Dainik Navajyoti Logo
Sunday 23rd of February 2020
 
बिज़नेस

महंगाई भत्ता बढ़ाने से उछला शेयर बाजार, सेंसेक्स 646 अंक और निफ्टी 187 अंक चढ़ा

Wednesday, October 09, 2019 16:00 PM
फाइल फोटो।

मुंबई। सरकारी कर्मचारियों तथा पेंशन भोगियों का महंगाई भत्ता बढ़ाने से उपभोग में तेजी आने की उम्मीद में बुधवार को घरेलू शेयर बाजारों में करीब पौने दो प्रतिशत की जबरदस्त तेजी रही। बीएसई का 30 शेयरों वाला संवेदी सूचकांक सेंसेक्स 645.97 अंक यानी 1.72 प्रतिशत की छलांग लगाकर 1 अक्टूबर के बाद के उच्चतम स्तर 38,177.95 अंक पर बंद हुआ। नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 186.90 अंक यानी 1.68 प्रतिशत चढ़कर 3 अक्टूबर के बाद के उच्चतम स्तर 11,313.30 अंक पर पहुंच गया।

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को सरकारी कर्मचारियों और पेंशन भोगियों का महंगाई भत्ता 5 फीसदी बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दी। बढ़ा हुआ महंगाई भत्ता 1 जुलाई से लागू होगा। सरकार के इस फैसले से आम लोगों के पास खर्च करने के लिए ज्यादा पैसा होगा, इससे उपभोग बढ़ने की उम्मीद है।

सरकार एक साल से सुस्त पड़ रही अर्थव्यवस्था को गति देने के लिए उपभोग बढ़ाने के प्रयास लगातार कर रही है। इसी क्रम में पिछले दिनों सरकारी बैंकों ने शिविर लगाकर आसान ऋण बांटने का भी प्रयास किया। सरकार के फैसले से बैंकिंग और वित्तीय क्षेत्रों में सबसे ज्यादा तेजी देखी गई। बीएसई में बैंकिंग समूह का सूचकांक साढ़े तीन प्रतिशत से ज्यादा चढ़ा। वित्त समूह में करीब तीन फीसदी, धातु में दो प्रतिशत से ज्यादा और रियलिटी तथा बुनियादी वस्तुओं में करीब दो फीसदी की तेजी देखी गई।

सेंसेक्स की कंपनियों में इंडसइंड बैंक के शेयर करीब साढ़े 5 फीसदी, एयरटेल के सवा पांच फीसदी और आईसीआईसीआई बैंक तथा भारतीय स्टेट बैंक के करीब 5 फीसदी चढ़े। हालांकि येस बैंक में सवा पांच प्रतिशत की गिरावट देखी गई।

मझौली और छोटी कंपनियों में लिवाली अपेक्षाकृत कम रही। बीएसई का मिडकैप 1.38 प्रतिशत चढ़कर 13,869.35 अंक पर और स्मॉलकैप 0.66 प्रतिशत की बढ़त में 12,796.47 अंक पर बंद हुआ। बीएसई में कुल 2,698 कंपनियों के शेयरों में कारोबार हुआ, जिनमें 1,281 कंपनियों के शेयर हरे और 1,237 के लाल निशान में बंद हुए, जबकि 180 कंपनियों के शेयर दिन भर के उतार-चढ़ाव के बाद अंतत: अपरिवर्तित रहे।

बुधवार को सेंसेक्स 96.07 अंक की बढ़त में 37,628.05 अंक पर खुला, लेकिन खुलते ही लाल निशान में चला गया। एशियाई बाजारों की गिरावट ने इस पर दबाव बनाया। पहले घंटे के कारोबार में ही यह 37,415.83 अंक तक उतर गया, हालांकि दोपहर तक यह हरे निशान में आने में कामयाब रहा।

सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता बढ़ाए जाने की खबर जैसे की बाजार में फैली निवेशकों ने जमकर लिवाली शुरू कर दी। कारोबार की समाप्ति से पहले 38,209.84 अंक तक चढ़ने के बाद सेंसेक्स अंतत: गत दिवस की तुलना में 645.97 अंक ऊपर 38,177.95 अंक पर बंद हुआ। सेंसेक्स की 30 में से 22 कंपनियों के शेयर बढ़त में और शेष आठ गिरावट में रही। निफ्टी का ग्राफ भी कमोबेश सेंसेक्स जैसा ही रहा। यह 26.55 अंक की तेजी के साथ 11,152.95 अंक पर खुला। शुरुआती कारोबार में 11,090.15 अंक तक फिसलने के बाद इसमें भी लिवाली का जोर रहा। बीच कारोबार में 11,321.60 अंक तक चढ़ने के बाद अंतत: यह गत दिवस के मुकाबले 186.90 अंक चढ़कर 11,313.30 अंक पर पहुंच गया। निफ्टी में शामिल 50 में से 38 कंपनियों के शेयर हरे निशान में और अन्य 12 के लाल निशान में बंद हुए।

यह भी पढ़ें:

तेल की चिंता में शेयर बाजार धड़ाम, सेंसेक्स 642 अंक और निफ्टी 189 अंक टूटा

सऊदी अरब में दो तेल संयंत्रों पर हुये हमले के कारण उत्पादन घटने से कच्चे तेल की कीमतों में आगे तेजी आने की आशंका में घरेलू शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन तीव्र गिरावट दर्ज की गई। बीएसई का सेंसेक्स 642 अंक और एनएसई का निफ्टी 189 अंक गिरकर बंद हुआ।

17/09/2019

अर्टिगा पांच लाख बिक्री क्लब में शामिल

मारुति सुजूकी इंडिया लिमिटेड की अर्टिगा पांच लाख बिक्री वाले क्लब में शामिल हो गई है। कंपनी की तरफ से शुक्रवार को बताया गया कि आठ साल में अर्टिगा ने यह मुकाम हासिल किया।

21/12/2019

औद्योगिक रफ्तार धीमी पड़ी

अर्थव्यवस्था के मोर्चे पर मोदी सरकार को डबल झटका लगा है। मई में एक तरफ जहां औद्योगिक उत्पादन की रफ्तार नरम पड़ गई, वहीं जून में खुदरा महंगाई दर में उछाल आया है।

13/07/2019

डिजीटल इकोसिस्टम विश्व में बड़ी तेज गति से बदला : केंजी हिरामात्सु

राजस्थान में डिजीटल, आईटी और आईटीईएस इकोसिस्टम पर विचार करने के उद्देश्य से फैडरेशन ऑफ इंडियन चैम्बर्स ऑफ कॉमर्स एंड इंडस्ट्री, सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया तथा ओएसिस स्टार्टअप के सहयोग से बुधवार को डिजीटल राजस्थान कॉन्क्लेव का चौथा संस्करण आयोजित किया गया।

29/08/2019

आप सबके लिए है जरूरी, जानिए क्या सस्ता हुआ और क्या महंगा ?

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बजट पेश किया। बजट में गांव, गरीब, किसान और युवाओं को लेकर भी घोषणाएं की गई।

05/07/2019

एनबीएफसी के लिए एक विशेष तरलता विंडो खुले

वित्तीय क्षेत्र एवं पूंजी बाजार के प्रतिनिधियों ने वर्ष 2019-20 के बजट में बैंको की गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों (एनपीए) के लिए किए जाने वाले प्रावधानों की समीक्षा के लिए समिति बनाने, गैर-बैंकिंग फाइनेंस कंपनियों (एनबीएफसी) के लिए अलग से विशेष तरलता विंडो शुरू करने और लघु बचत योजनाओं पर मिलने वाले ब्याज की समीक्षा करने के सुझाव दिए हैं।

14/06/2019

ईपीसीएच निर्यात के गुर सिखाएगा

एक्सपोर्ट प्रमोशन कौंसिल फॉर हैण्डीक्रफ्ट्स (ईपीसीएच) के डायरेक्टर जनरल राकेश कुमार ने बताया की जयपुर शहर में निर्यात कारोबार की कैरियर के रूप में अपनाने की चाह रखने वाले युवओं के लिए अच्छी खबर है।

26/04/2019