Dainik Navajyoti Logo
Saturday 16th of November 2019
 
भारत

विज्ञान फेस्टिवल में ममता आती तो मन होता प्रफुल्लित : धनखड़

Friday, November 08, 2019 18:15 PM
जगदीप धनखड़ (फाइल फोटो)

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ ने कोलकाता में आयोजित किए गए भारत अंतरराष्ट्रीय विज्ञान फेस्टिवल से राज्य सरकार के दूरी बनाए जाने पर चिंता जताते हुए कहा कि हर बात में राजनीति नहीं होनी चाहिए। राजनीति केवल चुनाव के समय पर ही होनी चाहिए। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री अगर इस कार्यक्रम में आती तो शायद मन और अधिक प्रफुल्लित होता। राज्यपाल धनकड़ कोलकाता के बिस्व बांग्ला कन्वेंशन सेंटर में चार दिवसीय विज्ञान फेस्टिवल के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कोलकाता में 4 दिन से हर तरफ केवल विज्ञान के कार्यक्रम आयोजित हो रहे हैं। इन कार्यक्रमों में कोलकाता का निवासी नहीं देश विदेश के लोग भागीदारी बने है।

उन्होंने कहा कि कोलकाता के लिए है एक ऐतिहासिक पल है। कोई भी देश नॉलेज शिक्षा और साइंस से ही आगे बढ़ सकता है। इनके बिना किसी की प्रगति संभव नहीं है। उन्होंने कहा कि यह केवल एक साइंस फेस्टिवल नहीं है। बल्कि इसका नाम इनोवेशन साइंस पर होना चाहिए। उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की प्रशंसा करते हुए कहा कि 2014 के बाद देश में परिवर्तन आया है प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दुनिया में देश का नाम रोशन कर रहे हैं।

केंद्रीय मंत्री हर्षवर्धन ने बताया कि इस फेस्टिवल में 3 वर्ल्ड रिकॉर्ड बने हैं जबकि पिछले चार फेस्टिवल में दो ही वर्ल्ड रिकॉर्ड बन पाए थे फेस्टिवल में 28 तरह की गतिविधियां की गई फेस्टिवल में देश के 706 जिलों से प्रतिनिधि किसी न किसी तौर पर शामिल हुए हैं। इसके साथ ही नेपाल भूटान ब्रिटेन मालदीप कोरिया के प्रतिनिधि भी यहां पर आए हैं। हर्षवर्धन ने भारतीय विज्ञान की तारीफों का जिक्र करते हुए कहा कि भारत का विज्ञान देश दुनिया में अपना लोहा मना चुका है। हमारे देश के साइंटिस् ने सुनामी आने से पहले ही लोगों को आगाह कर दिया था, जिसका दुनिया के सभी देशों ने प्रशंसा की है। इसके साथ ही समुद्री साइक्लोन के सूचना देने वाला एक भारत ही ऐसा राज्य है। भारत ऐसा देश है, जो दुनिया को समय से पूर्व सूचना देता है। देश के किसानों को विज्ञान की ओर से 4 दिन की मौसम की जानकारी दी जाती है, जो पहले मौसम विभाग पर किसी तरह का विश्वास नहीं होता था।