Dainik Navajyoti Logo
Friday 18th of June 2021
 
खास खबरें

नवरात्रि के पहले दिन मां शैलपुत्री की पूजा, मंदिरों में श्रद्धालुओं की भारी भीड़

Tuesday, April 13, 2021 10:55 AM
फाइल फोटो।

जयपुर। आज से नवरात्रि की शुरुआत हो चुकी है। इसी दिन से हिन्दू नववर्ष यानी नए संवत्सर की शुरुआत होती है। पर्वतराज हिमालय के घर पुत्री के रूप में उत्पन्न होने के कारण मां दुर्गा जी का नाम शैलपुत्री पड़ा। मां शैलपुत्री नंदी नाम के वृषभ पर सवार पर सवार होती हैं और उनके दाहिने हाथ में त्रिशूल और बाएं हाथ में कमल का पुष्प होता है। नवरात्रि के पहले दिन शुभ मुहूर्त में कलश स्थापना या घटस्थापना की जाती है। फिर विधि विधान से मां दुर्गा के शैलपुत्री स्वरुप की पूजा की जाती है। नवरात्रि के पहले ही दिन से व्रत रखा जाएगा। इस बार आप भी नवरात्रि का व्रत रखने वाले हैं तो जागरण अध्यात्म में आज हम आपको मां शैत्रपुत्री की पूजा विधि, आरती, मंत्र आदि के बारे में बता रहे हैं, जिससे आपको आसानी होगी।

कौन हैं मां शैत्रपुत्री
मां दुर्गा का प्रथम स्वरूप मां शैलपुत्री हैं। यह पर्वतराज हिमालय की कन्या हैं। पूर्व जन्म में यह सती के नाम से जानी जाती थीं और प्रजापति दक्ष की कन्या थीं। मां शैलपुत्री की पूजा करने से व्यक्ति को शांति, उत्साह और निडरता प्राप्त होता है। मां भय का नाश करने वाली हैं। इनकी कृपा से व्यक्ति को यश, कीर्ति, धन, विद्या और मोक्ष प्राप्त होता है।

मां शैत्रपुत्री पूजा विधि
प्रतिपदा को कलश स्थापना करके नवरात्रि की पूजा और व्रत का संकल्प करें। इसके बाद मां शैलपुत्री की पूजा करें। उनको लाल पुष्प, सिंदूर, अक्षत्, धूप, गंध आदि चढ़ाएं। फिर माता के मंत्रों का उच्चारण करें। दुर्गा चालीसा का पाठ करें। पूजा के अंत में गाय के घी से दीपक या कपूर से आरती करें। माता रानी को जिन फलों और मिठाई का भोग लगाया है, उसे पूजा के बाद प्रसाद स्वरूप लोगों में बांट दें।

घट स्थापना का शुभ मुहूर्त
वासंतिक नवरात्र पर मंगलवार को सुबह सर्वश्रेष्ठ मुहुर्त में सुबह 6.09 बजे से लेकर 10.16 बजे तक मंदिरों और घरों में घट स्थापना होगी। इसके बाद द्विस्वभाव मिथुन लग्न में 9.46 से लेकर 12 बजे तथा अभिजित मुहुर्त मध्यान्ह 12.03 बजे से लेकर 12.53 बजे तक है। आमेर स्थित शिलामाता के मंदिर में नवरात्र स्थापना सुबह 6.10 बजे हुई। निशा पूजन सप्तमी तिथि 19 अप्रैल को रात 10 बजे होगी। वहीं 20 अप्रैल को महाअष्टमी हवन पूर्णाहुति के साथ होगी। 22 अप्रैल को नवरात्र उत्थपना होगी।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

चंबल घड़ियाल सेंचुरी में बढ़ रहे घड़ियाल, आप देखने जा सकते हैं इनकी अठखेलियां

एक तरफ दुनिया में घड़ियालों की संख्या में निरतंर कमी होती जा रही है। दूसरी तरफ चंबल घड़ियाल सेंचुरी में इनका बढ़ोतरी हो रही है।

17/02/2020

संग्रहालय में अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू

मिसाइल मैन के नाम से विख्यात देश के पूर्व राष्ट्रपति डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम का वैक्स स्टैच्यू केवल जयपुर में ही बना है।

16/10/2019

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई बढ़ी, 8848 की जगह 8848.86 मीटर हुई हाइट

दुनिया की सबसे ऊंची चोटी माउंट एवरेस्ट की ऊंचाई को पहले से ज्यादा पाया गया है। पहले इसकी ऊंचाई 8848 मीटर थी, जिसे अब 8848.86 मीटर नापा गया है। चीन और नेपाल ने इसका मंगलवार को ऐलान किया। नेपाल और चीन के बीच 13 अक्टूबर 2019 को माउंट एवरेस्‍ट की ऊंचाई नापने पर समझौता हुआ था।

08/12/2020

जोधपुर जिले का एक ऐसा गांव जहां 68 वर्ष से नहीं मनी दीपावली

जोधपुर जिले का एक गांव ऐसा भी है जो अपने 18 मृतक किसान भाइयों की याद में पिछले 68 वर्षों से केवल प्रतीकात्मक दीपावली मनाते हैं। जोधपुर जिले का भुण्डाना गांव ऐसा है जहां गांववासी पिछले 68 वर्ष से दीपावली के दिन डाकुओं के हाथ मारे गये।

31/10/2019

चांद पर इंसान के कदम रखने की 50वीं वर्षगांठ पर गूगल ने बनाया वीडियो डूडल

इंटरनेट सर्च इंजन गूगल ने चांद पर इंसान का पहला कदम पडऩे की 50वीं वर्षगांठ का जश्न मनाते हुए एक एनिमेटेड वीडियो डूडल लांच किया।

19/07/2019

तियानमेन चौक नरसंहार में 10 हजार लोगों को टैंकों से कुचल डाला था

तियानमेन चौक नरसंहार की 30वीं बरसी है। तीस साल पहले 4 जून 1989 को कम्युनिस्ट पार्टी के उदारवादी नेता हू याओबैंग की मौत के खिलाफ हजारों छात्र तियानमेन चौक पर प्रदर्शन कर रहे थे।

04/06/2019

महिलाएं ले रहीं मार्शल आर्ट की ट्रेनिंग

महिलाओं को गलत तरीके से देखने वाली निगाहों पर ऐसा वार होगा कि वो दोबारा ये गंदा काम करने की हिमाकत नहीं कर पाएंगी।

08/03/2020