Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
भारत

15 अगस्त को 7वीं बार लालकिले की प्राचीर पर तिरंगा फहराएंगे मोदी, ऐसा करने वाले पहले गैर कांग्रेसी पीएम

Monday, August 10, 2020 12:55 PM
नरेंद्र मोदी (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर 7वीं बार लाल किले के प्राचीर पर तिरंगा फहराएंगे और राष्ट्र को संबोधित करेंगे, जिसके साथ ही वह सबसे अधिक बार ऐसा करने वाले पहले गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री होंगे। मोदी ने पहली बार 2014 में लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराया था और पिछले वर्ष अपनी सरकार के दूसरे कार्यकाल में छठवीं बार तिरंगा फहराकर भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) सरकार के पहले प्रधानमंत्री अटलबिहारी वाजपेयी की बराबरी कर ली थी। वह इस बार वाजपेयी से एक कदम आगे बढ़कर 7वीं बार तिरंगा फहराएंगे।

भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) के मुखिया रहे अटल बिहारी वाजपेयी ने 19 मार्च 1998 से 22 मई 2004 के बीच 6 बार तिरंगा फहराया था। वाजपेयी हालांकि 1996 में पहली बार प्रधानमंत्री बने थे, लेकिन उनकी सरकार ज्यादा दिन नहीं चल पाई थी और उन्हें राष्ट्रीय ध्वज फहराने का अवसर नहीं मिल पाया था। देश में आपातकाल को लेकर आम जनता में आक्रोश की लहर ने 1977 के आम चुनाव में तत्कालीन कांग्रेस सरकार को सत्ता से बाहर कर दिया और केंद्र में जनता पार्टी की सरकार बनी। आजादी के बाद यह पहली गैर-कांग्रेसी सरकार थी। मोरारजी देसाई इस सरकार के मुखिया बने। उन्होंने दो बार 1977 और 1978 में लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया था।

इसके बाद 28 जुलाई 1979 को चौधरी चरण सिंह समाजवादी दलों और कांग्रेस (यू) के सहयोग से प्रधानमंत्री बने तथा उसी साल पहली एवं आखिरी बार तिरंगा फहराया। चरण सिंह के अलावा विश्वनाथ प्रताप सिंह, एच डी. देवेगौड़ा और इंद्र कुमार गुजराल भी ऐसे गैर-कांग्रेसी प्रधानमंत्री रहे, जिन्हें एक-एक बार तिरंगा फहराने का सौभाग्य हासिल हुआ। दलचस्प तथ्य यह भी है कि ऐसी दो शख्सियतें भी रही, जो प्रधानमंत्री तो बने, लेकिन उन्हें लालकिले पर राष्ट्रीय ध्वज फहराना नसीब नहीं हुआ। देश के प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के निधन के बाद 27 मई 1964 को गुलजारी लाल नंदा कुछ समय के लिए कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने। लाल बहादुर शास्त्री के निधन के बाद भी वह कुछ समय के लिए कार्यवाहक प्रधानमंत्री बने। इसी प्रकार चंद्रशेखर 10 नवंबर 1990 को प्रधानमंत्री बने लेकिन 6 महीने बाद ही कांग्रेस ने उनकी पार्टी की सरकार से अपना समर्थन वापस ले लिया और उन्हें 21 जून 1991 को पद से हटना पड़ा।

अतीत के झरोखों में देखा जाए तो यही नजर आता है कि स्वाधीन भारत के इतिहास में सबसे अधिक बार तिरंगा फहराने का रिकॉर्ड प्रथम प्रधानमंत्री जवाहर लाल नेहरू के नाम है। उन्होंने सर्वाधिक 17 बार लालकिले पर तिरंगा फहराया है। वह 15 अगस्त 1947 से 27 मई 1964 तक प्रधानमंत्री रहे। नेहरू के बाद उनकी पुत्री इंदिरा गांधी 24 जनवरी 1966 से 24 मार्च 1977 तथा 14 जनवरी 1980 से 31 अक्टूबर 1984 के दौरान प्रधानमंत्री रही। इन दो अवधि में इंदिरा गांधी ने 16 बार राष्ट्रीय ध्वज फहराया। तीसरे नंबर पर डॉ मनमोहन सिंह है, जिन्होंने 10 बार लालकिले पर तिरंगा फहराया। वह 22 मई 2004 से 26 मई 2014 तक प्रधानमंत्री रहे।

राजीव गांधी और तेलुगु क्षत्रप एवं देश में आर्थिक सुधारों के प्रणेता रहे पामुलपति वेंकटपति नरसिम्हा राव ने 5-5 बार लाल किले की प्राचीर पर तिरंगा फहराया और देश को संबोधित किया। राजीव गांधी 31 अक्टूबर 1984 से 1 दिसंबर 1989 तक प्रधानमंत्री रहे जबकि राव का कार्यकाल 21 जून 1991 से 10 मई 1996 तक रहा। देश में एक ईमानदार शासक की छवि के प्रतीक लालबहादुर शास्त्री 9 जून 1964 से 11 जनवरी 1966 तक प्रधानमंत्री रहे और 2 बार तिरंगा फहराया।

यह भी पढ़ें:

शाहीन बाग फायरिंग केस में क्राइम ब्रांच का खुलासा, आम आदमी पार्टी से जुड़ा है आरोपी

राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली के शाहीन बाग फायरिंग मामले में बड़ा खुलासा हुआ है। पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि शाहीन बाग में पिछले दिनों फायरिंग करने वाला शख्स कपिल गुर्जर आम आदमी पार्टी से जुड़ा है।

05/02/2020

स्टालिन ने की तमिलनाडु में लॉकडाउन की घोषणा

तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी से हो रही वृद्धि के कारण इसके प्रसार को रोकने के लिए 10 से 24 मई के तक कुछ छूटों के साथ पूर्ण लॉकडाउन लागू रहेगा।

08/05/2021

शराब की होम डिलीवरी पर आदेश जारी करने से SC का इनकार, कहा- राज्य सरकारें करें विचार

सुप्रीम कोर्ट ने शराब की होम डिलीवरी और शराब की बिक्री के दौरान दुकानों पर सोशल डिस्टेंसिंग के लिए राज्यों को निर्देश जारी करने संबंधी याचिका पर कोई आदेश जारी करने से इनकार कर दिया। हालांकि न्यायमूर्ति अशोक भूषण, न्यायमूर्ति संजय किशन कौल और न्यायमूर्ति अशोक भूषण की खंडपीठ ने शराब की होम डिलीवरी पर सरकार को विचार करने की सलाह दी।

08/05/2020

जम्मू-कश्मीर में पिछले 11 महीने में 211 आतंकवादी ढेर, 47 गिरफ्तार

जम्मू-कश्मीर में पिछले 11 महीनों में खासकर अनुच्छेद 370 हटने के बाद से 211 आतंकवादियों को मार गिराया गया और विभिन्न अभियानों के तहत 47 आतंकवादियों को गिरफ्तार किया गया है। रक्षा सूत्रों ने बताया कि वर्ष 2019 में कुल 152 आतंकवादी मारे गए थे, लेकिन सुरक्षा बलों ने इस वर्ष 1 जनवरी से 22 नवंबर के बीच 211 आतंकवादियों को मार गिराया।

04/12/2020

पश्चिम बंगाल के पुरुलिया में बोले योगी आदित्यनाथ, अब लंबे समय तक नहीं चल पाएगी टीएमसी की गुंडागर्दी

पश्चिम बंगाल का सियासी घमासान जीतने के लिए सभी राजनैतिक दलों ने पूरी ताकत झोंक दी है। मंगलवार को भाजपा के दिग्गज नेताओं ने जनसभाओं को संबोधित किया। सबसे पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने पुरुलिया में जनसभा को संबोधित किया। उन्होंने विपक्ष पर निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस, कम्यूनिस्टों और तृणमूल कांग्रेस ने बंगाल को खोखला बना दिया है।

16/03/2021

उमा भारती से गले मिलकर रोने लगीं साध्वी प्रज्ञा ठाकुर

मध्यप्रदेश की भोपाल संसदीय सीट से भारतीय जनता पार्टी प्रत्याशी प्रज्ञा सिंह ठाकुर ने केंद्रीय मंत्री उमा भारती से मुलाकात की।

29/04/2019

सुशांत सिंह राजपूत केस: सिद्धार्थ ने CBI के सामने कबूला, 8 जून को रिया का सुशांत से हुआ था झगड़ा

सुशांत सिंह की मौत के मामले में सीबीआई तेजी से जांच में जुटी है। बुधवार को सुशांत के फ्लैटमेट रहे सिद्धार्थ पिठानी, कुक नीरज सिंह और वॉचमैन से पूछताछ की।

27/08/2020