Dainik Navajyoti Logo
Saturday 16th of November 2019
 
गैजेट्स

जीएसटी रिफंड के लिए अब सिंगल विंडो, नहीं करना पड़ेगा लंबा इंतजार

Thursday, October 31, 2019 01:25 AM
कॉन्सेप्ट फोटो ।

जोधपुर। निर्यातकों को अब वस्तु एवं सेवा कर जीएसटी रिफंड पाने के लिए लंबा इंतजार नहीं करना पड़ेगा। सरकार कारोबार की प्रक्रिया आसान करने के लिए जल्द ही ऐसा सिस्टम बनाने जा रही है जिसमें सेंट्रल जीएसटी और स्टेट जीएसटी का रिफंड एक साथ एक ही अधिकारी जारी कर सकेगा। इसी महीने से सिंगल अथॉरिटी की ओर से जीएसटी रिफंड जारी करने की सुविधा शुरू हो जाएगी।


इसके तहत अगर कोई निर्यातक एसजीएसटी अधिकारी के पास रिफंड का दावा करता है, तो वह अधिकारी उसे मंजूरी देकर सीजीएसटी अधिकारी के पास भेज देगा जो अपने स्तर पर ही सीजीएसटी व एसजीएसटी का रिफंड जारी कर देगा। महीने के अंत में केंद्र और राज्य के अधिकारी उसे आपस में एडजस्ट कर लेंगे। इस तरह व्यापारी को रिफंड प्राप्त करने में विलंब नहीं होगा।


आगामी 20 नवंबर तक दिशा निर्देश जारी होंगे
सिंगल अथॉरिटी के जरिये रिफंड जारी करने की सुविधा के लिए वित मंत्रालय की ओर से जरूरी दिशा निर्देश तैयार किए जा चुके हैं । 20 नवंबर को गोवा में होने वाली जीएसटी काउंसिल की बैठक में भी इस सुविधा के संबंध में घोषणा की जा सकती है। जीएसटी काउंसिल के अधिकारी इस मुद्दे पर राज्यों के वित्त मंत्रियों के समक्ष विस्तृत प्रजेंटेशन दे सकते हैं ।


इसलिए यह सुविधा शुरू करनी पड़ी
यह सुविधा शुरू करने की जरूरत इसलिए पड़ी क्योंकि जीएसटी लागू होने के बाद से ही निर्यातकों को रिफंड मिलने में दिक्कत का सामना करना पड़ा है। यह दिक्कत छोटी और मझोले निर्यातक मैन्यूफैक्चरिंग कंपनियों को ज्यादा परेशान करती है क्योंकि रिफंड नहीं मिलने की सूरत में उनका कैश फ्लो रुक जाता है। इससे उन्हें आगे के आॅर्डर पूरे करने में भी दिक्कत आती है।


समय पर रिफंड मिलेगा तो व्यापार विस्तार में मददगार
सिंगल अथॉरिटी की ओर से रिटर्न जारी करने का प्रस्ताव एक अच्छी पहल है। एसोसियेशन लंबे समय से इसकी मांग कर रही थी। समय पर रिफंड मिलने से निर्यातकों को कारोबारी गतिविधियों को विस्तार देने में मदद मिलेगी। इससे मैन्यूफैक्चरिंग करने वाली कंपनियों को भी राहत मिलेगी।


क्या कहते हैं एसोसिएशन अध्यक्ष
सरकार का यह कदम सुस्त होती इकोनॉमी के लिए भी मददगार साबित होगा । उल्लेखनीय है कि 23 अगस्त को वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने एलान किया था कि एमएसएमई सेक्टर के सभी लंबित जीएसटी रिफंड 30 दिनों के भीतर जारी किए जाएंगे और आगे चलकर जो भी रिफंड होगा उसे दो माह के भीतर जारी कर दिया जाएगा। इसके बाद सेंट्रल बोर्ड ऑफ  इन डायरेक्ट टैक्स एंड कस्टम सीबीआइसी ने एक से 22 सितंबर तक रिफंड जारी करने के लिए अभियान शुरू किया है। इसके तहत निर्यातकों के लंबित जीएसटी रिफंड जारी किए जा रहे हैं। -डॉ.भरत दिनेश, अध्यक्ष जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट एसोसिएशन