Dainik Navajyoti Logo
Thursday 4th of June 2020
 
राजस्थान

अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले का राजस्थान में किया स्वागत

Saturday, November 09, 2019 13:05 PM
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत व पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे (फाइल फोटो)

जयपुर। अयोध्या मामले पर सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद राजस्थान के लोगों में खुशी की लहर दौड़ गई है और सभी ने इसका स्वागत किया है। 

इस निर्णय के बाद लोगों ने एक दूसरे को बताकर खुशी का इजाहर किया व मिठाई बांटकर खुशी मनाई और न्यायालय के इस फैसले का सभी ने सम्मान एवं स्वागत किया। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने इस निर्णय का स्वागत करते हुए कहा कि लोगों को इसका सम्मान एवं स्वागत करना चाहिए।

गहलोत ने लोगों से ऐसे मौके पर शांति एवं सौहार्द बनाए रखने की अपील की। उन्होंने कहा कि वह न्यायालय के फैसले का सम्मान और स्वागत करते है, कांग्रेस की सोच रही है कि देश मिलजुलकर रहें, सौहार्द बना रहे, यह हमारी संस्कृति रही है।

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने इस फैसले को ऐतिहासिक निर्णय बताते हुए इसका स्वागत किया हैं। उन्होंने कहा कि यह फैसला भारत के सामाजिक ताने-बाने और सामुदायिक संबंधों को मजबूत करने में एक लंबा रास्ता तय करेगा।

राजस्थान विधानसभा में विपक्ष के नेता गुलाब चंद कटारिया ने भी इसका स्वागत करते हुए कहा कि उन्हें पूरा विश्वास है कि न्यायालय द्वारा दिया गया यह ऐतिहासिक फैसला अपने आप में एक मील का पत्थर साबित होगा और यह निर्णय भारत की एकता, अखंडता और महान संस्कृति को और बल प्रदान करेगा।

इसी तरह भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने भी सुप्रीम कोर्ट के इस फैसले का स्वागत किया है। विश्व विख्यात सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती की दरगाह के दीवान जैनुअल आबेदीन ने भी अयोध्या विवाद पर आये सुप्रीम कोर्ट के के फैसले का स्वागत करते हुए इसे देश हित में बताया है।

आबेदीन ने कहा कि यह हिन्दुस्तान के दुश्मनों पर तमाचा है जो लोग इस मुद्दे को बेवजह विवाद खड़ा कर रहे थे। उन्होंने कहा कि सभी समुदाय का कर्तव्य बनता है कि न्यायालय के फैसले को स्वीकार करते हुए शांति एवं सद्भाव एवं भाईचारा बनाये रखना चाहिए। इसी प्रकार देश-प्रदेश के सभी स्थानों पर लोगों ने इस फैसले का स्वागत किया है। 

यह भी पढ़ें:

गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई के गुर्गे कड़ी सुरक्षा में कोर्ट में पेश

कुख्यात गैंगस्टर लॉरेंस विश्नोई के गुर्गों को सोमवार को कड़ी सुरक्षा के बीच कोर्ट में पेश किया गया।

10/06/2019

हाईकोर्ट ने 6 पंचायत समितियों और 178 ग्राम पंचायतों के पुनगर्ठन को किया अवैध घोषित

राजस्थान हाईकोर्ट के सीजे इन्द्रजीत मोहंती व डॉ जस्टिस पुष्पेन्द्र सिंह भाटी की खंडपीठ ने राज्य सरकार की ओर से प्रदेशभर की पंचायतों व पंचायत समितियों के सरकार की ओर से 15 नवंबर 2019 को जारी अधिसूचना के तहत डी लिमिटेशन को चुनौती देने वाली 85 याचिकाओं को खारिज कर दिया ।

13/12/2019

ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार दिलाने के लिए बनेंगे पैरामीटर्स, राजीविका मिशन के तहत तैयारी शुरू

ग्रामीण महिलाओं को स्वरोजगार के लिए संचालित राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद (राजीविका) योजना को अब और अधिक सक्रिय बनाने के लिए उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने निर्देश दिए हैं। योजना के संचालन के लिए मासिक पैरामीटर्स भी तैयार किए जा रहे हैं, ताकि महिलाओं को स्वरोजगार हासिल करने की सही व्यवस्था हो सके।

01/05/2020

एक गांव-चार काम जैसी योजनाओं को मिलेगी ज्यादा मंजूरी, पायलट ने मांगी कार्ययोजना

कोरोना संक्रमण के कारण गांवों में रोजगार की समस्या से निपटने के लिए उपमुख्यमंत्री सचिन पायलट ने विभागीय अफ़सरों से योजनाओं को लागू करने के संबंध में कार्य योजना मांगी है। पायलट ने एक गांव-चार काम जैसी योजनाओं पर अधिक अमल करने के लिए कहा है।

23/04/2020

गंगा नदी के किनारे हरित पट्टी विकसित की जाएगी: गजेन्द्र शेखावत

केन्द्रीय जल शक्ति मंत्री गजेंन्द्रसिंह शेखावत ने कहा है कि आयुष और जल शक्ति मंत्रालय गंगा नदी के किनारे 5 किलोमीटर के दायरे में हरित पट्टी विकसित करेंगे, जिसमें जड़ी-बूटी और औषधीय पौधों की खेती की जाएगी।

24/10/2019

एसडीआरआई ने पकड़े 100 करोड़ के फर्जी बिल

राज्य आसूचना निदेशालय ने कर चोरी के मामले में एक बड़ी कार्रवाई करते हुए करीब 100 करोड़ रुपए के फर्जी बिलों का खुलासा किया है।

04/09/2019

मेवाड़ यूनिवर्सिटी में अध्ययरनत विदेशी छात्र की हृदय गति रूकने से मौत

मेवाड़ विश्वविद्यालय में अध्ययनरत एक विदेशी छात्र की मौत से एक बार हड़कंप मच गया, लेकिन बाद में ज्ञात हुआ कि हृदय गति रूकने से इसकी मौत हुई है।

06/03/2020