Dainik Navajyoti Logo
Thursday 21st of November 2019
 
भारत

पीएमसी बैंक के एक खाताधारक की हार्ट अटैक से मौत, 4 खातों में फंसे करीब 90 लाख रुपए

Tuesday, October 15, 2019 15:20 PM
फाइल फोटो।

मुंबई। पंजाब एंड महाराष्ट्र को-ऑपरेटिव बैंक घोटाले के बाद निवेशकों को कई तरह की मुश्किलों का सामना करना पड़ रहा है। इसी बीच एक पीड़ित खाताधारक संजय गुलाटी की दिल का दौरा पड़ने से मौत हो गई। संजय सोमवार को किल्ला कोर्ट के सामने बैंक पर लगाई गई पाबंदियों के खिलाफ प्रदर्शन कर रहे थे। लेकिन दोपहर को जब वह घर पहुंचे तो उन्हें हार्ट अटैक आया और उनकी मौत हो गई। संजय के पीएमसी बैंक के खाते में करीब 90 लाख रुपए फंसे है। संजय की पहले जेट एयरवेज से नौकरी चली गई थी और अब सभी जमा पूंजी फंस गई थी।

संजय के परिजनों का कहना है कि पीएमसी में उनके 4 खातों में करीब 90 लाख रुपये जमा थे। उनका एक बेटा बीमार रहता है, जिसके लिए उन्हें पैसों की जरूरत थी, लेकिन बैंक से पैसे नहीं निकाल पा रहे थे। जिस वजह से कई दिनों से तनाव में चल रहे थे। सोमवार को भी वो दूसरे लोगों के साथ विरोध प्रदर्शन में शामिल होने गए थे और लौटने के बाद उनकी हार्ट अटैक से मौत हो गई।

उल्लेखनीय है कि संजय और उनके पिता जेट एयरवेज में काम करते थे। जेट एयरवेज की नौकरी जाने केबाद संजय की  बचत भी खत्म होती गई।

पीएमसी बैंक घोटाले मामले में सोमवार को महानगर मजिस्ट्रेट ने एचडीआईएल के चेयरमैन एवं प्रबंध निदेशक राकेश वाधवन तथा उनके बेटे सारंग और बैंक के पूर्व चेयरमैन वरयाम सिंह की पुलिस हिरासत 16 अक्टूबर तक बढ़ा दी। इस दौरान सैकड़ों की संख्या में बैंक के खाताधारक मामले को सफेदपोश अपराध ठहराते हुए कोर्ट के बाहर प्रदर्शन कर रहे थे। वे आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई और अपना पैसे जल्द से जल्द वापस दिलाये जाने की मांग कर रहे थे।

क्या है पीएमसी बैंक घोटाला?
पीएमसी बैंक ने एचडीआईएल को 6500 करोड़ रुपये का कर्ज दे दिया था। जबकि बैंक का कुल एसेट ही 8800 करोड़ रुपये का है यानी कंपनी को बैंक की पूरी संपत्ति की 73 फीसदी रकम कर्ज के तौर पर मिल गई थी। यह रकम कर्ज देने की सीमा से चार गुना अधिक थी। ऐसे हालात में बैंक की हालत खराब हो गई।

भारतीय रिजर्व बैंक ने घोटाले में घिरे पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव (पीएमसी) बैंक के बचत खाताधारकों के लिए 6 माह में निकासी की सीमा 25,000 रुपये से बढ़ाकर 40,000 रुपये कर दी। यह तीसरी बार है जबकि रिजर्व बैंक ने पीएमसी के ग्राहकों के लिए प्रति खाता निकासी की सीमा बढ़ाई है। केंद्रीय बैंक ने 23 सितंबर को पीएमसी बैंक पर कई तरह की पाबंदियां लगाई थी। उसी समय प्रति ग्राहक 6 माह में केवल 1,000 रुपए निकासी की सीमा तय की गई थी।