Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of November 2019
 
भारत

ऑड-ईवन के दायरे में नहीं आएंगे राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपाल, मुख्यमंत्री

Thursday, October 17, 2019 13:15 PM
प्रेस कांफ्रेंस में ऑड-ईवन नियम के बारे में जानकारी देते दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल

नई दिल्ली। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने राजधानी दिल्ली में वायु प्रदूषण से निपटने के उद्देश्य से 4 नवंबर से वाहनों के लिये सम-विषम (ऑड-ईवन) योजना लागू करने की गुरुवार को घोषणा की।

केजरीवाल ने गुरुवार को प्रेस कांफ्रंस में कहा कि यह योजना 15 नवंबर तक लागू रहेगी और अन्य राज्यों से आने वाले वाहनों पर भी यह प्रतिबंध लागू रहेगा। उन्होंने कहा कि सम विषम योजना निजी चार पहिया वाहनों पर लागू होगी। दो पहिया वाहनों को इससे मुक्त रखा गया है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि सम विषम योजना प्रतिदिन सुबह आठ बजे से लेकर रात आठ बजे तक प्रभावी रहेगी। रविवार को यह योजना लागू नहीं होगी। सम विषम योजना का उल्लंघन करने वाले वाहनों पर चार हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा।

उन्होंने कहा कि राष्ट्रपति, उपराष्ट्रपति, प्रधानमंत्री, राज्यपालों, भारत के मुख्य न्यायाधीश, लोकसभा अध्यक्ष, केन्द्रीय मंत्रियों, राज्यसभा एवं लोकसभा में विपक्ष के नेता, राज्यों के मुख्यमंत्रियों को भी इस योजना से छूट मिलेगी लेकिन दिल्ली के मुख्यमंत्री एवं मंत्री इसके दायरे में आएंगे।

इस नियम में खास बातें ये भी हैं कि महिलाओं को ऑड ईवन में छूट, जिन गाड़ियों में स्कूली बच्चे उन्हें छूट, दिल्ली सीएम,डिप्टी सीएम ऑड ईवन के दायरे में रहेंगे, नियम तोड़ने पर 4000 का जुर्माना, मरीज लेकर जाने वाली गाड़ियों को छूट, केंद्र सरकार के मंत्री दायरे से बाहर होंगे, दोपहिया वाहनों को मिलेगी छूट।
 

उल्लेखनीय है कि ऑड-ईवन योजना में तारीख के अनुसार सम एवं विषम नंबर वाले वाहनों को ही सड़क पर निकलने की अनुमति होगी। m