Dainik Navajyoti Logo
Thursday 24th of October 2019
भारत

पीओके भारत का है, एक दिन विधिवत रूप से हमारा हिस्सा : जयशंकर

Wednesday, September 18, 2019 09:35 AM
सुब्रह्मण्यम जयशंकर (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। भारत ने कहा कि पाकिस्तान के साथ बातचीत का केवल एक ही मुद्दा है, सीमापार आतंकवाद न कि अनुच्छेद 370 और 35ए। सरकार ने यह भी दोहराया कि एक दिन पाकिस्तान के कब्जे वाला कश्मीर विधिवत रूप से भारत का हिस्सा होगा। विदेश मंत्री सुब्रह्मण्यम जयशंकर ने मोदी सरकार के पहले 100 दिन में अपने मंत्रालय की उपलब्धियों की जानकारी देने के लिए आयोजित संवाददाता सम्मेलन में कहा कि पाकिस्तान के संदर्भ में मुद्दा अनुच्छेद 370 नहीं बल्कि पाकिस्तान के आतंकवादी हैं। हमें विश्व को यह महसूस कराना है। वह हमेशा लोगों से पूछते हैं कि क्या वे उन्हें दिखा सकते हैं कि दुनिया में अन्य कोई ऐसा देश है जो अपने पड़ोसी के खिलाफ आतंकवाद को अपनी विदेश नीति के रूप में प्रसारित करता हो। विभिन्न मंत्रियों द्वारा पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर को भारत में शामिल करने संबंधी बयानों के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर पर भारत का रुख हमेशा से बहुत साफ रहा है और आगे भी रहेगा। उन्होंने कहा कि हम अपेक्षा करते हैं कि एक दिन वह भाग विधिवत हमारे अधिकार में होगा।

पाक ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की भावना का पालन नहीं किया
कुलभूषण जाधव के बारे में पूछे जाने पर विदेश मंत्री ने कहा कि पाकिस्तान ने अंतरराष्ट्रीय न्यायालय की भावना का पालन नहीं किया है। इस विषय में हमारा मकसद जाधव तक पहुंचना और उनके कुशलक्षेम की जानकारी पाना था। उन तक पहुंच हासिल करना दरअसल अंतरराष्ट्रीय न्यायालय के निर्णय के माध्यम से एक निर्दोष व्यक्ति को रिहा कराके स्वदेश लाने की दिशा में एक कदम मात्र है। एक सवाल पर उन्होंने कहा कि इस समय हमारे लिए जाधव की कुशलक्षेम का पता लगाना अधिक जरूरी था। हम चाहते हैं कि उनके मामले में असैन्य अदालत में मुकदमा चलाया जाए, भले ही उसका कोई नतीजा हो।