Dainik Navajyoti Logo
Friday 30th of October 2020
 
भारत

शिफ्ट होगा पीएम आवास और दफ्तर, नए आवास से ऑफिस तक पैदल जा सकेंगे प्रधानमंत्री

Friday, January 17, 2020 13:05 PM
सेंट्रल विस्टा के रीडेवलेपमेंट के लिए मास्टर प्लान तैयार।

नई दिल्ली। केन्द्र सरकार ने महत्वाकांक्षी योजना सेंट्रल विस्टा का मास्टर प्लान तैयार कर लिया है। सेंट्रल विस्टा के रीडेवलेपमेंट के बाद लुटियंस दिल्ली नए लुक में नजर आएगी। रीडेवलेपमेंट प्रोजेक्ट के तहत मौजूदा संसद भवन के आगे संसद के लिए एक तिकोनी नई इमारत बनेगी। एक साझा केन्द्रीय सचिवालय होगा और राष्ट्रपति भवन से इंडिया गेट तक 3 किलोमीटर लंबे राजपथ का जीर्णोद्धार होगा। सेंट्रल विस्टा के रीडेवलेपमेंट प्रोजेक्ट के तहत उपराष्ट्रपति आवास समेत लुटियंस दिल्ली की कई बिल्डिंग को तोड़ा जाएगा। इस प्लान में बीते 3 महीने में 6 बार बदलाव किए गए हैं। सेंट्रल विस्टा के मास्टर प्लान के मुताबिक पुराने गोलाकार संसद भवन के सामने गांधीजी की प्रतिमा के पीछे नया तिकोना संसद भवन बनेगा। नए संसद भवन में दोनों सदनों लोकसभा और राज्यसभा के लिए एक-एक इमारत होगी, लेकिन सेंट्रल हॉल नहीं बनेगा। यह 13 एकड़ जमीन पर बनेगा। इस जमीन पर अभी पार्क, अस्थायी निर्माण और पार्किंग है।

नई परियोजना के तहत नए सचिवालय में 10 भवन बनाए जाएंगे। संसद भवन के ठीक बगल में नया संसद भवन बनाया जाएगा। नॉर्थ और साउथ ब्लॉक को एक कर म्यूजियम में परिवर्तित किया जाएगा, साथ ही इंदिरा गांधी राष्ट्रीय कला केंद्र को उसके वर्तमान स्थल से कहीं और स्थानांतरित किया जा सकता है। प्रस्तावित योजना के अनुसार विभिन्न मंत्रालयों के लिए एक साझा केंद्रीय सचिवालय निर्माण का मार्ग प्रशस्त करने के लिए आईजीएनसीए इमारत के अलावा उद्योग भवन, निर्माण भवन, शास्त्री भवन, उपराष्ट्रपति आवास सहित 9 अन्य इमारतों को ध्वस्त किया जा सकता है। इसके अलावा राष्ट्रीय अभिलेखागार के मॉडल को भी बदला जाएगा।

प्रस्तावित योजना के तहत प्रधानमंत्री आवास और कार्यालय में भी परिवर्तन देखने को मिलेगा। केंद्र सरकार का कहना है कि अतिक्रमण के कारण करीब 90 एकड़ प्रमुख भूमि बर्बाद हो गई है। इस जगह का उपयोग साउथ ब्लॉक के पीछे प्रधानमंत्री के लिए नया आवास और ऑफिस बनाने के लिए किया जाएगा। दोनों को इस तरीके से बनाया जाएगा कि प्रधानमंत्री आवास से ऑफिस पैदल भी जा सकें। इसके अलावा उपराष्ट्रपति के आवास को भी बदला जाएगा। उपराष्ट्रपति का नया पता नार्थ ब्लॉक के उत्तर में प्रधानमंत्री के घर के ठीक सामने होगा।

वर्तमान में नॉर्थ और साउथ ब्लॉक में केंद्र सरकार के अहम मंत्रालय हैं। इनमें वित्त, रक्षा और गृह के साथ-साथ प्रधानमंत्री कार्यालय शामिल है। लेकिन प्रस्तावित संरचना के तहत दोनों ब्लॉक को मिलाकर इसे केंद्रीय म्यूजियम बना दिया जाएगा। इन विभागों के मंत्रियों का कार्यालय भी कॉमन सचिवालय में शिफ्ट कर दिया जाएगा। अभी सेंट्रल विस्टा में 51 में से सिर्फ 22 मंत्री ही बैठते हैं। आने वाले समय में सभी एक साथ बैठेंगे। इसमें कुल 10 बिल्डिंग बनाई जाएगी, जहां लगभग 70 हजार केंद्रीय कर्मचारी काम करेंगे। प्रस्तावित भवनों में से किसी की भी ऊंचाई इंडिया गेट से अधिक नहीं होगी। सभी भवनों को अंडरग्राउंड रास्तों से जोड़ा जाएगा। सभी भवन केंद्रीय सचिवालय मेट्रो स्टेशन से सीधे जुड़े होंगे।

सेंट्रल विस्टा पश्चिम में राष्ट्रपति भवन से लेकर मदर टेरेसा क्रेसेंट तक फैला होगा। यह इंडिया गेट से लेकर यमुना के पूर्व के किनारे में फैला होगा। नई प्रस्तावित संरचना के तहत लुटियंस का लैंडमार्क पूरी तरह से बदल जाएगा। सेंट्रल विस्टा में यमुना नदी के किनारे 'न्यू इंडिया' गार्डन भी बनाया जाएगा, जिसमें देश की आजादी के 75 वर्षों के उपलक्ष्य को संरचनाओं में स्थापित किया जाएगा। इसके लिए सरकार डिजाइन प्रतियोगिता का भी आयोजन करने जा रही है।

नया प्रस्तावित संसद भवन उसी परिसर में बनेगा, जहां अभी संसद भवन है। पहले पुराने संसद भवन को संग्रहालय में परिवर्तित करने की योजना थी। अब इसके कुछ हिस्सों का इस्तेमाल करने की बात कही जा रही है। सेंट्रल विस्टा के पश्चिम में लगभग 48 एकड़ भू-भाग पर राष्ट्रीय बायोडायवर्सिटी पार्क बनाए जाएंगे। इसमें ग्लास हाउस का निर्माण किया जाएगा। राजपथ के पास के जगह को सेंट्रल एवेन्यू में शामिल किया जाएगा। जहां आम लोगों के लिए टॉयलेट, बेंच और पार्किंग की व्यवस्था होगी। यहां अंडरग्राउंड रास्ते भई बनाए जाएंगे।

यह भी पढ़ें:

उत्तराखंड सहित कई क्षेत्रों में बर्फबारी

कई जिलों में मौसम ने पलटी मारी है। केदारनाथ और नैनीताल के आसपास के क्षेत्रों में बर्फबारी हुई। इसके अलावा अनेक स्थानों पर हल्की बारिश हुई।

13/12/2019

हमारे पास 'किंग' है, अपने दमखम पर सरकार बनाएंगे: राम माधव

बीजेपी के राष्ट्रीय महासचिव राम माधव ने एक चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा कि बीजेपी बहुमत हासिल नहीं कर पाएगी।

07/05/2019

दिल्ली में भारी बारिश ने बढ़ाई राहगीरों की मुसीबतें, जलभराव से कई जगह यातायात जाम

राजधानी में सुबह हुई भारी बारिश से कई जगहों पर जलभराव की स्थिति बन गई और सड़कों पर गड्ढों की वजह से वाहन बेहद सुस्त रफ्तार से चलने के कारण जगह-जगह यातायात जाम हो गया। राजधानी के लगभग सभी हिस्से जलभराव से प्रभावित हुए हैं तथा सड़कों पर गड्डों ने राहगीरों की मुसीबतें और बढ़ा दी हैं।

19/08/2020

जम्मू-कश्मीर के राज्यपाल ने पीएम मोदी से की मुलाकात

जम्मू-कश्मीर में स्थिति सामान्य बनाने के लिए सरकार द्वारा किये जो रहे निरंतर प्रयासों के बीच राज्यपाल सत्यपाल मलिक ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की।

16/09/2019

देश में 24 घंटे में सामने आए 32695 नए कोरोना मरीज, संक्रमितों का आंकड़ा 9.69 लाख के पार

देश में कोरोना संक्रमण की स्थिति हर दिन भयावह होती जा रही है। 24 घंटों के दौरान अब तक के सर्वाधिक 32 हजार से अधिक नये मामले सामने आने से संक्रमितों का आंकड़ा 9.69 लाख के पार पहुंच गया है।

16/07/2020

कर्नाटक विधायक अयोग्यता मामले में जज ने खुद को किया सुनवाई से अलग

सुप्रीम कोर्ट के न्यायाधीश एम एम शनतंगोदौर ने कर्नाटक के 17 अयोग्य विधायकों की याचिकाओं की सुनवाई से खुद को अलग कर लिया। न्यायमूर्ति शंटांगोदौर ने खुद को इससे यह कहते हुए अलग कर लिया कि वह कर्नाटक से हैं इसलिए वह सुनवाई का हिस्सा नहीं रहना चाहते हैं।

17/09/2019

सुगम आवाजाही के लिए गृह मंत्रालय की हेल्पलाइन नं. 1930 का भी हो सकेगा उपयोग

केन्द्रीय गृह मंत्रालय भी लॉकडाउन के दौरान देशभर में राजमार्गों पर सभी प्रकार के वाहनों की सुगम आवाजाही के लिए आगे आया है। गृह मंत्रालय की ओर से 24 घंटे चलने वाली हेल्पलाइन नंबर 1930 का उपयोग अब खाली ट्रकों सहित मालवाहक वाहनों के ड्राइवर और ट्रांसपोर्टरों की शिकायतों या मुद्दों के समाधान के लिए किया जा सकेगा।

04/05/2020