Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
खास खबरें

अजब गजब: दुनिया की सबसे ऊंची वीरान बिल्डिंग, जहां जाने से थरथर कांपते हैं लोग

Saturday, February 27, 2021 10:20 AM
होटल रयुगयोंग।

पूरी दुनिया में तमाम ऐसे इमारतें हैं जिन्हें भूतिया या डरावना माना जाता है। जहां जाने से इंसान तो क्या जानवर भी कतराते हैं। आज हम आपको एक ऐसा ही इमारत के बारे में बताने जा रहे हैं जो दुनिया की सबसे ऊंची वीरान बिल्डिंग है। जहां जाने के नाम से ही लोगों के रोंगटे खड़े हो जाता है। दरअसल, उत्तर कोरिया में मौजूद होटल की बिल्डिंग ऐसी ही भूतिया जगहों में से एक है। उत्तर कोरिया में एक ऐसा होटल मौजूद है, जिसको शापित और भूतिया कहा जाता है।

गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी में दर्ज
यह होटल पिरामिड जैसे आकार और नुकीले सिरे वाली गगनचुंबी इमारत के रूप में बनाया गया है। इस होटल का निर्माण कार्य बीच में ही रोक दिया गया और 33 साल बीत जाने के बावजूद इसका निर्माण कार्य आज भी अधूरा ही है। इस होटल का आधिकारिक नाम रयुगयोंग है, इसे यू-क्यूंग के नाम से भी जाना जाता है। बता दें कि उत्तर कोरिया की राजधानी प्योंगयोंग में स्थित इस होटल की ऊंचाई 330 मीटर है और इसमें 105 कमरे हैं। यह होटल बाहर से दिखने में बेहद भव्य और आलीशान दिखाई देता है। उत्तर कोरिया में लोग इस होटल को भूतिया इमारत कहकर पुकारते हैं। जापान की एक रिपोर्ट्स के मुताबिक, उत्तर कोरियाई सरकार ने इस होटल के निर्माण में काफी रुपए खर्च किए। उत्तर कोरियाई सरकार ने इस होटल पर लगभग 55 खरब रुपए खर्च किए हैं, लेकिन आज तक यह होटल बनकर तैयार नहीं हो पाया है। आज दुनिया इसको धरती की सबसे ऊंची वीरान इमारत के रूप में जानती हैं। इस होटल की इसी खासियत के कारण इसका नाम गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड भी में दर्ज है।

होटल का निर्माण कार्य आज भी अधूरा
अगर यह होटल पूरा बनकर तैयार हो जाता, तो यह दुनिया की 7वीं सबसे ऊंची इमारत और दुनिया के सबसे ऊंचे और आलीशान होटल मे तौर पर जाना जाता। बता दें कि इस होटल का निर्माण 1987 में शुरू किया गया था और इसको पूरा करने के लिए दो साल का समय रखा गया था। इसके निर्माण में कई तरह की दिक्कतें आने लगी थीं, जिसके बाद 1992 में इसका निर्माण कार्य बंद कर दिया गया। हालांकि, साल 2008 में इसे बनाने का काम काम फिर से शुरू हुआ और इस पर 11 अरब रुपए खर्च किए गए। हालांकि होटल का निर्माण कार्य पूरा नहीं हो सका।

यह भी पढ़ें:

जयपुर की शिल्पा मित्तल बनी मिसेज इंडिया यूनिवर्स

जयपुर की प्रसिद्ध ज्वैलरी डिजाइनर शिल्पा मित्तल ने जहां एक ओर ज्वैलरी जगत में अपनी अलग पहचान बनाई है।

05/12/2019

एक्सीडेंट के बाद कार में फंसी महिला, 6 दिन तक पीया बारिश का पानी

महिला की कार का घने जंगलों में एक्सीडेंट हो गया और वह छह दिन तक कार में ही फंसी रही। इस दौरान उसके फोन पर लगातार फोन आ रहे थे, लेकिन वह फोन रिसीव नहीं कर पा रही थी।

03/08/2019

एक कॉल पर मोबाइल वैन घर पहुंचाएगी पौधे, जयपुर से शुरुआत

प्रदेश में पहली बार मोबाइल वैन की शुरूआत जयपुर से की गई है। इसके तहत अगर किसी व्यक्ति को पौधों की आवश्यकता है तो वे डिविजनल ऑफिस के फोन नम्बर पर कॉल कर पौधे मंगवा सकते हैं।

08/08/2019

ये है इलेक्ट्रिक कारों वाला देश, जिसकी पूरी दुनिया में हो रही चर्चा

नॉर्वे धरती और जलवायु में बेहतरीन योगदान देने वाले देशों की सूची में शीर्ष पर है।

25/05/2019

ये है मैक्सिको का 700 साल पुराना सिक्का

शौकिया तौर पर शुरू किए गए संग्रह से पहचान मिली है। सिक्कों का संग्रह केवल संग्रह ही नहीं बल्कि भारत के विभिन्न राज्यों के पुराने समय की कला, सभ्यता और इतिहास की जानकारी भी देते हैं।

06/04/2019

'बच्चों को ढाल बनाते हैं उपद्रवी, 95 प्रतिशत कश्मीरी शांति से चाहते हैं हल'

गृहमंत्री राजनाथ सिंह और जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने संयुक्त प्रेस कांफ्रेंस में जम्मू-कश्मीर के हालात पर बात की। राजनाथ ने कांफ्रेंस में कहा कि कश्मीर में छोटे बच्चों को बरगलाया जाता है, कुछ लोग बच्चों को पत्थर मारने के लिए तैयार करते हैं। सभी कश्मीर में शांति चाहते हैं, घाटी के हालात को लेकर बहुत दुखी हूं।

25/08/2016

FathersDay: मेरी ताकत मेरी पहचान हैं मेरे पिता...!!

मां बच्चों के लिए लाड़-दुलार, संस्कार देने की खान होती है तो पिता एक बरगद की तरह होता है। जिसके तले बच्चा सुरक्षित रहने के साथ उसे जीने की दिशा, अच्छे कामों के लिए मार्गदर्शन और उद्देश्य मिलता है। पिता के रहने से संतान खुद को बेहतर सुरक्षित महसूस करती है।

13/06/2019