Dainik Navajyoti Logo
Thursday 24th of October 2019
 
जयपुर

केन्द्र सरकार के धारा-370 और 35 ए हटाए जाने से सचिन पायलट को फायदा हुआ है: गडकरी

Tuesday, September 24, 2019 09:00 AM
केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने कहा कि पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू ने वोटों की राजनीति और तुष्टीकरण के लिए जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को लगाया था।

जयपुर। केन्द्रीय मंत्री नितिन गड़करी ने कहा कि पूर्व पीएम जवाहर लाल नेहरू ने वोटों की राजनीति और तुष्टीकरण के लिए जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को लगाया था। भाजपा ने वहां भय-भूख और आतंकवाद की मुक्ति के लिए इसे हटाने का काम किया है। गड़करी ने भाजपा के राष्ट्रीय एकता अभियान, नए भारत का एक संकल्प एक राष्ट्र-एक संविधान विषय पर बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित संगोष्ठी में मुख्य वक्ता के रूप में यह बात कही।

उन्होंने कहा कि डॉ. आम्बेडकर ने तब जम्मू-कश्मीर में धारा-370 को लगाने का विरोध किया था, लेकिन नेहरू नहीं माने। धारा 35 ए को तो संविधान सभा या संसद की बिना मंजूरी के लागू किया गया। इस धारा की वजह से ही वहां आतंकवाद फैला, हत्याएं हुई, हमारे जवान मरे, झंडे को जलाया गया और लोग गरीबी, भूखमरी, अशिक्षा के शिकार हुए। विकास से अब तक कश्मीर दूर रहा। श्याम प्रसाद मुखर्जी के संकल्प और प्रतिबद्धता को भाजपा ने बरकरार रखा। भाजपा ने हमेशा कहा कि एक देश में दो निशान, दो प्रधान और दो संविधान नहीं चलेंगे।

सतीश पूनिया ने कहा कि अध्यक्ष बनने के बाद सार्वजनिक मंच पर उनका यह पहला भाषण है। मुझे अध्यक्ष बनाकर भाजपा के नेतृत्व ने मेरा नहीं हर सामान्य कार्यकर्ता, किसान का सम्मान किया है। जम्मू-कश्मीर में तैनात जनरल विश्म्भर ने भी कश्मीर से जुड़ी अपनी बात रखी।

केन्द्र ने सचिन पायलट को तो फायदा कराया
कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष सचिन पायलट पर भी धारा 35 ए के जरिए गड़करी ने चुटकी ली। उन्होंने कहा कि 35 ए धारा में कश्मीरी लड़की को बाहरी राज्य के लड़के से शादी करने पर संपत्ति और नागरिकता का अधिकार नहीं था। केन्द्र सरकार के धारा-370 और 35 ए हटाए जाने से तो सचिन पायलट को फायदा ही हुआ है, क्योकि उनकी पत्नी वहां के पूर्व सीएम फारुख अब्दुल्ला की बेटी है। अब उमर अब्दुल्ला के साथ उनकी पत्नी भी वहां संपत्ति में हकदार हो गई है। इस पर ऑडिटोरियम में जमकर ठहाके भी लगे।