Dainik Navajyoti Logo
Sunday 19th of September 2021
 
राजस्थान

सरकार का आदेश, 31 तक पेयजल स्त्रोत करें साफ

Sunday, March 15, 2020 23:05 PM
फाइल फोटो।

उदयपुर। ग्रीष्मकाल को देखते हुए स्थानीय निकाय निदेशालय(डीएलबी) ने सभी निकायों को आदेश जारी किए हैं कि वे शहरी क्षेत्र के अंतर्गत जलापूर्ति व्यवस्था में लीकेज दुरुस्ती, मेनहोल ढंकने तथा जलाशयों की सफाई के काम सर्वोच्च प्राथमिकता से 31 मार्च तक करवा लें।

पेयजल के क्लोरीनेशन एवं कीटाणुशोधन के लिए नियमित रूप से जल गुणवत्ता जांच सुनिश्चित की जाए। लेकिन वर्तमान में निगम बीते दो माह से पीछोला में सफाई का ठेका ही नहीं दे पाया है, पीछोला में गंदगी एवं जलीय खरपतवार का अंबार लगा है जबकि पीछोला से करीब डेढ़ लाख आबादी के लिए 22 एमएलडी पानी हर रोज सप्लाई किया जाता है। झील सुरक्षा एवं विकास समिति के सदस्यों ने आरोप लगाए हैं कि नगर निगम को इन झीलों से मानो कोई लेना देना नहीं है।

पीछोला से पानी सप्लाई किया जा रहा है लेकिन इसकी सफाई का ठेका तक नहीं किया जा रहा है। बहरहाल डीएलबी ने गाइडलाइन और टाइमलाइन जारी कर स्पष्ट कर दिया है कि यदि इन निर्देशों की पालना नहंी हुई तो संबंधित आयुक्त या अधिशाषी अधिकारी को जिम्मेदार माना जाएगा तथा सीसीए नियमों के तहत कार्रवाई होगी। डीएलबी के अनुसार निगम को हर रोज पेयजल के सैंपल लेकर जांच करवानी है।
 
कहां-कब करनी होगी जांच
20 हजार लोगों तक        1 माह में
50 हजार लोगों तक         दो सप्ताह में
01 लाख लोगों तक         4 दिनों में
01 लाख लोगों से अधिक    1 दिन में     
 
आरोप : सब मनमर्जी का है खेल
झील सुरक्षा एवं विकास समिति के सदस्य तेजशंकर पालीवाल कहते हैं कि पीछोला में सफाई का टेंडर नहीं करना निगम की गंभीर लापरवाही है। हमने कई बार निगम को सूचित किया लेकिन  मनमर्जी चल रही है। पीछोला में जलीय खरपतवार, जूठन, गंदगी, मृतकों के कपड़े, सीवरेज का गंदा पानी आदि समाहित हो रहा है, लेकिन निगम बेपरवाह है। यहां से जो पेयजल सप्लाई किया जा रहा है उससे उपभोक्ताओं के स्वास्थ्य के साथ खिलवाड़ हो रहा है। इन जलाशयों के संबंध में जब भी जानकारी प्रकाश में लाई जाती है तो काम हो जाता है, लेकिन नगर निगम अपने स्तर पर कभी किसी कार्य की पहल नहीं करता।
 
कहां से कितनी पेयजलापूर्ति
पीछोला        22 एमएलडी
फतहसागर        14 एमएलडी
मानसी वाकल        27 एमएलडी
जयसमंद        21 एमएलडी
ट्यूबवैल        10 एमएलडी

बता दें, शहरी क्षेत्र में हर रोज 140 एमएलडी पेयजल की मांग है लेकिन कभी कम दबाव से तो कभी अन्य समस्या के चलते 140 के स्थान पर 94 एमएलडी पेयजल ही सप्लाई किया जाता है। निगम क्षेत्र की कई कॉलोनियों में नई पाइपलाइन डालने का भी कार्य नहीं हो पाया है।
 
ये निर्देश भी दिए
-वितरण पाइपलाइन से लिए गए अवैध कनेक्शनों को काटा जाए तथा इस पाइपलाइनों पर लगे बूस्टर पंप तुरंत प्रभाव से हटवाए जाएं।
- लीकेज दुरुस्त हों ताकि दूषित जल से बचा जा सके। दूषित जल की शिकायत पर तुरंत निरीक्षण करना होगा।
- जल नमूनों में रासायनिक एवं जीवाणुओं की उपस्थिति की जांच की जाए, पानी चाहे नलकूप का हो या झाील-तालाब का हो।
- हैंडपंप, ट्यूबवैल आदि से पानी तभी लिया जाए जब उसमें रासायनिक व जीवाणु जांच के परिणाम राष्टÑीय मानक के अनुरूप हों।
- ब्लीचिंग पाउडर, द्रवित क्लोरन की पर्याप्त मात्रा का स्टॉक रखें।
- अंतिम उपभोक्ता बिंदु पर जल के पर्याप्त क्लोरीनेशन 0.2 पीपीएम होना सुनिश्चित करें। अगर कहीं जलजनित बीमारी की सूचना है तो क्लोरीन की मात्रा 0.5 पीपीएम की जा सकती है। सभी जलापूर्ति व्यवस्था पर क्लोरीनेशन लॉगबुक संधारित की जाए जिसमें क्लोरीनेशन की मात्रा, दिन, समय एवं अंतिम उपभोक्ता बिंदु पर पानी में क्लोरीन की मात्रा अंकित जाए।
- ग्रीष्मकाल में आमजन से प्राप्त शिकायतों के निवारण के लिए शिकायतों को शिकायत पंजिका में दर्ज करना होगा व उनका समय पर त्वरित निस्तारण करना होगा।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

गर्मी में मनरेगा का समय सुबह 6 से दोपहर 1 बजे तक होगा: सचिन पायलट

6 साल तक के बच्चों की देखभाल के लिए एक महिला नरेगा श्रमिक को लगाने के निर्देश दिए हैं।

05/06/2019

जोगाराम ने किया कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण

अधिकारी-कर्मचारियों के समय पर कार्यालय नहीं आने की मिल रही शिकायतों के चलते जिला कलेक्टर डॉ. जोगाराम ने कलेक्ट्रेट परिसर के विभिन्न कार्यालयों का आकस्मिक निरीक्षण किया।

05/02/2020

भरतपुर के पूर्व राजपरिवार का कलह: पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह पर बेटे अनिरुद्ध का आरोप, वो मेरी मां के प्रति हिंसक हो गए

भरतपुर के पूर्व राज परिवार में उपजा राजनीतिक कलह अब जगजाहिर हो गई है। पूर्व राजपरिवार के सदस्य और पूर्व मंत्री विश्वेन्द्र सिंह के बेटे अनिरुद्ध सिंह ने उनके खिलाफ बगावत कर दी है। खुद अनिरुद्ध ने सोमवार को सुबह करीब 11:30 बजे एक ट्वीट के जरिए इसकी पुष्टि की है। हालांकि इस ट्वीट को 4 घंटे बाद हटा लिया गया। इसमें अनिरुद्ध ने अपने पिता विश्वेंद्र सिंह पर मां के प्रति हिंसक होने और शराबी होने जैसे कई गंभीर आरोप लगाए हैं।

01/06/2021

मनरेगा की मजदूरी की दर 199 रुपए से बढ़ाकर 220 रुपए प्रतिदिन की: पायलट

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजना के तहत मजदूरी दर 199 रुपए प्रतिदिन से बढ़ाकर 220 रुपए प्रतिदिन की गई है तथा मेट एवं कारीगर के लिए भी मजदूरी दर को 213 रुपए से बढ़ाकर 235 रुपए प्रतिदिन किया जा रहा है।

21/04/2020

एआईसीसी को देंगे कांग्रेस कमेटी की रिपोर्ट

उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट का कहना है कि नागौर मामले में कांग्रेस की बनाई कमेटी की रिपोर्ट आ चुकी है और इसे प्रभारी महासचिव एवं एआईसीसी को देंगे।

27/02/2020

हाईकोर्ट ने सैकण्ड ग्रेड टीचर भर्ती प्रक्रिया पर लगी रोक हटाई

हाईकोर्ट ने सेकण्ड ग्रैड टीचर भर्ती से जुड़े मामले में भर्ती प्रक्रिया पर लगी रोक हटा दी है।

31/10/2019

विमानों का सफर होगा महंगा, एयरलाइन्स कंपनियों ने बढ़ाया किराया

क्रिसमस की छुट्टियों में हवाई सफर करने वालों की जेब ढीली होगी। एयर लाइन्स कंपनियों ने छुट्टियों को देखते हुए प्रमुख स्थानों के लिए संचालित होने वाली फ्लाइट्स के किरायों में बढ़ोतरी कर दी है।

11/12/2019