Dainik Navajyoti Logo
Thursday 24th of October 2019
शिक्षा जगत

10वीं और 12वीं में 2-2 स्टूडेंट्स ने किया टॉप

Wednesday, May 08, 2019 10:45 AM
नदिंता अदिति व पम्फा चानू (फाइल फोटो)

जयपुर। काउंसिल फॉर द इंडियन स्कूल सर्टिफिकेट एग्जामिनेशन (सीआईएससीई) ने आईसीएसई (10वीं) और आईसीएस (12वीं) के नतीजे मंगलवार को घोषित किए गए। इस बार 10 वीं में 98.54 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं। वहीं, 12वीं में 96.52 प्रतिशत स्टूडेंट्स पास हुए हैं। स्टूडेंट्स आईसीएसई की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाकर अपना परिणाम देख सकते है। 12वीं परीक्षा के परिणाम में देवांग कुमार अग्रवाल और विभा स्वामीनाथन 100 प्रतिशत मार्क्स हासिल करने वाले पहले छात्र बने तथा ऑल इंडिया टॉप किया।

मुम्बई की जूही रूपेश कजारिया और मुक्तसर के मनहर बंसल ने 10वीं की परीक्षा में 99.60 प्रतिशत अंक प्राप्त कर देशभर में टॉप करते हुए प्रथम रैंक हासिल की। वहीं कानपुर की नंदिता प्रकाश 12वीं में 99.75 प्रतिशत अंकों के साथ यूपी संयुक्त टॉपर बनी हैं। परिणाम में अजमेर के मेयो गर्ल्स कॉलेज की 12वीं कॉमर्स स्ट्रीम की छात्रा अदिति छापरिया और आर्ट्स स्ट्रीम की छात्रा पम्फा चानू ने 99.50 फीसदी अंक प्राप्त करके आॅल इंडिया स्तर पर तीसरे स्थान पर रही। प्रदेश से इन छात्राओं ने टॉप किया है।

ये रहे दूसरे और तीसरी रैंक के छात्र

12वीं में दूसरे स्थान पर 99.75 फीसदी अंकों के साथ 16 विद्यार्थी हैं। तीसरे स्थान पर 99.50 फीसदी अंकों के साथ 36 स्टूडेंट्स हैं। 10वीं में दूसरे स्थान पर 99.40 फीसदी अंकों के साथ 10 विद्यार्थी हैं। तीसरे स्थान पर 99.20 फीसदी अंकों के साथ 24 स्टूडेंट्स हैं।

0.31 फीसदी अधिक रहा
इस साल 12वीं की परीक्षा में 86,713 स्टूडेंट्स शामिल हुए थे। परीक्षा का कुल रिजल्ट 96.52 परसेंट है। यह रिजल्ट 2018 के मुकाबले 0.31 ज्यादा है।

0.03 फीसदी ज्यादा
इस साल 10वीं में पास होने वाले छात्रों की संख्या 98.54 प्रतिशत है। पिछले साल के मुकाबले इस 0.03 फीसदी ज्यादा बच्चे पास हुए हैं। इस परीक्षा में 1.84 लाख छात्र शामिल हुए थे।

छात्राएं बेहतर
12वीं की परीक्षा में इस वर्ष कुल 1080 स्कूलों के 86,713 छात्र शामिल हुए थे। इसमें छात्राओं की संख्या 39,964 थी। इनमें से 39,100 छात्राएं परीक्षा में पास और 864 छात्राएं फेल हुई हैं। परीक्षा में शामिल होने वाले छात्रों की कुल संख्या 46,739 थी। इसमें से 44,597 छात्र पास और 2,182 छात्र फेल हुए हैं।

परिणाम से संतुष्ट, इससे ज्यादा नहीं थी उम्मीद : अदिति
छात्रा अदिति छापरिया ने कहा कि परिणाम से संतुष्ट हूं। इससे ज्यादा की उम्मीद नहीं थी। अब इकोनोमिक्स में पीएचडी करुंगी। गोरखपुर की रहने वाली अदिति ने ‘नवज्योति’ से हुई बातचीत में बताया कि जीवन में पढ़ाई के साथ ही ओवरआॅल डवलपमेंट जरुरी है। परीक्षा शुरु होने से दो महीने पहले प्रतिदिन 7 से 8 घंटे तक नियमित अध्ययन किया। पिता अशीष छापरिया बिजनसमैन व माता सीमा छापरिया समाजसेविका हैं। गिटार बजाना और बैडमिंटन खेलना पसंद है। अदिति ने इंग्लिश में सौ में से 98, इकोनोमिक्स में 100, अकाउंट्स में 100 व कॉमर्स में सौ में से 100 अंक प्राप्त किए। कुल 4 सौ में से 398 अंक अर्जित किए। अदिति ने दसवीं परीक्षा में भी 98 प्रतिशत अंक प्राप्त कर राजस्थान में टॉप किया था।

पढ़ाई के साथ अन्य गतिविधियों में भी लें भाग : पम्फा
मणिपुर इम्फाल की रहने वाली छात्रा पम्फा चानू ने कहा कि स्टेडी को लाइट नहीं लेना चाहिए बल्कि पूरा एफर्ट्स लगाएं। इसके अलावा हर गतिविधियों में भाग भी लें, जिससे कि व्यक्तित्व का संपूर्ण विकास हो सके। उनके पिता मेराबा रेवेन्यू विभाग में कार्यरत हैं तथा माता सुमति आर्किटेक्ट हैं। उन्होंने बताया कि नियमित अध्ययन से सफलता मिली। परिजन और गुरुजन का मार्गदर्शन और आशीर्वाद काम आया। डांस, क्रिकेट और सिंगिंक की शौकीन पम्फा ने दसवीं में भी 95.4 प्रतिशत अंक प्राप्त किए थे। उनके इंग्लिश में 98, हिस्ट्री, साइको व इको में सौ में से अंक यानि कुल 398 अंक प्राप्त किए हैं।