Dainik Navajyoti Logo
Thursday 19th of September 2019
भारत

प्लास्टिक का विकल्प खोजें IIT के छात्र: नरेन्द्र मोदी

Wednesday, September 11, 2019 14:35 PM
मथुरा में संबोधित करते प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी

मथुरा। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थानों (आईआईटी) के छात्रों से पशुओं के लिए हरे चारे की व्यवस्था और प्लास्टिक का सस्ता विकल्प देने की चुनौती स्वीकार करने की अपील की। मोदी ने स्टार्ट अप ग्रांड चैलेंज योजना की शुरुआत करते हुए कहा कि आईआईटी के छात्र इस चुनौती से जुड़े और समस्या का समाधान दें। उन्होंने कहा कि छात्र नए विचारों के साथ आगे आएं। सरकार उस पर गंभीरता से विचार करेगी और जरुरी निवेश करेगी, इससे रोजगार भी मिलेगा।

मोदी ने कहा कि प्लास्टिक की थैलियों का सस्ता और सुलभ विकल्प क्या हो सकता है। ऐसे अनेक विषयों का हल देने वाले स्टार्ट अप शुरू किए जा सकते हैं। देश के डेयरी सेक्टर को विस्तार देने के लिए हमें नई तकनीक की जरूरत है। ये नवाचार हमारे ग्रामीण समाज से भी आएं इसीलिए आज स्टार्टअप ग्रैंड चैलेंज की शुरुआत की जा रही है। प्रधानमंत्री ने कहा कि प्लास्टिक की समस्या समय के साथ गंभीर होती जा रही है। प्लास्टिक के खाने से पशुओं एवं जलीय जीवों के निगलने से उनका जिन्दा बचना मुश्किल हो रहा है। एक बार उपयोग किए जाने वाले प्लास्टिक से छुटकारा पाना ही होगा।

प्रधानमंत्री ने लोगों से अपने घर, दफ्तर और कार्यक्षेत्र को प्लास्टिक मुक्त करने का अनुरोध करते हुए कहा कि इसमें गैर सरकारी संगठनों, स्कूलों, कॉलेजों, महिला संगठनों और अन्य संगठनों को इस अभियान से जुड़ना चाहिए। इससे संतानों का भविष्य उज्जवल होगा।

मोदी ने कहा कि प्लास्टिक कचरा संग्रह किए जाने के बाद उसका रिसाइकिल किया जाएगा और जिसे रिसाइकिल नहीं किया जा सकेगा उसे सीमेंट कारखानों और सड़क निर्माण में उपयोग में लाया जाएगा। मोदी ने कहा कि सरकारी कार्यक्रमों में प्लास्टिक की बोतलों का उपयोग नहीं किया जाएगा और उसके स्थान पर मिट्टी या धातु के बर्तनों का उपयोग किया जाएगा। उन्होंने कहा कि डेयरी विस्तार और दूध उत्पादन बढ़ाने के लिए नवाचार की जरुरत है। पशुओं में दूध उत्पादन बढ़ाने के लए हरे चारे की जरुरत है।