Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 11th of May 2021
 
दुनिया

बिडेन ने किया सदी के सबसे बड़े इंफ्रास्ट्रक्चर पैकेज का ऐलान, अर्थव्यवस्था को मिलेगी मजबूती

Friday, April 02, 2021 09:00 AM
जो बिडेन (फाइल फोटो)

वाशिंगटन। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन ने कोरोना से बेहाल अमेरिकी अर्थव्यवस्था में जान फूंकने के लिए बड़ा कदम उठाया है। राष्ट्रपति जो बिडेन ने अमेरिका के आधारभूत ढांचे को सुधारने और चीन से मुकाबले के लिए बुधवार को दो ट्रिलियन डॉलर (दो लाख करोड़ डॉलर) के इंफ्रास्ट्रक्चर पैकेज का ऐलान किया। उन्होंने कहा कि इससे चार वर्षों में अच्छे वेतन वाली एक करोड़ अस्सी लाख नौकरियों पैदा होंगी। इस इंफ्रास्ट्रक्चर प्लान को वर्तमान सदी में का सबसे बड़ा निवेश प्रस्ताव बताया जा रहा है।

10 रिपब्लिकन नेताओं के अनुमोदन की जरूरत

यह आर्थिक पैकेज जल प्रणालियों, इलेक्ट्रिकल ग्रिड, हाईस्पीड इंटरनेट और क्वालिटी हाउसिंग में सुधार के लिए भी जारी किया गया है। गौरतलब है कि राष्ट्रपति चुनाव के दौरान डेमोक्रेट ने देश के बुनियादी ढांचे में सुधार के लिए एक बड़े पैकेज के जारी करने की बात कही थी। हालांकि बिडेन को इस पैकेज को मंजूरी दिलाने के लिए अमेरिकी संसद के समर्थन की दरकार होगी। इस पैकेज को अपनाने के लिए राष्ट्रपति को लगभग 10 रिपब्लिकन नेताओं के अनुमोदन की जरूरत होगी। वहीं सीनेट में रिपब्लिकन नेता मिच मैककॉनेल ने इस योजना को तुरंत खारिज कर दिया।

श्रमिकों को बनाएगा सशक्त
पेंसिलवेनिया के पिट्सबर्ग से इंफ्रा प्लान का ऐलान करते हुए बाइडन ने कहा कि यह सभी को ना केवल समान अवसर प्रदान करने का काम करेगा बल्कि श्रमिकों को सशक्त भी बनाएगा। यह योजना यह भी सुनिश्चित करेगी कि नई पैदा होने वाली नौकरियां अच्छे वेतन की हो, जिससे कामगार अपने परिवार का भरण-पोषण अच्छी तरह से कर सके। बाइडन ने संसद से अपील की वह प्रो एक्ट को पारित करके जल्द से जल्द उनके पास भेजे, जिससे इसे कानून की शक्ल दी जा सके।

कर बढ़ाने की घोषणा
बिडेन ने इस दौरान प्रतिवर्ष चार लाख अमेरिकी डॉलर से अधिक कमाने वालों पर कर बढ़ाने की घोषणा की। बिडेन ने पेन्सिलवेनिया के पिट्सबर्ग में कहा कि अमेरिका में पहली बार इतना बड़ा निवेश किया जा रहा है। इस योजना का मकसद लाखों अच्छे रोजगारों को पैदा करना है। चीन से मुकाबला करने के लिए यह योजना जरूरी है। बिडेन ने जोर देकर कहा कि हमको यह करना ही होगा। इस पैकेज में लगभग 32 हजार किलोमीटर सड़कों, 10 हजार पुलों के साथ साथ हवाईअड्डों और इलेक्ट्रिक मोबिलिटी का आधुनिकीकरण किया जाएगा।

यह भी पढ़ें:

कोरोना वायरस से निपटने के लिए टीका विकसित कर रहा है अमेरिका

अमेरिका जानलेवा कोरोना वायरस से निपटने के लिए टीका विकसित करने का काम तेजी से कर रहा है। अमेरिका के एक स्वास्थ्य अधिकारी ने यह जानकारी दी है।

08/02/2020

ब्रिटेन में कोरोना से मरने वालों की संख्या इटली से ज्यादा, आंकड़ा पहुंचा 29427

यूरोपीय अन्य देशों की तरह वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से गंभीर रूप से जूझ रहे ब्रिटेन में इसके संक्रमण से मरने वालों की संख्या इटली से अधिक हो गई है। देश में कोरोना से मरने वालों की संख्या 29427 पहुंच गई है।

06/05/2020

बिल गेट्स-मेलिंडा ने शादी के 27 साल बाद तलाक की घोषणा की, साथ मिलकर करते रहेंगे परोपकार के काम

विश्व के सबसे अधिक अमीर एवं माइक्रोसॉफ्ट के सह-संस्थापक बिल गेट्स और उनकी पत्नी मेलिंडा ने अपने वैवाहिक जीवन के 27 साल गुजारने के बाद तलाक लेने की घोषणा की है। गेट्स दंपती दांपत्य सूत्र से अलग होने के बावजूद दुनिया के सबसे बड़े निजी चैरिटेबल फाउंडेशन बिल एंड मेलिंडा गेट्स फाउंडेशन के मिलकर काम करते रहेंगे।

04/05/2021

दुनियाभर में कोरोना वायरस के चलते 1.82 लाख की मौत, 26,22,637 लोग संक्रमित

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस कोविड-19 का प्रकोप तेजी से बढ़ता ही जा रहा है और अब तक विश्व के अधिकतर देशों में इस महामारी से एक लाख 82 हजार से अधिक लोगों की मौत हो गयी है तथा 26.22 लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके है।

23/04/2020

यूएई सरकार ने पहली बार हिंदू पिता और मुस्लिम मां की बच्ची को दिया बर्थ सर्टिफेट

यूएई सरकार ने अपने सख्त कानून को बदलते हुए वहां जन्मी 9 महीने की बच्ची को बर्थ सर्टिफेट दिया है। इस पूरे मामले की काफी चर्चा हो रही है।

29/04/2019

दुनिया में कोरोना से 3.64 लाख लोगों की मौत

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड 19) ने दुनिया में अब तक 3.64 लाख से अधिक लोगों की जानें ले ली है, जबकि इसके संक्रमितों की संख्या 60 लाख के करीब पहुंच गयी है।

30/05/2020

कोरोना के चलते लॉकडाउन से घटा धरती की ऊपरी परत का कंपन, कई शहरों में हवा हुई साफ

कोरोना वायरस को रोकने के उपायों के कारण पृथ्वी के ऊपरी परत में कंपन का स्तर भारी मात्रा में कम हुआ है। ये कंपन कार, बस, ट्रक, ट्रेन और फैक्ट्रियों के चलने से पैदा होते थे। लेकोक ने बताया कि केवल ब्रसेल्स में ही मार्च में धरती के कंपन में 30 फीसदी से 50 फीसदी तक की कमी दर्ज की गई है।

04/04/2020