Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 9th of March 2021
 
जोधपुर

कोरोना के दौर में मेंटली स्ट्रोंग रहना जरूरी

Friday, October 09, 2020 00:50 AM
विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस पर विशेष

जोधपुर । हर साल विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस 10 अक्टूबर को मनाया जाता है। इस दिन को मनाने का मुख्य उद्देश्य लोगों में मानसिक रोगों और उनके खतरनाक प्रभावों के बारे में जागरूकता फैलाना हैं। विश्व मानसिक स्वास्थ्य दिवस इस साल महत्वपूर्ण होने वाला है, यह साल काफी कठिन है कोविड-19 के कारण लॉकडाउन और नुकसान होने की वजह से लोगों के मानसिक स्वास्थ्य पर काफी असर पड़ा हैं।


विश्व स्वास्थ्य संगठन और हमारे देश की मनोरोगों की सर्वोच्चम संस्था की रिपोर्ट के अनुसार विश्व में हर चौथा और हमारे देश में हर दसवां व्यक्ति किसी ना किसी तरह की मानसिक स्वास्थ्य से संबंधित छोटी या बड़ी समस्या से पीड़ित हैं। 1 मिलियन से अधिक लोग इस मानसिक विकार के साथ अपनी जिन्दगी चला रहे हैं और करीब हर 40 सैकेण्ड में एक व्यक्ति अवसाद से आत्महत्या कर रहा है ऐसे में यह आवश्यक हो जाता है कि लोग अपने मानसिक स्वास्थ्य पर विशेष ध्यान दे।


मेडिपल्स हॉस्पिटल जोधपुर के वरिष्ठ मनोचिकित्सक डॉ. चन्द्र शेखर गुप्ता ने बताया ज्यादातर मानसिक रोगोें के लक्षण सामान्य व्यवहार वाले इंसान की तरह ही होते हैं, जिसकी वजह से इनको पहचानना और वर्णित करना किसी भी व्यक्ति  के लिए मुश्किल हो सकता है, लेकिन लक्षणों की तीव्रता और समयावधि अधिक होने के कारण इंसान अपने रोजमर्रा के काम और पारिवारिक जिम्मेदारियों का ठीक से निर्वाह नहीं कर पाता हैं। कुछ मानसिक रोग खासकर एंजायटी के लक्षण शारीरिक रोगो ह्रदय, सांस और पाचन तंत्र जैसे होते हैं, जिनमें अधिकतर समय जांचे सामान्य आती हैं।


मनोरोगों के कारण
जेनेटिक हमारे शरीर और दिमाग की हर कोशिश की सही बनावट और कार्य करने के लिए जीन्स का सही होना अत्यंत जरूरी हैं। जेनेटिक स्ट्रक्चर में कोई भी खराबी होने पर वह अंग ठीक से काम नहीं करता और उससे संबंधित लक्षण दिखाई देने लगते हैं। हार्मोन्स का लेवल जिस तरह शरीर को चलाने के लिए कुछ हार्मोन्स जैसे थायरॉईड, इन्सुलिन इत्यादि का सही मात्रा में ब्लड में होना जरूरी है उसी तरह दिमाग के सुचारू रूप से कार्य करने के लिए भी कुछ हार्मोन्स डोपामिन, सेरोटोनिन इत्यादि की सही मात्रा मस्तिष्क में होना जरूरी है। यही हार्मोन्स हमारे सोच विचार और व्यवहार को नियंत्रित करते हैं।


मनोरोगों के लक्षण एवं उपचार
लक्षणों की पहचान सही नहीं होने से भी निदान और उपचार दोनों ही कठिन हो जाता है, इसलिए लक्षणों की पहचान भी अति आवश्यक होती है सामान्य बेवजह अत्यधिक घबराहठ, अनावश्यक रूप से बार-बार विचारों का आना और एक ही विचार का दिमाग में अटक जाना इत्यादि। समय पर और सही इलाज होने से मरीज सम्पूर्ण ठीक होकर परिवार और समाज की जिम्मेदारियां ठीक से उठा पाता हैं।


मेंटली स्ट्रॉग बनें
अपना काउंसलर खुद बने, किसी भी व्यक्ति को खुद को समझना अत्यन्त जरूरी है, तभी वह विपरित परिस्थितियां आने पर खुद का काउंसलर बन सकता है, इसके लिए हमें सप्ताह में कम से कम 40 मिनट अपने स्वयं के लिए निकाले, एकांत में बैठकर अपने और अपने व्यक्तित्व के बारे में सोचे और देखे कि जिन्दगी में क्या चल रहा है हम कितना समय कहा बर्बाद कर रहे है। जीवन के वास्तविक लक्ष्य निर्धारित करे और उनका समय-समय पर आकलन करते रहे।

यह भी पढ़ें:

शाबास ! सूर्यनगरी के ऑयल इंडिया सुपर-30 के सितारे ऑल इंडिया में चमके

सूर्यनगरी के ऑयल इंडिया सुपर -30 ने एक बार फिर से खुद के मिशन में कामयाबी हासिल की। सुपर- 30 की फ्री कोचिंग के किसान, मजदूर सरीखे कामगारों के बच्चों ने खुद का दबदबा साबित किया।

05/10/2020

पूर्व विधायक के पुत्र से कार लूटी

वरिष्ठ कांगे्रसी नेता एवं पूर्व विधायक नरपतराम बरवड़ के पुत्र किशोर बरवड़ को सोमवार की रात को कुछ बदमाशों ने पिस्टल दिखाकर कार लूट ली। पुलिस को सूचना मिलने पर नाकाबंदी करवाई गई। देर रात चार बदमाशों को गिरफ्तार किया गया। इनमें एक मंडोर थाने का हिस्ट्रीशीटर निकला।

03/03/2020

25 लाख रूपए से भरा एटीएम उखाड़ ले गए बदमाश

शहर में एक बार फिर एटीएम को उखाड़ा गया। इस बार ये एटीएम धवा गांव से उखाड़ा गया है। एटीएम में 25 लाख से ज्यादा की रकम थी। बदमाशों की पहचान के प्रयास जारी है। वारदात सीसीटीवी कैमरे में कैद हुई है।

13/12/2019

एसी कोच की तरह जनरल व स्लीपर कोच में भी लगाए जाएंगे बॉक्स

रेनों के स्लीपर व जनरल कोच में यात्रा करने वाले यात्रियों को अब अपने लगेज की चिंता करने की जरूरत नहीं होगी। रेलवे द्वारा अब जनरल व स्लीपर कोच में सीट के नीचे आधुनिक बॉक्स लगाएगी। सुरक्षा के लिए इसमें कोड यात्री ही लगाएंगे। बजट में तीन हजार ट्रेनों के कोचों की सुरक्षा पर फोकस किया गया है।

23/02/2020

अस्पताल में फ्री जांच की सुविधा, कमीशन के लालच में डॉक्टर भेज रहे मरीजों को निजी लैब में

मथुरादास माथुर अस्पताल में मरीजों को अपने कार्ड के साथ पर्ची पर लैब का नाम लिखकर जांच करवाने के लिए बाहर भेजा रहा है। यह सब कमीशन के लालच के लिए हो रहा है। जो जांच अस्पताल में निशुल्क उपलब्ध है उसके लिए निजी लेबों में मरीजों को भेजा जा रहा है।

11/05/2019

जेडीए की स्वीकृति: शहर से लेकर हाइवे तक की सड़कों की दशा सुधरेगी

जोधपुर विकास प्राधिकरण में सोमवार को जोधपुर विकास आयुक्त गौरव अग्रवाल की अध्यक्षता में पीडब्ल्यूसी की बैठक आयोजित हुई। जिसमें जेडीए सचिव , निदेशक अभियांत्रिकी, निदेशक वित्त, अधीक्षण अभियंता व अधिशाषी अभियंता मौजूद थे।

16/09/2019

शेखावत ने संत महात्माओं से लिया आशीर्वाद, मुस्लिमों को दी ईद मिलादुन्नबी की बधाई

केन्द्रीय जलशक्ति मंत्री एवं जोधपुर से सांसद गजेन्द्रसिंह शेखावत रविवार को एक दिवसीय प्रवास पर जोधपुर पहुंचे। इस दौरान उन्होंने जहां साधु-संतों के आश्रमों में पहुंचकर उनका आशीर्वाद प्राप्त किया और प्रकाशोत्सव कार्यक्रम में शामिल होने के लिए गुरूद्वारा पहुंचे और सिख समाज का आशीर्वाद लिया।

10/11/2019