Dainik Navajyoti Logo
Friday 5th of June 2020
 
भारत

बेरोजगारी के मुद्दे पर बयान देकर घिरे संतोष गंगवार, प्रियंका, मायावती ने बोला हमला

Sunday, September 15, 2019 18:25 PM
प्रियंका गांधी और मायावती (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्री संतोष गंगवार बेरोजगारी के मुद्दे पर अपने बयान पर घिर गए हैं। कांग्रेस, बहुजन समाज पार्टी, आम आदमी पार्टी समेत कई विपक्षी दलों ने केंद्रीय मंत्री द्वारा इसे उत्तर भारतीयों का अपमान बताया है। कांग्रेस की महासचिव प्रियंका गांधी ने गंगवार पर जोरदार हमला बोलते हुए कहा कि मंत्रीजी 5 साल से ज्यादा समय से आपकी सरकार है। नई नौकरियां पैदा नहीं हुईं, बल्कि जो नौकरियां थीं वो सरकार द्वारा लाई आर्थिक मंदी के चलते छिन रही है। नौजवान रास्ता देख रहे हैं कि सरकार कुछ अच्छा करे। आप उत्तर भारतीयों का अपमान करके बच निकलना चाहते हैं। ये नहीं चलेगा।

वहीं मायावती ने कहा कि देश में छाई आर्थिक मंदी आदि की गंभीर समस्या के संबंध में केंद्रीय मंत्रियों के अलग-अलग हास्यास्पद बयानों के बाद अब देश व खासकर उत्तर भारतीयों की बेरोजगारी दूर करने के बजाए यह कहना कि रोजगार की कमी नहीं बल्कि योग्यता की कमी है, अति-शर्मनाक है जिसके लिए देश से माफी मांगनी चाहिए। वहीं आप नेता संजय सिंह ने भी मोदी के मंत्री के बयान को उत्तर भारतीयों का अपमान बताते हुए कहा कि इस सरकार में ही योग्यता की कमी है। मंत्री बताएं कि चौपट अर्थव्यवस्था के लिए कौन जिम्मेदार है। संजय सिंह ने कहा कि संतोष गंगवार खुद ही उत्तर भारत से आते हैं, ऐसे में इस तरह के बयान का क्या मतलब है। 

बता दें कि बरेली से सांसद तथा केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार ने शनिवार को बरेली में प्रेंस कॉन्फ्रेंस में उत्तर भारत के लोगों की योग्यता पर ही सवाल खड़े कर दिया था। केंद्र सरकार के सौ दिन पूरे होने पर केंद्रीय मंत्री संतोष गंगवार सरकार की उपलब्धियां गिनाने के दौरान उन्होंने कहा कि देश में रोजगार और नौकरियों की कोई कमी नहीं है, बल्कि जो भी कंपनियां रोजगार देने आती हैं, उनका कहना होता है कि उन युवाओं में योग्यता नहीं है। मंदी की बात समझ में आ रही है, लेकिन रोजगार की कमी नहीं है।

यह भी पढ़ें:

विश्वविद्यालयों को वैश्विक संस्थानों में शामिल होने के प्रयास करने चाहिए: वैकेंया नायडू

उपराष्ट्रपति एम वैकेंया नायडू ने देश को ज्ञान एवं नवाचार का एक अग्रणी केन्द्र बनाने के लिए शिक्षण से लेकर अनुसंधान तक की समूची शिक्षा प्रणाली में व्यापक बदलाव लाने का आह्वान किया है।

11/11/2019

मां वैष्णो देवी के भक्तों के लिए वंदे भारत एक्सप्रेस शुरू, अमित शाह ने दिखाई हरी झंडी

गृहमंत्री अमित शाह ने दिल्ली से जम्मू कश्मीर स्थित माता वैष्णोंदेवी कटरा के बीच चलने वाली देश की दूसरी सेमीहाईस्पीड ट्रेन वन्दे भारत एक्सप्रेस का नई दिल्ली रेलवे स्टेशन पर हरी झंडी दिखाकर शुभारंभ किया।

03/10/2019

SC से अरनब गोस्वामी को फौरी राहत, अग्रिम जमानत अर्जी के लिए दिए 3 हफ्ते, गिरफ्तारी पर रोक

सुप्रीम कोर्ट ने रिपब्लिक टीवी के एडिटर-इन-चीफ अरनब गोस्वामी को फौरी राहत प्रदान करते हुए 3 सप्ताह तक उनकी गिरफ्तारी या किसी अन्य तरह की दंडात्मक कार्रवाई पर शुक्रवार को रोक लगा दी। न्यायमूर्ति डीवाई चंद्रचूड़ और न्यायमूर्ति एम आर शाह की खंडपीठ ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिए की गई सुनवाई के दौरान अरनब की याचिका पर सभी 6 राज्य सरकारों को नोटिस जारी किए।

24/04/2020

यूनेस्को ने मुंबई को घोषित किया फिल्मों का सृजनात्मक शहर

संयुक्त राष्ट्र शैक्षणिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) ने मुंबई को फिल्मों का सृजनात्मक शहर घोषित किया है। संस्कृति मंत्रालय ने ट्वीट कर यह जानकारी दी।

01/11/2019

प्रवासी मजदूरों की मौत के मामले में हस्तक्षेप से SC का इनकार, कहा- हम कैसे रोक सकते है?

सुप्रीम कोर्ट ने लॉकडाउन के मद्देनजर पैदल अपने पैतृक घर के लिए निकले प्रवासी मजदूरों की रेल और सड़क हादसे में हो रही मौत के मामले में हस्तक्षेप करने से शुक्रवार को इनकार कर दिया। कोर्ट ने कहा कि प्रवासी मजदूर रेल की पटरियों पर सो जाएं, तो कोई कैसे रोक सकता है।

15/05/2020

पुलवामा अटैक: राहुल गांधी का केंद्र पर निशाना, पूछा- किसको फायदा हुआ और जांच में क्या मिला

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में पिछले साल 14 फरवरी को केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल (सीआरपीएफ) के काफिले पर हुए आत्मघाती हमले में शहीद जवानों को श्रद्धांजलि देते हुए कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र पर निशाना साधा और पूछा कि इस हमले का सबसे अधिक लाभ किसे हुआ?

14/02/2020

सीएए को लेकर याचिकाओं की जल्द सुनवाई करने से सुप्रीम कोर्ट का इनकार

सुप्रीम कोर्ट ने नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) को चुनौती देने वाली याचिकाओं की सुनवाई जल्द करने की मांग ठुकरा दी। कोर्ट ने कहा कि सबरीमला मामले में महिला अधिकार बनाम धार्मिक परंपरा मामले की सुनवाई के बाद इसे सुना जाएगा।

05/03/2020