Dainik Navajyoti Logo
Saturday 16th of November 2019
 
राजस्थान

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की लोगों से शांति एवं सदभाव बनाये रखने की अपील

Saturday, November 09, 2019 12:30 PM
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

जयपुर। राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अयोध्या पर आ रहे उच्चत्तम न्यायालय के अह्म फैसले के मद्देनजर सभी लोगों से शांति एवं सछ्वाव बनाये रखने की अपील की है। गहलोत ने सोशल मीडिया के जरिए कहा कि मेरी सभी से अपील है कि शांति और सछ्वाव बनाए रखें। हमारे सामाजिक सौहार्द पर कोई असर न पड़े। सभी धर्मों, जाति एवं समुदायों में आपसी सछ्वाव एवं भाईचारे की हमारी महान परम्परा रही है। उन्होंने कहा कि अयोध्या पर न्यायालय का फैसला आ रहा है। प्रदेश में अमन-चैन और सछ्वाव बनाए रखने  के लिए हमारी सरकार संकल्पित है। जिला कलक्टर, एसपी को सामूहिक जिम्मेदारी दी  है कि वे बेहतर समन्वय के साथ काम करते हुए ऐसी किसी भी घटना के प्रति  सतर्क रहें जिससे माहौल बिगडऩे की आशंका हो। फैसले के मद्देनजर राजधानी जयपुर सहित कई शहरों में कानून एवं सुरक्षा व्यवस्था बनाये रखने के लिए ऐहतियातन निषेधाज्ञा लागू की गई है। राज्य सरकार ने करीब सवा लाख जवानों को सतर्क कर रखा है। कानून व्यवस्था को बनाए रखने के लिए पूरे इंतजाम किए गये हैं। सभी जिलों के प्रमुख जगहों पर लगे सीसीटीवी कैमरों को पुलिस मुख्यालय से जोड़ा गया है। स्कूल और कॉलेज भी बंद रखे गये हैं।

जैनुअल आबेदीन ने भाईचारा एवं सछ्वावना बनाये रखने का अनुरोध किया
अयोध्या मामले पर आज आए उच्चतम न्यायालय के अहम फैसले के मद्देनजर राजस्थान में कौमी एकता एवं सांप्रदायिक सौहाद्र्र की नगरी अजमेर में विश्व विख्यात सूफी संत ख्वाजा मोइनुद्दीन हसन चिश्ती दरगाह के दीवान जैनुअल आबेदीन ने पूरे देश में शांति, भाईचारा एवं सछ्वावना बनाए रखने का अनुरोध किया। आबेदीन ने देश एवं विश्व के मुस्लिम समुदाय से न्यायालय के फैसले का सम्मान करने का अनुरोध करते हुए शांति, सछ्वाव एवं भाईचारे के जरिए मुल्क की तरक्की में हिस्सेदारी बनाए रखने का आह्वान किया है। उन्होंने कहा कि न्यायालय का फैसला आज आ रहा है और कल हजरत पैगंबर साहब के पैदाइश का दिन है। पूरे मुल्क के साथ अजमेर शरीफ में भी बारहवफात का जश्न बहुत ही अकीदत और धार्मिक रस्मों के साथ मनाया जाएगा। ऐसे में सभी को  न्यायालय से आ रहे फैसले पर संयम से काम लेना होगा। उन्होंने धर्मगुरुओं से खुद पर नियंत्रण रखने का भी अनुरोध किया।

तीर्थराज पुष्कर स्थित श्री चित्रकूट धाम पुष्कर के अधिष्ठाता पाठकजी महाराज ने भी सभी लोगों से सौहाद्र्र कायम रखने का आग्रह करते हुए कहा कि उच्चतम न्यायालय देश की सर्वोच्च संवैधानिक संस्था है और उसका फैसला  सर्वमान्य है। ऐसे में सभी को फैसले का आदर करना चाहिए। अजमेर के पुलिस अधीक्षक कुंवर राष्ट्रदीप ने पूरे जिले में कानून व्यवस्था एवं सुरक्षा के लिए पुलिस बल को सतर्क रहने के निर्देश देते हुए लोगों से सोशल मीडिया पर किसी भी दुष्प्रचार से बचने और किसी भी तरह की विवादित पोस्ट न डालने का अनुरोध किया। अजमेर में इन दिनों अंतरराष्ट्रीय पुष्कर मेला चल रहा है और यहां पंचतीर्थ स्नान को लेकर एक लाख से ज्यादा श्रद्धालु एवं देश विदेश के पर्यटक मौजूद हैं। पुलिस पुष्कर में सुरक्षा को लेकर विशेष सतर्कता बरत रही है।