Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 18th of February 2020
 
बिज़नेस

ओला, उबर और किश्तों से दूरी बनाने के कारण विपरीत प्रभाव पड़ा

Wednesday, September 11, 2019 12:15 PM
वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण।

चेन्नई। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा है कि युवाओं के ओला और उबर जैसी कंपनियों की सेवाओं के प्रति आकर्षित होने और वाहनों के किश्तों में भुगतान करने से दूरी बनाने के कारण भारतीय ऑटोमोबाइल उद्योग पर विपरीत प्रभाव पड़ा है लेकिन सरकार ऑटो क्षेत्र की मांग पर गंभीरता से विचार कर रही है। सीतारमण ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने के मद्देनजर मंगलवार को यहां संवाददाताओं से कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अगुवाई वाली केन्द्र सरकार सशक्त पहल और निर्णायक कदम उठा रही है और उनकी सरकार ऑटो क्षेत्र की स्थिति को लेकर गंभीर है। इस क्षेत्र की मांग पर गंभीरता से विचार जारी है और शीघ्र ही जबाव मिलने की संभावना है। 

जीएसटी परिषद लेगी फैसला
वित्त मंत्रालय ने ऑटो क्षेत्र की कुछ मांगों को स्वीकार कर चुका है। ऑटो क्षेत्र के लिए केन्द्र सरकार द्वारा उठाए गए कदमों का उल्लेख करते हुए उन्होंने कहा कि यह क्षेत्र कई वर्षों तक तेजी से आगे बढ़ा है। वाहनों विशेषकर यात्री वाहनों पर जीएसटी में कटौती करने की मांग के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि इस संबंध में जीएसटी परिषद निर्णय लेगी।

उपभोग में तेजी आएगी
वित्त मंत्री ने अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उठाए गए कदमों का हवाला देते हुए कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर क्षेत्र में व्यय बढ़ाए जाने से उपभोग में तेजी आएगी और दूसरी तिमाही में देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में बढ़ोतरी होगी। चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी वृद्धि दर के पांच प्रतिशत पर आ जाने के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने कहा कि पहले भी जीडीपी में पांच प्रतिशत तक की बढ़ोतरी हुई है।

विकास में तेजी लाने का प्रयास
कभी कभी जीडीपी की वृद्धि दर अधिक होती है तो कभी कभी यह कम रह जाती है। जीडीपी में गिरावट विकास का हिस्सा है और अगली तिमाही में इसमें तेजी लाने पर ध्यान केन्द्रित किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इंफ्रास्ट्रक्चर में व्यय के लिए कार्यबल गठित किया गया है और जब एक बार व्यय शुरू हो जाएगा तो उपभोग में तेजी आने लगेगी। सरकार ने पाचं वर्षों में इंफ्रा क्षेत्र में 100 लाख करोड़ रुपए व्यय का लक्ष्य रखा है।

संग्रह पर ध्यान देने की जरूरत
जीएसटी राजस्व संग्रह में कमी आने के बारे में उन्होंने कहा कि संग्रह पर अधिक ध्यान देने की जरूरत है और सरकार को कर आधार बढ़ाने की आवश्यकता है।  

यह भी पढ़ें:

#Budget2019: आरबीआई की निगरानी में होगी हाउसिंग फाइनेंस कंपनियां

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण संसद में आम बजट पेश कर रही हैं। बजट के दौरान उन्होंने एनपीएफ पर ऐलान किया।

05/07/2019

टाटा ग्लोबल करेगा धनसेरी के ब्रांडेड चाय कारोबार का अधिग्रहण

टाटा ग्लोबल बेवरेजेस लिमिटेड धनसेरी टी एंड इंडस्ट्रीज के ब्रांडेड चाय कारोबार का अधिग्रहण करेगा। इस बात की जानकारी देते हुए टाटा ग्लोबल ने कहा कि यह सौदा 101 करोड़ रुपये में पूरा हो सकता है।

25/04/2019

बीआरएपी क्रियान्विति में अग्रणी

अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बिजनस रिफोर्मस एक्सन प्लान के बिन्दुओं की क्रियान्विति सुनिश्चित करते हुए संबंधित विभागों को दस दिवस में यूजर डाटा उद्योग विभाग को उपलब्ध कराने को कहा है।

21/05/2019

सेंसेक्स में 788 अंक की गिरावट

कारोबारी सत्र के पहले दिन अमेरिका तथा ईरान के बीच तनाव बाजार पर भारी पड़ा, जिसकी वजह से शेयर बाजार बड़ी गिरावट के साथ बंद हुआ।

07/01/2020

बिकवाली के दबाव में गिरे शेयर बाजार, अगले सप्ताह भी दबाव की आशंका

वैश्विक स्तर से मिले कमजोर संकेतों के साथ ही रिजर्व बैंक द्वारा चालू वित्त वर्ष के विकास अनुमान को कम किए जाने के दबाव में बीते सप्ताह शेयर बाजार पर बिकवाली हावी रही। बीते सप्ताह पांच में से चार दिन बाजार में कारोबार हुआ और सभी दिन बिकवाली देखी गई।

06/10/2019

केन्द्र सरकार का बड़ा कदम, 10 बैंकों का विलय कर बनेंगे 4 बड़े बैंक

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने संवाददाता सम्मेलन में बताया कि ओरियंटल बैंक ऑफ कॉमर्स और यूनाइटेड बैंक का पंजाब नेशनल बैंक में विलय किया जायेगा।

30/08/2019

जेट एयरवेज के सभी काबिल कर्मचारियों को नौकरी मिल जाएगी: जयंत सिन्हा

जेट एयरवेज संकट के कारण इसके हजारों कर्मचारियों की नौकरियों पर मंडराते खतरे के मुद्दे पर केंद्रीय नागर विमानन राज्य मंत्री जयंत सिन्हा ने कहा है कि सरकार चाहती है कि कंपनी के तमाम सक्षम और काबिल कर्मचारियों को जितनी जल्दी हो सके नौकरी मिल जाए।

21/04/2019