Dainik Navajyoti Logo
Saturday 31st of July 2021
 
दुनिया

महाभियोग सुनवाई में डोनाल्ड ट्रम्प की बड़ी जीत, सीनेट ने खारिज किए सभी आरोप

Thursday, February 06, 2020 12:45 PM
डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

वाशिंगटन। अमेरिकी सीनेट ने राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को महाभियोग की सुनवाई के दौरान सभी आरोपों से मुक्त कर दिया है। सीनेट ने बुधवार को अपनी सुनवाई में ट्रम्प को कांग्रेस की कार्रवाई में बाधा पहुंचाने का दोषी नहीं पाया है। सीनेट ने इस ऐतिहासिक मतदान में अमेरिका के 45वें राष्ट्रपति ट्रम्प को पद से नहीं हटाने का निर्णय लिया है। रिपब्लिकन पार्टी के बहुमत वाली सीनेट ने ट्रम्प पर लगे सत्ता के दुरुपयोग के आरोप को 52-48 के अंतर से खारिज कर दिया जबकि उन पर कांग्रेस के कार्य में बाधा पहुंचाने के आरोप को उच्च सदन ने 53-47 से खारिज किया।

डेमोक्रेटिक पार्टी के सांसदों ने डोनाल्ड ट्रम्प पर आरोप लगाया था कि वह आगामी राष्ट्रपति चुनाव के मद्देनजर अपने प्रतिद्वंदी उम्मीदवार को बदनाम करने के लिए यूक्रेन पर दबाव बना रहे हैं। ट्रम्प पर यूक्रेन के साथ संबंधों में अपनी शक्तियों का दुरुपयोग करने के आरोप लगे थे। यदि ट्रम्प पर यह आरोप सिद्ध हो जाते तो उन्हें उपराष्ट्रपति माइक पेंस को अपना कार्यभार सौंपना पड़ता। ट्रम्प ने अपने ऊपर लगे इन आरोपों को हमेशा से नकारा है।

गौरतलब है कि डेमोक्रेटिक पार्टी के नेतृत्व वाले कांग्रेस के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव्स (प्रतिनिधि सभा) ने 18 दिसंबर को डोनाल्ड ट्रम्प के खिलाफ महाभियोग की कार्रवाई को मंजूरी प्रदान की थी। अमेरिकी सीनेट सदस्य पैट्रिक लीह ने ट्रम्प के दोष मुक्त होने को अमेरिकी लोकतंत्र के लिए काला दिन करार दिया है। रिपब्लिकन पार्टी के सभी सीनेट सदस्यों ने ट्रम्प को दोनों आरोपों से मुक्त कराने के लिए मतदान किया जबकि मिट रोमनी ने एक आरोप में ट्रम्प के खिलाफ मतदान किया।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

भारत के साथ रिश्तों में डैमेज कंट्रोल में जुटा अमेरिका, सातवें बेड़े की हरकत से तल्ख हुए संबंध

अमेरिका के थिंक टैंक का यह बयान ऐसे समय आया है, जब हाल में अमेरिका के सातवें बेड़े का जहाज भारत की इजाजत के बिना विशिष्ट आर्थिक जोन में प्रवेश कर गया था। भारत ने इस घटना को बहुत गंभीरता से लिया था। भारत ने अमेरिकी नौसेना से अपनी सख्त आपत्ति दर्ज की थी। भारत को इससे ज्यादा हैरानी अमेरिकी जवाब से हुआ था।

14/04/2021

दुनियाभर में कोरोना ने ली 8.25 लाख से ज्यादा लोगों की जान, संक्रमितों की संख्या 2.41 करोड़ के पार

विश्व में वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से संक्रमित होने वालों की संख्या लगातार बढ़ती जा रही है।

27/08/2020

हांगकांग पर ब्रिटिश PM की टिप्पणी की चीन ने की आलोचना, कहा- आंतरिक मामलों में दखल करे बंद

चीन ने हांगकांग पर ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की टिप्पणी की आलोचना करते हुए कहा कि वह उनके आंतरिक मामलों में दखल देना बंद करे। विदेश मंत्रालय के झाओ लिजियन ने ब्रिटेन के प्रधानमंत्री की बिलावजह टिप्पणी की तीखी आलोचना की।

04/06/2020

चीन में भीषण सड़क दुर्घटना में 36 की मौत

चीन में पश्चिमी प्रांत के जिआंगसु क्षेत्र में एक भीषण सड़क हादसे में 36 लोगों की मौत हो गई तथा 36 अन्य लोग घायल हो गए।

29/09/2019

पाकिस्तान के पूर्व राष्ट्रपति परवेज मुशर्रफ को देशद्रोह के मामले में फांसी की सजा

पाकिस्तान की विशेष कोर्ट ने परवेज मुशर्रफ को फांसी की सजा सुनाई है। उन्हें देशद्रोह के मामले में फांसी की सजा सुनाई गई है।

17/12/2019

अमेरिकी रिपोर्ट में दावा, भारत में कोरोना से करीब 50 लाख मौतें, यह बंटवारे के बाद की सबसे बड़ी त्रासदी

भारत में कोरोना संक्रमितों की कुल संख्या तीन करोड़ 12 लाख से ज्यादा है जबकि संक्रमण से अब तक 4 लाख 18 हजार से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। इस बीच अमेरिकी अध्ययन में दावा किया गया है कि भारत में कोरोना से 34 से 49 लाख लोगों की मौत हुई है, यह संख्या भारत सरकार के आंकड़ों से 10 गुना से भी ज्यादा है।

22/07/2021

ब्रिटेन ने कोरोना जोखिम वाले देशों की सूची में किया बदलाव, 30 जून से प्रभावी होगी परिवर्तित सूची

ब्रिटेन के परिवहन मंत्री ग्रांट शाप्स ने कोविड-19 मामले में जोखिम के आधार पर देशों की 'ग्रीन' और 'रेड' सूची में बदलाव करने की घोषणा की है। शाप्स ने कहा कि ब्रिटेन में यह परिवर्तित सूची 30 जून से प्रभावी होगी। इरिट्रिया, हैती, डोमिनिकन रिपब्लिक, मंगोलिया, ट्यूनीशिया और युगांडा को कोरोना के मामले में उच्च जोखिम वाले देशों की सूची में रखा गया है।

25/06/2021