Dainik Navajyoti Logo
Monday 1st of June 2020
 
खास खबरें

जनता का घोषणापत्र: गांवों में बेहतर शिक्षा व चिकित्सा की जरूरत

Friday, May 03, 2019 12:15 PM
बुलबुल नायक, प्रिंस पारिक, सचिन माली (फाइल फोटो)

जयपुर। आज के दौर में देशभर के शहरी क्षेत्रों के विकास पर सभी सरकारों का पूर्ण रूप से फोकस होता है, लेकिन आज भी देश के कई गांव बेहर शिक्षा और चिकित्सा सुविधाओं से वंचित है और वहां पर चिकित्सा के साथ ही अच्छी शिक्षा की सुविधा नहीं है। ऐसे में सरकार और राजनेताओं को इस मुद्दे पर प्रभावी कार्य योजना बनाकर उसको जमीनी स्तर पर उतारना होगा, तभी आने वाली समस्या से निजात मिल सकेगी। दैनिक नवज्योति ने लोकसभा चुनावों को लेकर शहर की युवाओं की राय जानी और पूछा कि अगर आप प्रत्याशी होते तो ‘जनता का घोषणा पत्र’ में क्या-क्या घोषणाएं करते तथा चुनाव जीतने के बाद उनको कैसे पूरा करते।

रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाना

राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्रनेता सचिन माली ढूंढ़लोद ने बताया कि अगर मैं लोकसभा सांसद प्रत्याशी होता तो मेरे घोषणापत्र में सरकारी योजनाओं का लाभ लेने के लिए लोगों को जागरूक करना, ढाणीयों, गांवों, शहरों में शिक्षा व चिकित्सा की उचित व्यवस्था करना, लघु उद्योगों की स्थापना करना, छात्र-छात्राओं को खेल के प्रति जागरूक करना व स्कूल व कॉलेज स्तर पर उचित व्यवस्था करके खेल को बढ़ावा देना, युवाओं को सही समय पर रोजगार के अवसर उपलब्ध करवाना।

पर्यटन के साधन उपलब्ध करवाना

राजस्थान विश्वविद्यालय के छात्र प्रिंस पारीक ने कहा कि अगर में लोकसभा प्रत्याशी होता तो दूरदराज के लोगों के पर्यटन के साधन उपलब्ध करवाना व गांवों में खेती के लिए नवीन साधन उपलब्ध करवाना व रोजगार उपलब्ध करवाना मेरी प्राथमिकता रहेगी और जीतने के बाद प्रभावी कार्य योजना बनाकर इस सभी कार्य को पूरा करता।

महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा प्राथमिकता

एक्ट्रेस बुलबुल नायक ने कहा कि यदि मैं लोकसभा प्रत्याशी के रूप में चुनाव लड़ती तो मेरी प्राथमिकताओं में महिला-बच्चों की सुरक्षा, एजुकेशन और सिक्युरिटी जैसे बुनियादी मुद्दों पर फोकस रहता। मौजूदा माहौल में महिलाओं पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ कड़े कानून की पहल करती। वहीं पर एजुकेशन के स्तर को सुधारने की कोशिश करती। गरीब लोगों तक अच्छी सुविधाएं पहुंच सके इसके लिए हॉस्पिटल्स में एडवांस टेक्नोलॉजी लाने का प्रयास करूंगी, जिससे प्रत्येक गरीब इसका फायदा उठा सके।

यह भी पढ़ें:

जयपुर के इंजीनियर की तकनीक से बनेंगी गांवों की सड़कें, ग्राउंड वॉटर को रिचार्ज करेगा बारिश का पानी

सड़क बनाने के एक्सपर्ट इंजीनियर 84 वर्षीय पृथ्वी सिंह कांधल की बारिश के जल को बचाने के लिए सुराखदार सड़कों के निर्माण की तकनीक को केन्द्र सरकार ने मंजूरी दी है। इस तकनीक से प्रधानमंत्री ग्रामीण सड़क योजना के तहत बनने वाली 20 फीसदी सड़कों को बनाया जाएगा।

03/02/2020

24 कैरेट गोल्ड में बनाया राजसी साफा, 7 महीने में 40 कारीगरों ने किया तैयार

राजपूताना की 100 साल पुरानी परम्परा को फिर से जीवंत करने के लिए जयपुर के डिजाइनर भूपेन्द्र सिंह शेखावत ने 24 कैरेट गोल्ड में 10 गज लम्बा 530 ग्राम का साफा बनाया है।

05/10/2019

'पैड वुमन ऑफ राजस्थान', 7 साल में एक लाख से अधिक सेनेटरी पैड किए वितरित

पूरे विश्व में 28 मई को मासिक धर्म स्वच्छता दिवस मनाया जाता है। देश-विदेश में इसी महीने सैकड़ों चर्चाएं और संगोष्ठियां आयोजित की जाती हैं, जहां महिलाओं से जुड़े मुद्दों पर बात होती है। फिर भी कई ऐसे मुद्दे हैं जो आज भी महिलाओं से कोसो दूर हैं या यो कहें कि वो आज भी अनसुने, अनकहे व पूरी तरह से नजरअंदाज हैं।

25/05/2020

Video: पुष्कर मेले में 15 करोड़ का 'भीम', जिसके साथ हर कोई ले रहा सेल्फी

विश्व प्रसिद्ध पुष्कर पशु मेले का आकर्षक केन्द्र जोधपुर का भैंसा भीम है। जिसकी कीतम 15 करोड़ आंकी गई है। लेकिन इसके मालिक इसे इस कीमत में भी बेचना नही चाहते है।

05/11/2019

जयपुर का परकोटा हर कोई देखता ही रह जाता है

करीब 300 साल पहले जयपुर शहर की स्थापना की गई। लंबी चौड़ी और ऊंची प्राचीरों से घिरे इस नगर में प्रवेश कीजिए तो पहली झांकी से ही लगता है जैसे अरावली पर्वतमाला में कैनवास पर किसी सिद्धहस्त कलाकार ने अपनी तूलिका से यह दृश्यांकन किया है।

07/07/2019

पैलेस ऑन व्हील्स में मिलती हैं फाइव स्टार होटलों जैसी सुविधाएं

देशी-विदेशी पर्यटकों को शाही जीवन शैली जैसा अनूठा अनुभव देने वाली एवं पांच सितारा होटलों जैसी सुविधाओं से परिपूर्ण भारतीय रेल और राजस्थान पर्यटन विकास निगम द्वारा संयुक्त रूप से चलाई जा रही विश्व प्रसिद्ध पैलेस ऑन व्हील्स अपने नए रंगरूप और साज-सज्जा से सायं नई दिल्ली के सफदरजंग रेलवे स्टेशन से देशी-विदेशी पर्यटकों को लेकर राजस्थानी संस्कृति से रूबरू कराने के लिये गन्तव्य स्थानों के सुनहरे सफर के लिए रवाना हो गई।

05/09/2019

इसरो ने लिखा कामयाबी का नया इतिहास, इनसेट 3डीआर का प्रक्षेपण सफल

श्रीहरिकोटा। भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगन (इसरो) ने अपनी कामयाबी की एक और दास्तान लिखते हुए गुरुवार को मौसम संबंधी जानकारी देने वाले उपग्रह इनसेट 3डीआर का सफल प्रक्षेपण किया। साथ ही पहली बार किसी आॅपरेशनल फ्लाइट में स्वदेश निर्मित क्रायोजेनिक अपर स्टेज (सीयूएस) का इस्तेमाल किया गया।

08/09/2016