Dainik Navajyoti Logo
Sunday 15th of December 2019
 
दुनिया

नवाज शरीफ को विदेश भेजने पर इमरान सरकार और न्यायपालिका में मतभेद

Friday, November 22, 2019 12:05 PM
इमरान खान (फाइल फोटो)

इस्लामाबाद। पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को स्वास्थ्य के आधार पर विदेश जाने की इजाजत देने के मामले को लेकर पाकिस्तान में सरकार और न्यायपालिका के बीच मतभेद उत्पन्न हो गया है। इस मामले पर टिप्पणी करते हुए पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश (सीजेपी) आसिफ सईद खोसा ने कहा कि प्रधानमंत्री इमरान खान स्वंय इस बाबत फैसला ले सकते हैं और न्यायापालिका के पास इस मामले में फैसला लेने का एकाधिकार नहीं है। उन्होंने खान को कोर्ट के खिलाफ उनकी हालिया टिप्पणियों को लेकर फटकार लगाते हुए उनसे बयान देते समय सावधानी बरतने और कटाक्ष नहीं करने को कहा है। इससे पहले खान ने पूर्व प्रधानमंत्री शरीफ को इलाज के लिए लंदन भेजने की इजाजत देने पर कहा था कि इसके लिए अलग कानून है और सीजेपी इस मामल में न्यायपूर्ण फैसला लें। 

इस्लामाबाद में सम्मेलन को संबोधित करते हुए पाकिस्तान के मुख्य न्यायाधीश ने कहा कि प्रधानमंत्री को न्यायपालिका में शक्तिशाली नहीं कहना चाहिए। उन्होंने कहा कि शक्तिशाली का जिक्र करते हुए हमें ताना मत दीजिए। कानून के अलावा न्यायपालिका के सामने कोई शक्तिशाली नहीं है।   सीजेपी ने कहा कि प्रधानमंत्री को इस तरह के बयान जारी करने से बचना चाहिए क्योंकि वह सरकार के मुखिया हैं। खोसा ने कहा, जिस विशेष मामले का जिक्र प्रधानमंत्री ने किया मैं उस पर कोई टिप्पणी नहीं करना चाहता। लेकिन उन्हें यह पता होना चाहिए कि वह खुद किसी को भी विदेश जाने की इजाजत दे सकते हैं। हाईकोर्ट में बहस सिर्फ तौर-तरीकों पर हुई।

न्यायमूर्ति खोसा ने कहा कि वे संसाधनों के बिना काम कर रहे हैं और जो न्यायपालिका की आलोचना करते हैं उन्हें इन बातों का ख्याल रखना चाहिए। इमरान खान सरकार की 700 करोड़ रुपए के बांड भरने की शर्त को दरकिनार करते हुए शरीफ को इलाज कराने के लिए विदेश जाने की अनुमति दे दी थी, जिसे लेकर सरकार और न्यायपालिका के बीच मतभेद सामने आ गए। न्यायमूर्ति खोसा की यह प्रतिक्रिया इमरान के हाल ही में दिए उस भाषण के बाद आई है जिसमें खान ने चीफ जस्टिस से यह कहा था कि न्याय प्रक्रिया में सुधार करने की ज़रूरत है ताकि धनी और गरीब लोगों में कोई अंतर न रह जाए।

यह भी पढ़ें:

इस देश ने पौधों को बचाने के लिए बनाया कानून, 10 पेड़ लगाने के बाद मिलेगी डिग्री

दुनिया में पेड़-पौधों की संख्या लगातार कम हो रही है। इसे लेकर फिलीपींस में कानून बनाया गया है, जिसे ग्रेजुएशन लिगेसी फॉर द एनवायरमेंट एक्ट नाम दिया गया है।

03/06/2019

डोरिया तूफान के कारण ट्रम्प ने रद्द किया पोलैंड दौरा

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने फ्लोरिडा में आने वाले डोरियन तूफान के कारण पोलैंड को अपना प्रस्तावित दौरा रद्द कर दिया है।

30/08/2019

डोनाल्ड ट्रंप ने चुनाव अभियान के लिए जुटाए तीन करोड़ डॉलर

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अगले साल राष्ट्रपति पद के लिए होने वाले चुनावों के मद्देनजर चुनाव प्रचार के लिए इस वर्ष के शुरुआती तीन महीनों में तीन करोड़ डॉलर से अधिक रकम जुटा ली है।

15/04/2019

आतंकी मसूद अजहर पर प्रतिबंध लगाने को पाकिस्तान तैयार, रखी ये शर्त

पाकिस्तान ने जैश-ए-मोहम्मद सरगना मसूद अजहर पर सशर्त प्रतिबंध लगाने की बात कही है।

29/04/2019

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तबीयत बिगड़ी, अस्पताल में भर्ती

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ की तबीयत खराब होने के कारण उन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। पाकिस्तान के प्रधानमंत्री रह चुके नवाज शरीफ का प्लेटलेट काउंट बहुत ही कम हो गया था।

22/10/2019

पाकिस्तान ने समझौता एक्सप्रेस के बाद अब थार एक्सप्रेस की रद्द

पाकिस्तान के रेल मंत्री शेख रशीद ने थार एक्सप्रेस को रद्द करने की घोषणा की है, जो कराची से जोधपुर के बीच चलती है।

09/08/2019

मोदी की '56 इंच' की कूटनीतिक जीत, मसूद अजहर ग्लोबल आतंकी घोषित

आतंकवाद के खिलाफ भारत को बड़ी कामयाबी मिली है। जैश-ए-मुहम्मद सरगना मसूद अजहर को यूएन में ग्लोबल आतंकी घोषित कर दियाा गया है।

01/05/2019