Dainik Navajyoti Logo
Wednesday 4th of August 2021
 
स्वास्थ्य

कैंसर उपचार में मददगार है साइको थैरेपी, बढ़ाती है रोगियों का इम्यून सिस्टम

Tuesday, February 04, 2020 13:55 PM
कैंसर उपचार में मददगार है साइको थैरेपी।

जयपुर। सीबीटी, सीडीटी और एसडी थैरेपी का उपयोग कैंसर उपचार में एक वरदान के रूप में सामने आ रहा है। एडवांस स्टेज के कैंसर रोगियों में भी उपचार के लिए यह थैरेपी मददगार साबित हो रही है। भगवान महावीर कैंसर हॉस्पिटल एंड रिसर्च सेंटर में उत्तर भारत के पहले साइको ऑन्कोलॉजी विभाग की ओर से दी जा रही यह थैरेपी सभी तरह के कैंसर रोगियों के लिए है। इस थैरेपी के जरिए रोगियों के इम्यून सिस्टम की क्षमता को बढ़ाया जाता है, जिससे रोगी में कैंसर से लड़ने की क्षमता बढ़ रही है।

साइको ऑन्कोलॉजी विभागाध्यक्ष आरती होता ने बताया कि कॉगनेटिव बिहेवियर थैरेपी (सीबीटी), कॉगनेटिव ड्रिल थैरेपी (सीडीटी), मोटिवेशनल इंहैंसमेंट थैरेपी (एमईटी), सिस्टमेटिक डी सेंसटाइजेशन थैरेपी (सीडीटी) और डिगनिटी थैरेपी अहम है। इन थैरेपी के जरिए रोगियों की सोच, मनोभाव, व्यवहार को बदलते हुए उनकी मनोस्थिति को रोग से लड़ने के लिए तैयार किया जाता है। पेलिएटिव एवं सर्पोटिव केयर की विभागाध्यक्ष डॉ. अंजुम खान ने बताया कि जब सही काउंसलिंग और मनोबल को बढ़ाया जाता है तो रोगी की दवाओं का असर भी प्रभावी होता है। मेडिकल ऑन्कोलॉजिस्ट डॉ. ललित मोहन शर्मा ने बताया कि जागरूकता की कमी के चलते आज भी कैंसर रोगी रोग की बढ़ी हुई अवस्था में चिकित्सक के पास पहुंचते है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

संक्रमण से बचाएगा देश का पहला 3D मास्क, SMS हॉस्पिटल एवं MNIT के सहयोग से किया तैयार

कोरोना के बेहतरीन उपचार को लेकर देशभर में विख्यात जयपुर के सवाई मान सिंह अस्पताल के चिकित्सकों व एमएनआईटी जयपुर के सहयोग से कंपनी ने कोरोना से बचाव के लिए ऐसा मास्क बनाया है, जो संक्रमण से 99.9 फीसदी बचाएगा। खास बात ये है कि इस मास्क का विकास एवं निर्माण पूर्णतया जयपुर में हुआ है।

29/12/2020

उत्तर भारत में पहली बार कैडवरिक गुर्दा प्रत्यारोपण, SMS अस्पताल में हुआ सफल लीवर और किडनी ट्रांसप्लांट

एसएमएस अस्पताल के चिकित्सकों ने एक बार फिर अंग प्रत्यारोपण के क्षेत्र में कीर्तिमान स्थापित किया है। यहां चिकित्सकों ने पहली बार स्वयं के स्तर पर लीवर का ट्रांसप्लांट किया है। इस सफलता पर चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने भी उत्तर भारत में पहली बार सफलतापूर्वक कैडवरिक गुर्दा प्रत्यारोपण करने पर एसएमएस प्रबंधन एवं डॉक्टर्स की टीम को बधाई दी है।

13/11/2020

नारायणा हॉस्पिटल में दुर्लभ केस की जटिल सर्जरी, डॉक्टर्स ने बचाई बच्ची की जान

जयपुर के नारायणा हॉस्पिटल में डॉक्टर्स को एक दुर्लभ केस में जटिल सर्जरी कर बच्ची की जान बचाई है। दो साल आठ महीने की काश्वी दिल में छेद, ब्लॉकेज के साथ अत्यंत दुर्लभ जन्मजात विकारों से पीड़ित थी, जिसमें हार्ट और लिवर जैसे महत्वपूर्ण अंग उल्टी दिशा में थे। मामला बेहद जटिल व जोखिम भरा था लेकिन अस्पताल की कार्डियक साइंसेज टीम ने चुनौती स्वीकारी और बच्ची की सफलतापूर्वक सर्जरी की।

03/10/2019

युवाओं और महिलाओं में बढ़ रहे हार्ट फेलियर के मामले, 50 साल से कम उम्र के लोग ज्यादा प्रभावित

जयपुर में एक चौंकाने वाले आंकड़े सामने आए हैं। दरअसल 50 साल से कम आयु वर्ग के मरीजों में हार्ट फेलियर के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। हालांकि आमतौर पर 60 से 65 वर्ष की आयु के लोगों में हार्ट फेलियर होता है।

14/02/2020

इम्यूनिटी और वैक्सीन के बाद हारेगा कोरोना, संक्रमण के फैलाव के साथ लोगों में विकसित हो रही इम्यूनिटी

कोरोना का समय जैसे-जैसे बढ़ता जा रहा है, इसके इलाज और इम्यूनिटी पावर से संबंधित सवालों के जवाब मिल रहे हैं। कुछ देशों से कोरोना की वैक्सीन तैयार करने का दावा भी किया है लेकिन उसके बारे में कुछ स्पष्ट स्थिति सामने नहीं आ रही है। वहीं कोरोना केसों में हो रही वृद्धि के कारण आमजन में हर्ड इम्यूनिटी बढ़ने की चर्चा भी चल रही है।

09/09/2020

SMS अस्पताल: हार्ट ट्रांसप्लांट के बाद मरीज को वेलिंलेटर से हटाया, तबीयत में हो रहा सुधार

सवाई मानसिंह अस्पताल (SMS) में जिस मरीज का हार्ट ट्रांसप्लांट हुआ, उस मरीज को वेंटिलेटर से हटा दिया गया है और उसकी तबीयत में सुधार है।

17/01/2020

ब्रेस्ट कैंसर के खतरे से बचाती है मैमोग्राफी स्क्रीनिंग

भारत में हर साल करीब डेढ़ लाख महिलाओं को ब्रेस्ट कैंसर होता है। अगर एक उम्र के बाद रूटीन चेकअप कराया जाए तो ब्रेस्ट कैंसर के गंभीर परिणामों से बचा जा सकता है।

03/05/2019