Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 19th of November 2019
 
शिक्षा जगत

'ऑगमेंटेड रियलिटी और वर्चुअल रियलिटी पूरी दुनिया पर हावी हो रहे हैं'

Wednesday, November 06, 2019 17:20 PM
प्रेस कांफ्रेंस में मौजूद यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ बिस्वजोय चटर्जी व अन्य लोग

जयपुर।  यूनिवर्सिटी ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट (यूईएम) जयपुर द्वारा बुधवार को यूनिवर्सिटी के शहर स्थित ऑफिस में एक प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन किया गया। यूनिवर्सिटी की प्रेस कांफ्रेंस का मुख्य उद्देश्य ऑगमेंटेड रियलिटी व वर्चुअल रियलिटी पर आधारित है।

यूनिवर्सिटी के वाइस चांसलर प्रोफेसर डॉ बिस्वजोय चटर्जी ने बताया कि यह एक ऐसा समय है जब ऑगमेंटेड रियलिटी और वर्चुअल रियलिटी पूरी दुनिया पर हावी हो रहे हैं, चाहे वह शिक्षाविदों के क्षेत्र में हो, चाहे वह प्रोडक्ट मार्केटिंग हो, चाहे वह प्रोडक्ट लॉन्च हो।

चटर्जी ने कहा कि एक परिदृश्य की कल्पना करें, जहां एक छोटा बच्चा एक पाठ्यपुस्तक का अध्ययन कर रहा है और पाठ पुस्तक पर लिखे गए विभिन्न चित्रों या शब्दों पर अपनी अंगुली पकड़े हुए हैं और उसके सामने एक आभासी वीडियो चलने लगता है। यह बहुत अच्छा नहीं होगा?

उन्होंने कहा कि एक स्थिति की कल्पना करें, जहां आप अपने ग्राहक के सामने ब्रोशर के साथ अपने उत्पाद का विपणन कर रहे हैं और ब्रोशर और प्रासंगिक विपणन वीडियो के विभिन्न ग्रंथों या चित्रों पर अपनी उंगली को छूते हुए ग्राहक के सामने चलना शुरू कर देते हैं। क्या यह एक हजार मुस्कुराहट के लायक नहीं है?

यूनिवर्सिटी डीन प्रो डॉ अनिरुद्ध ने कहा कि इस विचार और इन विचारों के वास्तविक समय के प्रदर्शन के साथ, यूनिवर्सिटी ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट, (यूईएम), जयपुर ने एक संवर्धित वास्तविकता और आभासी वास्तविकता प्रयोगशाला शुरू की है, जहां इस तरह के उत्पादों को एक ग्लास पहने हुए देखा जा सकता है।

डीन का कहना है कि पूरी दुनिया अब अपने उत्पादों के दृश्य को वर्चुअलाइज करने की कोशिश कर रही है और इसमें प्रस्तुति में वीडियो बढ़ाने का काम कर रही है। ऑगमेंटेड और वर्चुअल रियलिटी के ज्ञान के उद्देश्य से एक विशाल जनशक्ति की आवश्यकता है।

यूनिवर्सिटी उप निदेशक संदीप अग्रवाल ने बताया कि यूनिवर्सिटी ऑफ इंजीनियरिंग एंड मैनेजमेंट (UEM), जयपुर के द्वितीय वर्ष के छात्र इस ह्यूमनॉइड रोबोट जो वस्तुओं को उठाने, वस्तुओं को फेंकने, लात मारने, नाचने, हाथ मिलाने आदि की क्षमता के साथ विकसित कर रहे हैं।

यूनिवर्सिटी द्वारा आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में यूनिवर्सिटी उप निदेशक संदीप अग्रवाल, अनुज, विभागों के प्रमुखों के साथ साथ छात्र ज्योतिर्मय शाह, श्रेयस्कम घोषाल, सिद्धार्थ सरकार, अमरिन्दों रॉय व प्रोजेक्ट हेड शांतनु बोशक भी उपस्थित रहे।