Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
स्वास्थ्य

78 वर्षीय बुजुर्ग को मिली राहत, हार्ट वॉल्व का बिना चीरफाड़ के किया प्रत्यारोपण

Friday, March 05, 2021 10:35 AM
सर्जरी करने वाली चिकित्सकों की टीम।

जयपुर। शहर के जगतपुरा स्थित एक निजी अस्पताल में 78 वर्षीय मरीज के हार्ट वॉल्व का बिना किसी चीरफाड़ के सफलतापूर्वक प्रत्यारोपण किया गया है। अस्पताल के वरिष्ठ कार्डियक सर्जन डॉ. समीर शर्मा ने बताया कि मरीज को करीब पांच साल पहले हृदय की नसों में रुकावट के बाद दो स्टंट लगाए गए थे। उसके बाद कुछ सालों तक मरीज को कोई लक्षण नहीं थे। हाल ही में मरीज को कोरोना वायरस का संक्रमण हुआ। इसके बाद उन्हें चलने फिरने में कठिनाई, छाती में दर्द और सांस फूलने की तकलीफ होने लगी। इस पर मरीज को जीवन रेखा हॉस्पिटल लाया गया।

यहां डॉ. समीर शर्मा ने मरीज की उम्र अधिक होने और फेफड़ों की स्थिति कमजोर होने के कारण उन्हें एंजियोप्लास्टी एवं ट्रांसकैथेटर ऑर्टिक वाल्व रिप्लेसमेंट की सलाह दी। सीनियर इंटरवेंशनल कार्डियोलॉजिस्ट डॉ. राम चितलांगिया ने मरीज की एंजियोग्राफी कर एफएफआर तकनीक से हृदय की नस के ब्लॉकेज का ऐस्टीमेशन किया और एफएफआर पॉजिटिव आने के बाद उनके हृदय के मुख्य धमनी में दो स्टंट इंट्रावस्कुलर अल्ट्रासाउंड आईवीयूएस गाइडेंस में प्रत्यारोपित किया। अगले दिन मरीज को ट्रांसकैथेटर ऑर्टिक वॉल्व रिप्लेसमेंट के तहत अत्याधुनिक सेल्फ एक्सपेंडिंग एऑरटिक वॉल्व पैर की नस के जरिए डाला गया।

यह भी पढ़ें:

हार्ट फेल और खराब फेफड़े होने पर एक्मो तकनीक से बच सकती है जान, वर्कशॉप में विशेषज्ञों ने दी ट्रेनिंग

कई बार मरीजों को गंभीर कार्डियक फेलियर, फेफड़े खराब होने के कारण सांस की तकलीफ के कारण अस्पताल में इमरजेंसी में लाया जाता है। मरीज का हृदय या फेफड़े सामान्य रूप से कार्य करने में सक्षम नहीं रहते और रोगी सांस लेने में असमर्थ हो जाता है। ऐसे मरीजों की जान उन्नत एक्मो तकनीक से बचाई जा सकती है।

20/01/2020

देश में 16 प्रतिशत बच्चों में बिस्तर गीला करने की बीमारी

देश में स्कूल जाने की उम्र वाले 12 से 16 प्रतिशत बच्चे सोते समय बिस्तर गीला करने की समस्या से जूझ रहे हैं। यह समस्या न सिर्फ उनके व्यक्तित्व को प्रभावित करती है बल्कि उनके आत्मविश्वास को भी कमजोर कर रही है।

06/04/2019

कोविड के दौर में डेंगू भी दे रहा दस्तक, डेंगू के प्रारंभिक लक्षण कोरोना के जैसे होने से पैदा हो रही उलझन

कोविड महामारी के दौर में जहां लक्षणों के आधार पर जांच व इलाज की दिशा तय की जा रही है, वहीं इस कड़ी में बहुत सी ऐसी बीमारियां भी हैं जिनके प्राथमिक लक्षण कोविड से मिलते जुलते हैं। ये लक्षण लोगों मन में कुछ हद तक उलझन पैदा कर सकते हैं। इन्हीं में से एक है डेंगू।

16/05/2021

विश्व में टीबी के करीब 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित : गुप्ता

आईआईएचएमआर यूनिवर्सिटी के चयेरमैन डॉ. एसडी गुप्ता ने कहा कि विश्व में टीबी के लगभग 20 प्रतिशत मामले तम्बाकू सेवन से संबंधित हैं।

05/12/2019

जयपुर मैराथन : दौड़ लगाकर जयपुरवासियों ने दिया अच्छी फिटनेस रखने का संदेश

कड़ाके की ठंड के बावजूद संडे के दिन देर तक सोने के बजाय देशभर से आए धावकों ने जयपुर मैराथन के 11वें सीजन में भाग लिया। इस दौरान बच्चे, युवा, बुजुर्गों के संग पुलिस, भारतीय सेना और विभिन्न संगठनों के कार्यकर्ता दौड़े।

03/02/2020

पेल्विक बोन ट्यूमर की जटिल सर्जरी, महात्मा गांधी अस्पताल में हुआ सफल ऑपरेशन

महात्मा गांधी अस्पताल के चिकित्सकों ने झुंझुनूं जिले की 14 वर्षीय किशोरी के पेल्विक बोन ट्यूमर की सफल सर्जरी की है। किशोरी अपने बाएं कूल्हे (पेल्विक रीजन) में दर्द को लेकर अस्पताल भर्ती हुई। जांच में उसे इविंग्स सारकोमा नामक कैंसर की पुष्टि हुई। यह बीमारी लाखों में से किसी एक को होती है।

31/01/2021

कश्मीर : ताजा संघर्ष में पांच की मौत, अब तक 63 की मौत

कश्मीर में बडग्राम और अनंतनाग जिले में पत्थर फेंक रहे प्रदर्शनकारियों और सुरक्षा बलों के बीच ताजा संघर्षों में आज पांच लोगों की मौत हो गयी और कई अन्य घायल हो गये. घाटी में कर्फ्यू, पाबंदियों और अलगाववादी समर्थित हड़ताल के कारण आज लगातार 39वें दिन जनजीवन प्रभावित हुआ.

16/08/2016