Dainik Navajyoti Logo
Thursday 24th of October 2019
 
जयपुर

ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी काम पुख्ता करने के लिए सीमांकन : पायलट

Tuesday, September 24, 2019 09:55 AM
सचिन पायलट (फाइल फोटो)

जयपुर। उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन के विषय में कहा है कि अधिकांश जगहों के प्रस्ताव आ चुके हैं। कुछ आपत्तियां और सुझाव भी मिले हैं, जिन पर विभाग के माध्यम से अगले दो तीन दिन में अध्ययन किया जाएगा। पायलट की अध्यक्षता में सोमवार को ग्राम पंचायतों के पुनर्गठन को लेकर मंत्री मंडलीय उपसमिति की सचिवालय में आयोजित पहली बैठक के बाद यह जानकारी दी गई। इस बैठक में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल, सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री मा. भंवरलाल मेघवाल, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी, शिक्षा मंत्री गोविन्द डोटासरा और एसीएस ग्रामीण विकास एवं पंचायतीराज विभाग राजेश्वर सिंह उपस्थित रहे। 

पायलट ने मीडिया से बातचीत में कहा कि पुनर्गठन की प्रक्रिया के जरिए तय मापदण्डों के आधार पर ग्राम पंचायत और पंचायत समितियों के नए नक्शे तैयार किए जा रहे हैं। इकाई गठन की इस प्रक्रिया का मुख्य उद्देश्य जनता को राहत पहुंचाना है। नए सीमांकन के बाद कम आबादी वाली ग्राम पंचायतों में अच्छी सरकारी सुविधाएं दी जा सकेंगी और ग्रामीण क्षेत्रों में सरकारी काम के पुख्ता बंदोबस्त हो सकेंगे। हमारा उद्देश्य है कि गांव ढाणियों में शिक्षा, चिकित्सा जैसी सेवाएं समय पर उपलब्ध हो सकें।  अभी प्राप्त प्रस्तावों पर अध्ययन किया जा रहा है और आगामी शुक्रवार को फिर से इस संबंध में बैठक होगी। बैठक में उपस्थित मंत्रियों से भी कुछ सकारात्मक सुझाव आए हैं, जिन पर विचार कर जनता के लिए अच्छे कदम उठाए जाएंगे।