Dainik Navajyoti Logo
Thursday 14th of November 2019
 
जयपुर

14 साल के इंतजार के बाद अब होंगे शिक्षक संघ रूटा के चुनाव

Saturday, November 09, 2019 10:40 AM
फाइल फोटो

जयपुर। राजस्थान विश्वविद्यालय के उन शिक्षकों के लिए खुशी की खबर है, जो पिछले 14 साल से आरयू शिक्षक संघ (रूटा) के चुनाव करवाए जाने की आस लगाए बैठे थे। आरयू ने कार्यक्रम जारी करते हुए 4 दिसम्बर को रूटा का चुनाव करवाए जाने की घोषणा कर दी है। इस चुनाव में एक अध्यक्ष, एक उपाध्यक्ष, एक महासचिव, दो संयुक्त सचिव और दस कार्यकारिणी सदस्यों के लिए होगा। एक साल पहले सुप्रीम कोर्ट ने रूटा के चुनाव पर रोक हटाते हुए चुनाव करवाने की अनुमति दी थी, लेकिन रोक हटने के कुछ दिन बाद ही राजस्थान विधानसभा चुनाव की आचार संहिता लग जाने के कारण चुनाव नहीं करवाए जा सके। इसके बाद लोकसभा चुनाव की आचार संहित के कारण चुनाव का कार्यक्रम जारी नहीं हो सका। अब 4 दिसम्बर को चुनाव करवाए जाने की घोषणा के साथ 14 साल से चला आ रहा लम्बा इंतजार समाप्त हो गया।

16 नवंबर से शुरू होगी प्रक्रिया
आरयू चुनाव कार्यक्रम के अनुसार 16 नवम्बर को मतदाता सूची का प्रकाशन होगा। इसके बाद 19 नवम्बर तक मतदाता सूची पर आपत्तियां दर्ज करवाई जा सकती है। 21 नवम्बर को अंतिम मतदाता सूची का प्रकाश होगा और 25 नवम्बर कॉमर्स कॉलेज में चुनाव लड़ने के लिए नामांकन भरा जाएगा। 26 नवम्बर को नामांकन पत्रों की जांच होगी, जिसके बाद इसी दिन दोपहर तीन बजे बाद योग्य प्रत्याशियों की सूची  प्रकाशित की जाएगी। 27 नवम्बर को दोपहर 12 बजे तक नामांकन वापस लिए जा सकते हैं। नामांकन वापसी के बाद प्रत्याशियों की अंतिम सूची का प्रकाशन किया जाएगा।

छात्रसंघ चुनाव के साथ लगा दी थी रोक
छात्रसंघ चुनाव में लिंगदोह समिति के उल्लंघन को देखते हुए 2005 में हाईकोर्ट की ओर से चुनावों पर रोक लगा दी गई थी। छात्रसंघ चुनाव के साथ ही आरयू के कर्मचारी और शिक्षक संघ के चुनावों पर भी रोक लगा दी थी, लेकिन 2010 में छात्रसंघ चुनाव से रोक हट गई। वहीं, तीन साल पहले कोर्ट ने कर्मचारियों के चुनाव पर लगी रोक को भी हटा लिया था, लेकिन रूटा के चुनाव पर रोक जारी रही। इस पर विश्वविद्यालय शिक्षकों ने सुप्रिम कोर्ट में याचिका दायर की, जहां से एक साल पहले कोर्ट ने रूटा चुनाव से रोक हटा दी और अब जाकर चुनावी कार्यक्रम जारी कर दिया है।