Dainik Navajyoti Logo
Saturday 29th of February 2020
 
खास खबरें

सूरत में हीरा व्यापारी के घर विराजे 500 करोड़ के भगवान गणेश, दूर-दूर से देखने आ रहे लोग

Tuesday, September 03, 2019 15:15 PM
डायमंड व्यापारी के घर स्थापित 500 करोड़ रूपए की भगवान गणेश की मूर्ति।

सूरत। देशभर में गणेश उत्सव की धूम है। सोमवार को गणेश चतुर्थी के अवसर पर प्रथम पूज्य भगवान गणेश की आराधना और पूजा के लिए भक्तों ने अलग-अलग तरह की मूर्तियों की स्थापना की। पूरे देश में लोग गली-मोहल्लों और घरो में अलग-अलग गणेश मूर्ति की स्थापना कर रहे हैं और हर गणेश पांडाल में भी अलग-अलग थीम देखने को मिल रहे है। हर कोई चाहता है कि उनके घर स्थापित भगवान गणेश की मूर्ति कुछ अलग हो। डायमंड सिटी कही जाने वाली नगरी सूरत में हीरा कारोबारी ने अपने घर में देश के सबसे महंगे गणपति की स्थापना की है, जो 500 करोड़ रुपए की है। इस मूर्ति को देखने के लिए लोग दूर-दूर से आ रहे हैं।

सूरत के कतारगांव इलाके में रहने वाले डायमंड व्यापारी राजूभाई पांडव का कहना है कि गणेश जी की प्रतिमा को विशेष रूप से तैयार किया गया है। उन्होंने बताया कि 2005 में जब वह रफ-डायमंड खरीद रहे थे, उसी दौरान एक गणेशजी के आकार का हीरा मिला। जिसकी खास बात यह थी कि इसमें नजर आ रही गणेश जी की आकृति में सूंड दाईं तरफ नजर आ रही थी जो कि गणेश जी की मूर्तियों में नहीं होती है। इस वजह से उन्होंने इस गणेश की मूर्ति की आकृति वाले डायमंड को खरीदने का मन बना लिया और निर्णय कर लिया की किसी भी तरह डायमंड के भगवान गणेश को घर लेकर आना है। उन्होंने बताया कि साल 2005 में 29 हजार में यह मूर्ति खरीदी थी, जिसके बाद से हर साल वह अपने घर में इसकी पूजा करते हैं।

डायमंड व्यापारी द्वारा 29 हजार रुपए में खरीदी गई गणेश की मूर्ति की कीमत अब 14 सालों बाद 500 करोड़ रुपए हो गई है। हालांकि वह इस बारे में बोलने से हिचकिचाते हैं, लेकिन यह जरूर कहते हैं कि यह दुनिया का दुर्लभ हीरा है।

 

यह भी पढ़ें:

फिल्म इंडस्ट्री में फ्लॉप मयूरी कांगो बनीं गूगल इंडिया की इंडस्ट्री हेड

बॉलीवुड में फ्लॉप होने के बाद दक्षिण की फिल्मों में नजर आई मयूरी कांगो का वहां भी सिक्का नहीं चला। अब वे गूगल इंडिया के इंडस्ट्री हेड का पद संभाल रही हैं।

05/04/2019

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव में हैरिटेज वॉक ने मोह लिया सबका मन

अंतरराष्ट्रीय ऊंट उत्सव के दौरान हेरिटेज वॉक का आयोजन किया गया, जिसमें सांस्कृतिक कार्यक्रमों एवं देशी विदेशी पर्यटकों सहित मेहमानों की आदर, सत्कार एवं सद्भावना के साथ मीठी मनुहार ने सबका मन मोह लिया।

13/01/2020

जब नहीं मिली एंबुलेंस तो पत्नी के शव को कंधे पर रखकर ले गया

अपनी पत्नी के शव को अस्पताल से घर लाने के लिए जब आदिवासी व्यक्ति को एंबुलेंस नहीं मिली तो वह शव को अपने कंधे पर रखकर चलता गया। इस व्यक्ति के साथ बेटी भी पैदल चल रही थी। उड़ीसा के कालाहांडी जिले की इस घटना ने सरकार की व्यवस्था को कठघरे में खड़ा कर दिया है।

25/08/2016

डाक टिकटों में दिख रही गुरुद्वारों की सुंदरता, डाक विभाग ने जारी किया 5 टिकटों का सेट

पिछले साल डिपार्टमेंट ने गुरु नानक देवजी के प्रकाश पर्व पर करतापुर कॉरीडोर को खोले जाने के इस ऐतिहासिक क्षण को डाक टिकट में उतारकर बहुत ही प्रेरणादायक कार्य किया है। 5 डाक टिकटों के साथ विभाग ने पूरा एक सेट जारी किया है, हर एक टिकट अपने आप में बेहतर है और सुंदर भी।

24/02/2020

तियानमेन चौक नरसंहार में 10 हजार लोगों को टैंकों से कुचल डाला था

तियानमेन चौक नरसंहार की 30वीं बरसी है। तीस साल पहले 4 जून 1989 को कम्युनिस्ट पार्टी के उदारवादी नेता हू याओबैंग की मौत के खिलाफ हजारों छात्र तियानमेन चौक पर प्रदर्शन कर रहे थे।

04/06/2019

जयपुर में हिस्टोरिकल मॉन्यूमेंट्स से लेकर वाइल्ड लाइफ तक सब कुछ

मरुप्रदेश आने पर देशी-विदेशी पर्यटकों को किले, महल देखने के साथ ही वन्यजीवों को देखने का मौका मिलता है। टूरिज्म के लिहाज से बात करें तो प्रदेश में गुलाबी नगरी ऐसी सिटी है, जहां पर्यटकों को लॉयन सफारी और हाथी सवारी का लुत्फ उठाने का मौका मिलता है।

27/09/2019

पुराने घाट का कमनीय आकर्षण

सन् 1945 का किशनपोल बाजार का चित्र, जिसमें दो महिलाएं रूई की गांठ उठा रही हैं।

12/08/2019