Dainik Navajyoti Logo
Saturday 11th of July 2020
 
जोधपुर

सलाखें मोड़ कर निकला, सरगर्मी से तलाश, अपहरण के प्रकरण में लाया गया था पेशी पर कोर्ट परिसर की अस्थाई हवालात से कै दी भागा

Wednesday, October 16, 2019 02:20 AM
सर्च अभियान के तहत पुलिस की टीम कैदी को तलाशती एवं फरार कैदी

जोधपुर । जोधपुर केंद्रीय कारागाह से बुधवार को पेशी पर लाया गया एक कैदी कोर्ट परिसर में सलाखें मोड़ कर भाग निकला। इसकी जानकारी मिलते ही पुलिस व चालानी गार्ड में हड़कंप मच गया। देर रात तक उसका पता नहीं लगा। पुलिस ने नजदीक पब्लिक पार्क, रेलवे स्टेशन और बस स्टॉप आदि जगहों पर सर्च अभियान चलाया। मगर वह रात तक नहीं मिल पाया।  पुलिस ने बताया कि पीपाड़ रोड के रहने वाले जितेंद्र सिंह उर्फ जीतू पुत्र कल्याण सिंह राजपूत को वर्ष 2016 मार्च में अपहरण के एक मामले में गिरफ्तार कर जेल भेजा गया था। इसकी बुधवार को पेशी थी।


तब केंद्रीय कारागाह से 20 बंदियों को चालानी गार्ड लेकर कोर्ट आए थे। शाम सवा चार बजे से पहले जितेंद्र की पेशी होने पर उसे कोर्ट परिसर की अस्थाई हवालात में डाला गया था।  इसी बीच वह कोर्ट परिसर की बैरक के सलाखें काटने के साथ लोहे का दरवाजें काट कर निकल गया। वह पिछले रास्ते से निकल गया। इसके बाद गिनती करने पर वह बैरक में नहीं मिलने पर तत्काल पुलिस अधिकारियों को सूचना दी गई। इस पर शहर के आस पास रेलवे स्टेशन, बस स्टॉप एवं पब्लिक पार्क एरिया में उसकी तलाश करवाई गई। मगर उसका पता रात तक नहीं चल पाया।


बच्चे का अपहरण किया था
प्रथम दृष्टया बताया गया कि उसने वर्ष 2016 मार्च में एक बच्चे का चार लोगों के साथ अपहरण किया था। इसमें वह मुख्य आरोपी था। बच्चे के पिता बनाड़ के नांदड़ी निवासी सियाराम की तरफ से बनाड़ थाने में अपहरण की रिपोर्ट दी गई थी। 16 मार्च 16 को उसे जेल भेजा गया था। इसके बाद उसकी कोर्ट में पेशियां चल रही थी।


एडीजे कोर्ट संख्या 4 में थी पेशी
पुलिस सूत्रों के अनुसार जितेंद्र सिंह की पेशी आज एडीजे कोर्ट संख्या 4 में पेशी थी। पेशी के बाद उसे कोर्ट की बैरक में डाला गया था। इसके बाद सवा चार बजे उसकी फरारी का पता लगा।


डेढ़ करोड़ की मांगी थी फिरौती
वक्त घटना मार्च 16 में आरोपी जितेंद्र सिंह और उसके सहयोगियों ने बच्चे के अपहरण के लिए डेढ़ करोड़ की फिरौती मांगी थी। मगर पुलिस ने उससे पहले ही गिरफ्तार कर लिया।


योजनाबद्ध कार्य को दिया अंजाम
संदेह है कि इस पूरे घटनाक्रम को योजनाबद्ध तरीके से किया गया है। सबसे बड़ी बात है कि जितेंद्र के पास कटर कहां से आया था। या पहले से ही सलाखें काटी जा चुकी थी। उसके साथ वाले कैदियों ने कटर उपलब्ध करवाई इस बारे में पुलिस पता लगाने का प्रयास कर रही है।


कटर से काटी सलाखें
प्रथम दृष्टया बताया जाता है कि बैरक की सलाखें कटर से काटी गई है। इसके बाद लोहे का दरवाजा भी काटा गया।

यह भी पढ़ें:

रेलकर्मी के आश्रित किसी भी उम्र में करवा सकेंगे रेलवे अस्पताल में उपचार

रेलवे कर्मचारियों व सेवानिवृत्त रेल कर्मचारियों के आश्रितो के लिये राहत भरी खबर है अब रेलवे कर्मचारी के आश्रित किसी भी उम्र में रेलवे के किसी भी अस्पताल में उपचार करवा सकेंगे। रेलवे बोर्ड ने अपने पुराने नियमों में बदलाव करते हुये उम्र की बाध्यता को हटा दिया है।

13/03/2020

इंजीनियरिंग हॉस्टल का छात्र कोरोना पॉजिटिव, मचा हड़कंप

व्यास विश्वविद्यालय के इंजीनियरिंग कॉलेज हॉस्टल संख्या तीन में एक छात्र कोरोना वायरस पॉजिटिव आ गया । जिस पर हॉस्टल में मौजूद अन्य छात्रों के साथ ही स्टाफ में भी हड़कंप मच गया। इसके बाद आनन-फानन में अन्य छात्रों ने कोरोना वायरस टेस्टिंग करवाई। हॉस्टल में सेनेटाइजेशन भी करवाया गया ।

07/07/2020

प्रशासन की कमेटी ने पावटा सब्जी मंडी के 557 फुटकर व्यापारियों को लॉटरी से अस्थाई स्थान मुहैया करवाया

कृषि उपज मंडी प्रशासन ने रिटेलर विक्रेताओं के लिए पावटा मंडी में ही अस्थाई सीटिंग के लिए लॉटरी निकाल 7 गुणा 7 फिट का स्थान मुहैया करा दिया है। न्यायालय के आदेश पर ये फुटकर व्यापारी अस्थाई रूप से 31 दिसंबर 2020 तक बैठकर यहां व्यापार कर सकेंगे। शुक्रवार को कुल 557 फुटकर व्यवसायी को लॉटरी से स्थान मुहैया कराया गया है।

18/10/2019

योग सिर्फ व्यायाम भर नहीं विज्ञान पर आधारित शारीरिक क्रिया : कलक्टर राजपुरोहित

बाल अधिकारिता विभाग के तहत संचालित राजकीय बालिका गृह में बालिकाओं के सामाजिक पुनर्वास के संबंध में कौशल प्रशिक्षण प्रदान करने को लेकर डॉ.सर्वपल्ली राधाकृष्णन आयुर्वेद विश्वविद्यालय करवड़ एवं राजस्थान कौशल एवं आजीविका विकास निगम के संयुक्त तत्वाधान में योग एवं प्राकृतिक चिकित्सा प्रमाण पत्र प्रशिक्षण कार्यक्रम का शुभारम्भ ...

16/10/2019

ना तो कोबास-8800 मशीन आई, ना ही बढ़ा जांच का दायरा

राज्य में कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों की जांच के लिए अमेरिका से खरीदी गई कोबास-8800 मशीन रविवार को दस दिन बाद भी जोधपुर नहीं पहुंची। जिससे जोधपुर में सेंपलों की जांच का दायरा नहीं बढ़ पा रहा है।

04/05/2020

जिला प्रशासन हाई अलर्ट मोड पर

जिला प्रशासन ने सरकारी विभागों में कोरोना वायरस फैलने से रोकने के लिए न केवल जोधपुर फाइट कोरोना सेन का गठन किया है, बल्कि इसके लिए अफसरों की लंबी चौड़ी टीम बना कर जिम्मा दिया है। यह निर्णय कलक्टर की अध्यक्षता में मंगलवार सुबह हुई बैठक् में निर्णय लिया गया है।

17/03/2020

वर्षों पूर्व बना अपना घर ध्वस्त होने के डर से युवक ने कुएं में कूदकर की आत्महत्या

कस्बे में बीती रात एक युवक ने अपना घर ध्वस्त होने के डर से सदमे में आकर कुएं में कूदकर अपनी जान दे दी। परिजनों ने प्रशासन द्वारा मुआवजा देने व आबादी से बाहर बसे घरों का नियमन नहीं किए जाने तक शव लेने से इनकार कर दिया।

25/12/2019