Dainik Navajyoti Logo
Saturday 30th of May 2020
 
शिक्षा जगत

केसरिया से फिर काली हुई साइकिल

Thursday, October 17, 2019 13:15 PM
कॉन्सेप्ट फोटो

जयपुर। प्रदेश में सत्ता चाहे किसी की भी हो, लेकिन साइकिलों के रंग पर सवार होकर हर राजनीतिक पार्टी इस पर सियासत करना चाहती है। आखिरकार चार साल बाद स्कूली बालिकाओं को वितरित होने वाली साइकिल का रंग बदल गया है। अब बालिकाएं काले रंग की साइकिल चलाएंगी। सत्ता संभालते ही कांग्रेस ने संकेत दे दिए थे कि बीजेपी सरकार में साइकिलों का रंग केसरिया को जल्द ही बदला जाएगा। भूतपूर्व कांग्रेस सरकार की ओर से स्कूल की बालिकाओं के लिए साइकिल वितरण की योजना शुरू की गई थी। पूर्व की बीजेपी सरकार के सत्ता में आने के बाद साइकिल केसरिया हो गई। अब चार साल बाद साइकिल का रंग दोबारा से बदला गया है।

दो माह की हुई देरी
साइकिल का रंग बदलने की वजह से करीब दो महीने की देरी से साइकिल का वितरण हुआ था। इस वर्ष भी साइकिल का रंग बदला गया है, जिसकी वजह से जुलाई में वितरित होने वाली साइकिल करीब 4 महीने बाद दी जाएगी। ओरिजनल कलर में साइकिल को लाने में बजट में भी इजाफा हो गया है। पिछले साल साइकिल की जो कीमत थी उसके अनुपात में 91 रुपए कीमत बढ़ गई है। पिछले साल जहां टेंडर 3255 रुपए में दिया गया था, वहीं अब टेंडर 3346 रुपए में दिया गया है। शिक्षक नेता विपिन प्रकाश शर्मा का कहना है कि शिक्षा के क्षेत्र में राजनीति नहीं होनी चाहिए। हालांकि देर सवेर ही सही, साइकिल नोडल एजेंसी पर पहुंच चुकी है।

बीजेपी पर आरोप, शिक्षा में की राजनीति
साइकिल के नोडल सेंटर पर पहुंचने के बाद शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा ने इसका निरीक्षण किया। उन्होंने बीजेपी पर आरोप लगाते हुए कहा कि साइकिलों का रंग केसरिया करने पर ही  शिक्षा में राजनीति शुरू हुई थी। लेकिन बीजेपी द्वारा बिगाड़े गए कामों को अब सुधारा जा रहा है। शिक्षा के क्षेत्र में जो भी बदलाव किए वो तुरंत सही किए जा रहे हैं। साइकिलें अब नोडल एजेंसी पर पहुंच चुकी है, जल्द ही छात्राओं को इन्हें दिया जाएगा। 

 

यह भी पढ़ें:

राजस्थान विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया पूरी

राजस्थान विश्वविद्यालय में स्नातक और स्नातकोत्तर कोर्स में प्रवेश के लिए आवेदन की अंतिम तिथि सोमवार देर रात खत्म गई है।

11/06/2019

एमफिल छात्रों ने एमपैट परीक्षा में शामिल करने की मांग को लेकर किया प्रदर्शन

राजस्थान विश्वविद्यालय में एमफिल छात्रों ने एमपेट परीक्षा में शामिल करने की मांग को लेकर प्रदर्शन किया।

17/10/2019

माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की प्रायोगिक परीक्षाएं देंगे 4.39 लाख छात्र

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड की सीनियर सैकेण्डरी के नियमित परीक्षार्थियों की प्रायोगिक परीक्षाओं की तैयारी पूरी हो गई है।

11/01/2020

संस्कृत यूनिवर्सिटी में 30 मार्च तक नहीं लगेगी कक्षाएं, 23 मार्च से यथावत होगी परीक्षाएं

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिए ऐहतियातन जगद्गुरु रामानंदाचार्य राजस्थान संस्कृत यूनिवर्सिटी मदाऊ, जयपुर ने 30 मार्च तक सभी कक्षाओं में अध्यापन कार्य स्थगित कर दिया है। कुलपति डॉ. अनुला मौर्य के निर्देश से विश्वविद्यालय ने निर्णय लिया हैं, जिनकी कठोरता से पालना की जाएगी।

18/03/2020

सीएस कोर्स करना होगा आसान, छात्र कभी भी दें सकेंगे ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा

प्रदेश के साथ ही देशभर के विद्यार्थियों को भारतीय कंपनी सचिव संस्थान में आसानी से प्रवेश मिल सकेगा। इसके लिए संस्थान सीएस की परीक्षा के लिए ऑनलाइन प्रवेश परीक्षा आयोजित करेगा, जिसको छात्र कभी भी अपनी सुविधा के अनुसार दे सकेंगे।

18/11/2019

यूजीसी नेट के आवेदन अब 15 अक्टूबर तक, एनटीए ने अभ्यर्थियों के अनुरोध पर बढ़ाई डेट

राष्ट्रीय परीक्षा एजेन्सी ने दिसम्बर में होने वाली ऑनलाइन राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा के ऑनलाइन आवेदन की अंतिम तिथि को बढ़ाकर 15 अक्टूबर कर दिया है। पूर्व में यह तिथि 9 अक्टूबर को समाप्त हो गई थी।

10/10/2019

ऑनलाइन पढ़ाई के लिए लॉन्च होगा PM ई-विद्या प्लेटफॉर्म, पहली से 12वीं के लिए शुरू होंगे चैनल

केंद्र सरकार ने कोरोना महामारी के कारण लॉकडाउन से स्कूल एवं कॉलेजों के बन्द होने से पढ़ाई नहीं होने की वजह से अब ऑनलाइन तथा डिजिटल शिक्षा को बढ़ाने के लिए 'पीएम ई विद्या' की योजना बनाई है और इसके लिए देश के 100 विश्वविद्यालययों को शामिल किया है तथा हर क्लास के लिए एक चैनल शुरू करने का फैसला किया है।

17/05/2020