किया सदी के सबसे बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर पैकेज का ऐलान, अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती

Friday, April 02, 2021 09:00 AM
जो बिडेन (फाइल फोटो)

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कोरोना से बेहाल अमेरिकी अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए बड़ा कदम उठाया है। राष्ट्रपति जो बिडेन ने अमेरिका के आधारभूत ढांचे को सुधारने और चीन से मुकाबले के लिए बुधवार को दो ट्रिलियन डॉलर (दो लाख करोड़ डॉलर) के इंफ्रास्ट्रक्चर पैकेज का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि इससे चार वर्षों में अच्छे वेतन वाली एक करोड़ अस्सी लाख नौकरियों पैदा होंगी। इस इंफ्रास्ट्रक्चर प्लान को वर्तमान सदी में का सबसे बड़ा निवेश प्रस्ताव बताया जा रहा है।

10 रिपब्लिकन नेताओं के अनुमोदन की जरूरत

यह आर्थिक पैकेज जल प्रणालियों, इलेक्ट्रिकल ग्रिड, हाईस्पीड इंटरनेट और क्वालिटी हाउसिंग में सुधार के लिए भी जारी किया गया है। गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव के दौरान डेमोक्रेट ने देश के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए एक बड़े पैकेज के जारी करने की बात कही थी। हालांकि बिडेन को इस पैकेज को मंजूरी दिलाने के लिए अमेरिकी संसद के समर्थन की दरकार होगी। इस पैकेज को अपनाने के लिए राष्ट्रपति को लगभग 10 रिपब्लिकन नेताओं के अनुमोदन की जरूरत होगी। वहीं सीनेट में रिपब्लिकन नेता मिच मैककॉनेल ने इस योजना को तुरंत खारिज कर दिया।

श्रमिकों को बनाएगा सशक्त
पेंसिलवेनिया के पिट्सबर्ग से इंफ्रा प्लान का ऐलान करते हुए बाइडन ने कहा कि यह सभी को ना केवल समान अवसर प्रदान करने का काम करेगा बल्कि श्रमिकों को सशक्त भी बनाएगा। यह योजना यह भी सुनिश्चित करेगी कि नई पैदा होने वाली नौकरियां अच्छे वेतन की हो, जिससे कामगार अपने परिवार का भरण-पोषण अच्छी तरह से कर सके। बाइडन ने संसद से अपील की वह प्रो एक्ट को पारित करके जल्द से जल्द उनके पास भेजे, जिससे इसे कानून की शक्ल दी जा सके।

कर बढ़ाने की घोषणा
बिडेन ने इस दौरान प्रतिवर्ष चार लाख अमेरिकी डॉलर से अधिक कमाने वालों पर कर बढ़ाने की घोषणा की। बिडेन ने पेन्सिलवेनिया के पिट्सबर्ग में कहा कि अमेरिका में पहली बार इतना बड़ा निवेश किया जा रहा है। इस योजना का मकसद लाखों अच्छे रोजगारों को पैदा करना है। चीन से मुकाबला करने के लिए यह योजना जरूरी है। बिडेन ने जोर देकर कहा कि हमको यह करना ही होगा। इस पैकेज में लगभग 32 हजार किलोमीटर सड़कों, 10 हजार पुलों के साथ साथ हवाईअड्डों और इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का आधुनिकीकरण किया जाएगा।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

34 साल की सना मारिन बनी फिनलैंड की प्रधानमंत्री

सना मारिन फिनलैंड की प्रधानमंत्री बनी है। 34 साल की मारिन को फिनलैंड की कमान सौंपी गई है। वह सबसे कम उम्र की पीएम बनी है, जो महिला नेतृत्व से भरी कैबिनेट का प्रतिनिधित्व करेगी।

10/12/2019

नेपाल में राष्ट्रपति ने भंग की संसद, मध्यावधि चुनाव के लिए नई तारीख का ऐलान

नेपाल की राष्ट्रपति विद्यादेवी भंडारी ने शनिवार तड़के संसद को भंग कर दिया तथा 12 एवं 19 नवंबर को मध्यावधि चुनाव कराने की घोषणा भी कर दी। इससे पूर्व राष्ट्रपति कार्यालय की ओर से जारी वक्तव्य के मुताबिक राष्ट्रपति की ओर से तय डेडलाइन की अवधि समाप्त होने तक शुक्रवार तक ना तो कार्यवाहक प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली और ना ही विपक्ष के नेता शेर बहादुर देउबा नई सरकार के गठन का दावा ही पेश कर सके।

22/05/2021

दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले 1.37 करोड़ के पार, 5.89 लाख से ज्यादा की मौत

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) का कहर तेजी से बढ़ता जा रहा है। दुनिया में इसके कारण अब तक 5.89 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। 1.37 करोड़ से अधिक लोग प्रभावित हुए हैं।

17/07/2020

दुनिया में कोरोना से 3.64 लाख लोगों की मौत

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड 19) ने दुनिया में अब तक 3.64 लाख से अधिक लोगों की जानें ले ली है, जबकि इसके संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब पहुंच गयी है।

30/05/2020

जो बिडेन ने वीजा प्रतिबंध संबंधी ट्रंप का आदेश किया रद्द, कहा- अमेरिका के हित में नहीं था यह फैसला

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बिडेन ने कोरोना वायरस महामारी के दौरान कुछ वीजा पर प्रतिबंध लगाने के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प के आदेश को रद्द कर दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति कार्यालय 'व्हाइट हाउस' की ओर से जारी बयान में बिडेन ने कहा कि यह फैसला अमेरिका के हित में नहीं था।

25/02/2021

हंट ने ईरान को टैंकर मामले पर चेताया

ब्रिटेन के विदेश सचिव जेरेमी हंट ने ईरान को टैंकर मामले को लेकर चेताया है। उन्होंने कहा है कि अगर ईरान ने इस मामले को जल्द से जल्द ठीक नहीं किया तो उसे गंभीर परिणाम भुगतने पड़ेंगे।

20/07/2019

फाइजर ने मोदी सरकार से वैक्सीन को जल्द मंजूरी देने की मांग की, 517 करोड़ रुपए की दवाइयां भी दान की

देश में कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के लिए भारत को जल्द ही चौथी कोरोना वैक्सीन मिल सकती है। दुनिया की सबसे कारगर वैक्सीन बनाने वाली कंपनी फाइजर भारत के संपर्क में है। भारत में अपनी कोरोना वैक्सीन को मंजूरी दिलाने के लिए वह फिलहाल बातचीत कर रही है।

03/05/2021