Dainik Navajyoti Logo
Saturday 30th of May 2020
 
दुनिया

कोरोना वायरस से प्रभावित क्षेत्रों के लिए पर्यटकों के वीजा रद्द करेगा वियतनाम

Friday, January 31, 2020 12:05 PM
कॉन्सेप्ट फोटो

मॉस्को। वियनतनाम की सार्वजनिक सुरक्षा एजेंसी ने आव्रजन अधिकारियों से कोरोना वायरस से प्रभावित क्षेत्रों के लिए पर्यटकों के वीजा रद्द करने के लिए कहा है। सरकार ने इसकी सूचना दी। मंत्रालय ने पुलिस को हवाई अड्डे और समुद्री बंदरगाहों पर नियंत्रण के लिए अन्य एजेंसियों के साथ समन्वय करने का निर्देश दिया है। नागरिक उड्डयन प्रशासन ने वियतनाम के एयरलाइन्स को वायरस से प्रभावित क्षेत्रों के लिए सभी उड़ानों को निलंबित करने और वहां से आने वाली उड़ानों की जांच और लाइसेंस आवश्यकताओं को सख्त करने का आदेश दिया है। गौरलतब है कि चीन के बाद वियतनाम में भी कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं। कोरोना वायरस का पहला मामला चीन में सामने आया था जो अब 18 देशों तक फैल गया है। चीन में अबतक कोरोना वायरस के 7700 मामलों की पुष्टि हुई है और इससे वहां 170 लोगों की मौत हो चुकी है।

मोरक्को की आरएएम एयरलाइंस ने चीन के लिए उड़ानें रद्द
मोरक्को की रॉयल एयर मेरॉक (आरएएम) एयरलाइंस ने शुक्रवार से चीन के लिए उड़ानें रद्द करने का फैसला किया है। स्थानीय न्यूज एजेंसी ने आरएएम के हवाले से इसकी जानकारी दी। आरएएम के विज्ञप्ति के मुताबिक उड़ानें रद्द होने का कारण हालांकि कोरोना वायरस का फैलना नहीं बताया गया है लेकिन इसके कारण मांग कम होने की वजह से उड़ानें रद्द करने का फैसला लिया गया है। इससे पहले अमेरिकन एयरलाइंस, यूनाइटेड एयरलाइंस, ब्रिटिश एयरलाइंस, लुफ्थांसा एयरलाइंस, एयर इंडिया, एयर कनाडा सहित अन्य हवाई कंपनियों ने भी चीन के लिए उड़ानें रद्द करने का फैसला किया था।  उल्लेखनीय है कि चीन सहित 18 देशों में कोरोना वायरस के करीब आठ हजार मामले सामने आए हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने गुरुवार को इसके कारण वैश्विक स्वास्थ्य आपातकाल की घोषणा की थी।

फ्रांस में कोरोना वायरस का छठा मामला आया सामने
फ्रांस में कोरोना वायरस का छठा मामला सामने आया है। स्थानीय समाचारपत्र ली फिगारो ने स्वास्थ्य मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी जेरोम सलोमन के हवाले से बताया कि कोरोना वायरस से संक्रमित एक चीनी मरीज का इलाज करने वाले डॉक्टर इस बीमारी के चपेट में आ गये। इसके बाद उन्हें अस्पताल में भर्ती कराना पड़ा। फ्रांस में इससे पहले कोरोना वायरस के पांच मामले सामने आये थे जिनमें पेरिस से चार और दक्षिण पश्चिम शहर बोर्डिओक्स से एक मामला सामना आया था। डॉक्टर के अलावा सभी संक्रमित मरीज चीन से आये थे। उल्लेखनीय है कि कोरोना वायरस का पहला मामला पिछले साल दिसंबर में चीन के वुहान शहर में पाया गया था। इसके बाद ये 18 देशों में फैल गया। इस महामारी से चीन में मरने वालों की संख्या बढ़कर 169 हो चुकी है, जबकि 8000 से ज्यादा लोग इस बीमारी से संक्रमित पाये गये हैं। फ्रांस के अलावा कोरोना वायरस का मामला दो अन्य यूरोपीय देश जर्मनी और फिनलैंड में भी सामने आया है। बता दें कि कोरोना वायरस को लेकर देशभर में एयरपोर्ट पर अलर्ट जारी किया गया है। भारत में भी चीन से आने वाले यात्रियों की जांच की जा रही है।


 

यह भी पढ़ें:

लंदन में पाकिस्तानी लोगों ने भारतीय उच्चायोग के तोड़ शीशे

लदंन में पाकिस्तानी मूल के लोगों ने भारतीय उच्चायोग के बाहर प्रदर्शन किया। प्रदर्शनकारियों ने भारतीय उच्चायोग पर पत्थरबाजी की।

04/09/2019

चीन के शिनजियांग प्रांत में मुसलमानों के रोजा रखने पर प्रतिबंध

चीन के शिनजियांग प्रांत में मुसलमानों के खिलाफ कड़े प्रतिबंध लगाए जा रहे हैं। रमजान में सरकारी अधिकारियों, छात्रों और बच्‍चों के रोजे रखने पर प्रतिबंध लगा दिया गया है।

08/05/2019

विश्व की 100 शक्तिशाली महिलाओं की सूची में शामिल सीतारमण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण फोब्र्स को विश्व की 100 शक्तिशाली महिलाओं की सूची में शामिल किया गया है। उन्हें 34 वां स्थान मिला है।

13/12/2019

लंदन जाने वाली फ्लाइट देखकर ही वह स्वस्थ हो गए नवाज : इमरान

पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने नवाज शरीफ पर तंज कसते हुए कहा कि लंदन जाने वाली फ्लाइट देखकर ही वह स्वस्थ हो गए।

23/11/2019

आजादी मार्च से घबराई इमरान सरकार, सिर दर्द बने मौलाना के खिलाफ मुकदमा दर्ज

पाकिस्तान की इमरान सरकार के लिए सिर दर्द बन चुके मौलाना फजलुर रहमान के खिलाफ पुलिस ने मुकदमा दर्ज किया है। मौलाना पर प्रधानमंत्री, सरकारी संस्थानों के खिलाफ लोगों को भड़काने के लिए मामला दर्ज किया गया।

05/11/2019

ट्रंप ने की नए अभियान की घोषणा

वैश्विक महामारी कोरोना वायरस (कोविड-19) से गंभीर रूप से जूझ रहे अमेरिका में इसका टीका विकसित करने का काम काफी तेज गति से चल रहा है।

16/05/2020

अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने की कवायद, इटली सरकार ने 55 अरब यूरो के पैकेज का प्रस्ताव किया पारित

इटली सरकार ने कोरोना वायरस के मद्दनेजर बुरी तरह लड़खड़ाई अर्थव्यवस्था को वापस पटरी पर लाने के लिए 55 अरब यूरो (59.6 अरब डॉलर) के आर्थिक पैकेज का प्रस्ताव पारित किया है। प्रधानमंत्री ग्यूसेप कोंते के मंत्रिमंडल ने गुरुवार को यह प्रस्ताव पारित किया। उन्होंने प्रेस कॉन्फ्रेंस में में कहा कि यह वित्तीय पैकेज दो बजट घोषणाओं के बराबर है।

14/05/2020