Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of November 2019
 
राजस्थान

एशिया-पेसिफिक क्षेत्र में हिंदुस्तान जिंक कंपनी को प्रथम स्थान

Wednesday, October 16, 2019 23:05 PM
प्लांट

उदयपुर। पर्यावरण सस्टेनेबिलिटी के प्रति कंपनी की प्रतिबद्धता से प्रमाणित होता है कि भारत की एकमात्र एवं विश्व की अग्रणी जस्ता-सीसा एवं चांदी उत्पादक कंपनी हिन्दुस्तान जिंक को धातु एवं खनन क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य के लिए विश्व प्रसिद्ध प्रतिष्ठित संस्था डॉउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स के 62 कंपनियों के मूल्यांकन में विश्व स्तर पर 5वां स्थान मिला है। वहीं 26 कंपनियों के मूल्यांकन में एशिया-पेसिफिक क्षेत्र में भी कंपनी को प्रथम स्थान मिला है।


हिन्दुस्तान जिंक के ओवरआॅल स्कोर में पिछले वर्ष की तुलना में 7 प्रतिशत सुधार हुआ है। कंपनी के सूचकांक के सभी तीन आयामों आर्थिक, सामाजिक एवं पर्यावरण  क्षेत्र में सुधार देखा गया है जहां कंपनी की तीन सस्टेनेबिलिटी पहलुओं भौतिकता, पर्यावरण रिर्पोटिंग एवं मानव पूंजी विकास में सबसे ऊपर है। 


हिन्दुस्तान जिंक के मुख्य कार्यकारी अधिकारी सुनील दुग्गल ने बताया कि हिन्दुस्तान जिंक की सस्टेनेबिलिटी के प्रति सदैव प्रतिबद्धता एवं प्रयासों की मान्यता तथा प्रगति के लिए चुने गए मार्ग के साथ हमारी यात्रा को मजबूत करता है। डॉउ जोन्स सस्टेनेबिलिटी इंडेक्स में इस नवीनतम रैंकिंग के साथ हमारे पास एक वैश्विक सस्टेनेबल कंपनी के रूप में मान्यता प्राप्त करने के लिए और अधिक जिम्मेदारी बढ़ी है। हिन्दुस्तान जिंक पानी और ऊर्जा संरक्षण पर अधिक ध्यान देती है।

कंपनी के सभी प्लांट जीरो-एफ्लुएंट डिस्चार्ज पर काम करते हैं जीरो वेस्ट को लैंडफिल करने के लिए प्रयास जारी हैं। हिन्दुस्तान जिंक ने हाल ही में एक ड्राई टेलिंग प्लांट की स्थापना की है जिसके परिणामस्वरूप प्रोसेस्ड वॉटर का 90 प्रतिशत रिसकुर्लेट होगा। कंपनी के पास एक स्टैण्ड-अलोन सेफ्टी एण्ड इनोवेशन सेल है जो अपने परिचालन में बढ़ी हुई स्वचालन और डिजिटलाइजेशन की दिशा में एक प्रयास है। हमें पिछले दो वर्षों से लगातार ग्रेट प्लेस टू वर्क के रूप में प्रमाणित किया जा चुका है।