Dainik Navajyoti Logo
Monday 1st of June 2020
 
भारत

कोलकाता हिंसा के लिए भाजपा ने बाहर से बुलाए गुंडे : तृणमूल

Wednesday, May 15, 2019 16:05 PM
तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन ने संवाददाता सम्मेलन में कोलकाता में मंगलवार की हिंसा से सम्बंधित वीडियो भी दिखाकर दावा किया कि भाजपा ने राज्य के बाहर से गुंडों को बुलाकर इस हिंसा को अंजाम दिया।

नई दिल्ली। तृणमूल कांग्रेस ने भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष पर सांप्रदायिक ध्रुवीकरण का आरोप लगते हुए मंगलवार को कोलकाता में हुई हिंसा तथा बंगाल पुनर्जागरण के नायक ईश्वर चंद्र विद्यासागर की प्रतिमा तोडऩे के  लिए भारतीय जनता पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है और उनके रोड शो को आदर्श  चुनाव आचार संहिता का उल्लंघन करार दिया है। तृणमूल नेता डेरेक ओ ब्रायन ने संवाददाता सम्मेलन में  कोलकाता में मंगलवार की हिंसा से सम्बंधित वीडियो भी दिखाकर दावा किया कि भाजपा ने राज्य के बाहर से गुंडों को बुलाकर इस हिंसा को अंजाम दिया। उन्होंने कहा कि जब शाह का रोड शो विद्यासागर कालेज के पास पहुंचा तो छात्रों ने काले झंडे दिखाये जो उनका लोकतांत्रिक अधिकार है। 

इसके बाद भाजपा के गुंडों ने हिंसा शुरू कर दी और पथराव भी किया तथा बंगाल के नवजागरण के नायक विद्यासागर की प्रतिमा भी तोड़ दी। उन्होंने कहा कि यह बंगाल के इतिहास का सबसे दुखद दिन है जब ऐसे व्यक्ति की प्रतिमा क्षतिग्रस्त की गयी जो देश का बड़ा दार्शनिक, शिक्षाविद और राष्ट्रीय प्रतीक है। उन्होंने कहा कि भाजपा ने बंगला संस्कृति एवं मूल्य पर हमला किया है। श्री शाह और उनके लोगों को क्या मालूम कि विद्यासागर कौन है।  विद्यासागर को विकीपीडिया से नहीं जाना जा सकता। वह बंगाल के घर-घर में और वर्णमाला की किताबों में मौजूद है तथा हर बंगाली बचपन से उनको जानते हुए बड़ा हुआ है।

तृणमूल नेता ने कहा कि शाह और उनकी पार्टी रोज झूठ बोलती है। मंगलवार की ङ्क्षहसा के बारे में भी वह झूठ बोल रहे हैं। शाह ने तो रवीन्द्र नाथ टैगोर का जन्म स्थान वीरभूमि बता दिया। उनको तो यह भी नहीं पता कि कवि टैगोर कहाँ जन्मे थे। उन्होंने आरोप लगाया कि केन्द्रीय रिजर्व पुलिस बल के लोग भी भाजपा से मिले हैं और मतदान में उनकी मदद कर रहे हैं। उन्होंने अपने आरोप के सबूत में एक तस्वीर भी दिखाई जिसमे एक अद्र्धसैनिक बल भाजपा कार्यकर्ताओं और भाजपा प्रदेश अध्यक्ष के साथ है। उन्होंने कहा कि वह पहले तीन बार इस बात की शिकायत कर चुके हैं। संवाददता सम्मेल्लन में मौजूद तृणमूल नेता और राज्यसभा सदस्य मनीष गुप्ता ने आरोप लगाया कि शाह के रोड शो में पोस्टर और बड़े-बड़े कट आउट निकालने की अनुमति चुनाव आयोग ने क्यों दी और उस शो में धार्मिक नारे लगाये गये। यह तो आदर्श आचार चुनाव संहिता का सरासर उल्लंघन है। उन्होंने चुनाव आयोग के एक उप आयुक्त पर चुनाव में पुलिस के कार्य में हस्तक्षेप करने का भी आरोप लगाया।

 

यह भी पढ़ें:

सुप्रीम कोर्ट ने सबरीमाला विवाद पर आदेश देने से किया इंकार

उच्चतम न्यायालय ने केरल के सबरीमला मंदिर में जाने से रोक दी गई महिला रेहाना फातिमा और बिंदु अम्मिनी की याचिकाओं पर कोई आदेश देने से शुक्रवार को मना कर दिया।

13/12/2019

अनुच्छेद 370 हटने के बाद जम्मू पहुंचा दूसरा विदेशी प्रतिनिधिमंडल

बीते साल जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद- 370 हटाए जाने के बाद बुधवार को दूसरा विदेशी प्रतिनिधिमंडल जम्मू पहुंचा, जहां यह दल प्रदेश के मीडिया, स्थानीय लोगों, व्यापारियों और नेताओं से भी मुलाकात करेगा।

13/02/2020

आम बजट 2020 : किसानों की आमदनी बढ़ाने के लिए 16 सूत्री कार्य योजना की घोषणा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने किसानों की आय दोगुनी करने, बागवानी, अनाज भंडारण, पशुपालन और नीली अर्थव्यवस्था को प्रोत्साहित करने के लिए 16 सूत्री कार्य योजना की घोषणा की। सीतारमण ने कहा कि सरकार 2022 तक किसानों की आमदनी दोगुनी करने के लक्ष्य को लेकर प्रतिबद्ध है।

01/02/2020

ओडिशा में सुपरसोनिक मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण

ओडिशा में बालासोर से 15 किलोमीटर दूर चांदीपुर के समुद्र तट स्थित एकीकृत परीक्षण क्षेत्र (आईटीआर) से भारत और रूस के संयुक्त उद्यम परियोजना के तहत तैयार सुपरसोनिक क्रूज मिसाइल ब्रह्मोस का सफल परीक्षण किया गया।

17/12/2019

सियाचिन में जवानों के पास उचित राशन की कमी

बजट की कमी का सामना कर रही सेना को लेकर कैग की रिपोर्ट में एक और खुलासा हुआ है। सीएजी ने संसद में पेश अपनी रिपोर्ट में कहा है कि सियाचिन, लद्दाख आदि ऊंचाई वाले स्थानों में तैनात जवानों को जरूरी उपकरण के साथ-साथ राशन की भी कमी हुई है।

04/02/2020

मोदी की सुनामी में कांग्रेस के नौ पूर्व मुख्यमंत्री भी हारे

नरेंद्र मोदी की सुनामी में पूर्व पीएम एचडी देवेगौड़ा भी चुनाव हार गए है। इसके अलावा कांग्रेस के नौ पूर्व मुख्यमंत्री भी चुनाव हार गए है।

24/05/2019

निर्भया केस : केंद्र की अपील पर सुनवाई 5 मार्च तक टली

सुप्रीम कोर्ट ने निर्भया गैंगरेप एंड मर्डर केस के दोषियों को अलग-अलग फांसी देने संबंधी केंद्र एवं दिल्ली सरकार की विशेष अनुमति याचिका पर सुनवाई 5 मार्च तक के लिए टाल दी। कोर्ट ने कहा कि गुनाहगारों को तीन मार्च को फांसी दी जानी है, इसलिए वह डेथ वारंट के निष्पादन का इंतजार करेगी।

25/02/2020