Dainik Navajyoti Logo
Monday 14th of October 2019
राजस्थान

अब नारों की नहीं सरोकारों की राजनीति होगी: सतीश पूनिया

Tuesday, October 08, 2019 14:20 PM
पदभार ग्रहण कार्यक्रम में मौजूद भाजपा कार्यकर्ता व नेता और प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया

जयपुर। राजस्थान भाजपा के प्रदेश अध्यक्ष सतीश पूनिया ने विजयदशमी के दिन भाजपा कार्यालय में औपचारिक रूप से पदभार ग्रहण कर लिया है। पार्टी कार्यालय में आयोजित पदभार ग्रहण समारोह को संबोधित करते हुए पूनिया ने कहा कि मैंने एबीवीपी से यात्रा शुरू की थी। मैंने जीवन में कभी कल्पना नहीं की थी कि कभी मुझे यह जिम्मेदारी मिलेगी। पूनिया ने कार्यकर्ताओं से कहा कि यह जिम्मेदारी आपके कारण मिली है। ये पदभार नहीं कार्यभार है। उन्होंने कहा कि कार्यकर्ता का पद कभी भी नहीं छिनता है। इस दौरान प्रदेश की कांग्रेस सरकार पर निशाना साधते हुए पूनिया ने कहा कि 10 महीने के शासन में ही जनता सरकार से पीछा छुड़ाने के लिए कहने लगी है। 2023 के बाद राजस्थान कांग्रेस मुक्त होगा। उन्होंने कहा कि ये काम पहले भी हो सकता है। प्रदेश में दो सीटों पर होने वाले उपचुनाव में बदला लेने का अवसर है।

सतीश पूनिया ने कहा कि कांग्रेस दिल्ली में मां और बेटे में बंटी हुई है और राजस्थान में मुख्यमंत्री और उप मुख्यमंत्री में बंटी हुई है। मुख्यमंत्री अपने बेटे की बेरोजगारी दूर करने में लगे हैं। बसपा के लोगों को लेकर कांग्रेस और कमजोर हो गई है। उन्होंने कहा कि राजस्थान में सबसे ज्यादा दलित हत्याचार गहलोत सरकार में हुए है। केंद्र सरकार की योजनाओं को गहलोत सरकार प्रदेश में लागू नहीं कर रही हैं। उन्होंने कहा कि राजस्थान से इस लूट और झूठ की राजनीति को हटाना है और यह जिम्मेदारी मेरे अकेले की नहीं है पार्टी के सभी कार्यकर्ताओं की है।

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष ने कहा कि कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा कि मैं यह संकल्प लेता हूं कि कभी आपका सिर नहीं झुकने दूंगा, जरूरत पड़ने पर मैं हमेशा आगे रहूंगा, मेरा जीवन भी पार्टी के लिए बलिदान हो जाए तो कोई बड़ी बात नहीं है। पूनिया ने कहा कि अब राजनीति नारों की नहीं सरोकारों की होगी। भाजपा के कार्यकर्ता योजनाओं की मॉनिटरिंग करेंगे ताकि सरकार की योजनाओं का लाभ गरीब को मिल सके।