Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 4th of August 2021
 
दुनिया

WHO की चीफ साइंटिस्ट का दावा, तेजी से फैल रहा कोरोना वायरस वेरियंट भारत में बढ़ा रहा महामारी

Monday, May 10, 2021 11:15 AM
सौम्या स्वामीनाथन (फाइल फोटो)

जेनेवा। विश्व स्वास्थ्य संगठन की चीफ साइंटिस्ट सौम्या स्वामीनाथन ने शनिवार को कहा है कि भारत में फैल रहा कोरोना वायरस का नया वेरियंट ज्यादा संक्रामक है और हो सकता है कि वैक्सीन से बच निकल रहा हो। उनका कहना है कि इस वजह से देश में महामारी ने इतना विस्फोटक रूप लिया है। डॉ. सौम्या ने चेतावनी दी है कि भारत में जो आज दिख रहा है उससे पता चलता है कि ये वेरियंट तेजी से फैल रहा है।

अभी चिंताजनक नहीं है वेरियंट
भारत में फैल रहा वेरियंट बी.1.617 पिछले अक्टूबर में पहली बार डिटेक्ट किया गया था। डॉ. सौम्या के मुताबिक महामारी के फैलने का कारण यही वेरियंट है। उन्होंने कहा कि इसे तेज करने में बहुत से फैक्टर रहे, जिसमें तेजी से फैलने वाला वायरस एक था। बी.1.617 को हाल ही में डब्ल्यूएचओ ने वेरियंट ऑफ इंटरेस्ट करार दिया है। यह चिंताजनक वेरियंट है क्योंकि इसमें म्यूटेशन से ट्रांसमिशन तेज हुआ है और शायद वैक्सीन से पैदा हुई ऐंटीबॉडी को बेअसर भी कर सकता है।

वैक्सीन से सुरक्षा मिलने में वक्त
स्वामीनाथन के मुताबिक 1.3 अरब से ज्यादा आबादी वाले देश में सिर्फ दो प्रतिशत लोग पूरी तरह से वैक्सेनिटेड हैं। ऐसे में सिर्फ वैक्सीन की मदद से देश को सुरक्षित नहीं किया जा सकता। आने वाले समय में स्वास्थ्य व्यवस्था को बेहतर करना होगा और ट्रांसमिशन रोकने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग पर ध्यान देना होगा। स्वामिनाथन के मुताबिक जितना ज्यादा वायरल रेप्लिकेट होगा और ट्रांसमिशन होगा, म्यूटेशन भी होंगे। वेरियंट कई सारे म्यूटेशन से गुजरकर वैक्सीन के खिलाफ प्रतिरोधक क्षमता हासिल कर सकता है।

निश्चिंत होने लगा था देश
हालांकि, उन्होंने इस बात पर जोर दिया कि सिर्फ वेरियंट को मामले बढ़ने के लिए दोषी नहीं ठहराया जा सकता है। उन्होंने कहा कि देश निश्चिंत होने लगा था और सोशल डिस्टेंसिंग बंद हो गई थी। उन्होंने कहा,  भारत जैसे विशाल देश में छोटे स्तर पर ट्रांसमिशन हो सकता है, यही कई महीनों से होता रहा। शुरुआती संकेतों पर ध्यान नहीं दिया गया जब यह तेजी से फैल रहा था।  अब इसे दबाना मुश्किल है क्योंकि इसमें कई हजार लोग शामिल हैं।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

पाकिस्तान: सिंध के घोटकी जिले में ट्रेन दुर्घटना में मृतकों की संख्या हुई 62, 100 से ज्यादा लोग हुए घायल

पाकिस्तान के दक्षिणी प्रांत सिंध में दो ट्रेनों के बीच हुई टक्कर में मरने वालों की संख्या बढ़कर 62 हो गई है और 100 से अधिक घायल हैं। जिनका पानो अकील, घोटकी और मीरपुर माथेलो के विभिन्न अस्पतालों में इलाज चल रहा है, जिनमें से 15 लोगों की हालत नाजुक बताई जा रही है।

08/06/2021

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने रूस के स्वीकार किए पांच प्रस्ताव

संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद ने हथियार नियंत्रण, निरस्त्रीकरण तथा अंतरराष्ट्रीय सुरक्षा को लेकर पहली समिति में पेश किये गये पांच प्रस्तावों को स्वीकार कर लिया है।

13/12/2019

पाकिस्तान में कोरोना पीड़ितों की संख्या हुई 94, सिंध प्रांत के सबसे ज्यादा मामले

पाकिस्तान के दक्षिणी सिंध प्रांत में कोरोना वायरस के 42 नए मामले सामने आने के साथ ही सोमवार तक इस वायरस से संक्रमितों की संख्या 94 हो गई।

16/03/2020

ईरान पर हमले के लिए अपने क्षेत्र के इस्तेमाल की अमेरिका को अनुमति नहीं : इराक

इराक ने कहा है कि वह अमेरिका को ईरान के खिलाफ हमले के लिए अपनी जमीन इस्तेमाल करने की अनुमति नहीं देगा।

26/06/2019

पुरुष अभिभावक की अनुमति के बिना दुनिया की सैर

सऊदी अरब की महिलाएं अब पुरुष अभिभावक की अनुमति के बिना दुनिया की सैर कर सकती हैं और उन्हें अपने नाबालिग बच्चों का अभिभावक बनने का अधिकार भी मिल गया है।

02/08/2019

राहत की खबर: रूस से स्पूतनिक-वी टीके की पहली खेप पहुंची भारत, देश में भी होगा उत्पादन

कोरोना संकट के बीच देश के लिए राहत की खबर आ रही है। दरअसल रूस से एक विमान स्पुतनिक-वी टीके की पहली खेप लेकर हैदराबाद में लैंड कर चुका है। विदेश मंत्रालय के अनुसार पहली खेप में डेढ़ लाख खुराक भारत पहुंची है। वहीं इसके बाद मध्य मई या माह के अंत तक 30 लाख खुराक और आएंगी। जून में 50 लाख खुराक और आएंगी।

02/05/2021

कोरोना का कहर: इंडोनेशिया में बच्चों के लिए काल बना डेल्टा वैरिएंट, अब तक 800 की मौत

कोरोना वायरस का डेल्टा वैरिएंट इंडोनेशिया में बच्चों के लिए मौत बनकर आया है। पिछले कुछ सप्ताह में कोरोना महामारी से सैकड़ों बच्चों की मौत हो गई है। इनमें से कई बच्चे ऐसे हैं जिनकी उम्र 5 साल से भी कम है। इंडोनेशिया में बच्चों की मौत की दर दुनिया के अन्य हिस्सों की तुलना में कहीं ज्यादा है।

27/07/2021