Dainik Navajyoti Logo
Thursday 4th of June 2020
 
स्वास्थ्य

विश्व के 83 और भारत के 89 प्रतिशत लोग तनाव में जी रहे : वांगचुक

Tuesday, November 05, 2019 11:45 AM
नोरबू वांगचुक का हैप्पीनेस लैसंस फ्रॉम भूटान विषय पर इंटरेनशनल गेस्ट सैशन आयोजित किया गया।

जयपुर। जयपुरिया इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट, जयपुर में सोमवार को भूटान के पूर्व शिक्षा मंत्री नोरबू वांगचुक का हैप्पीनेस लैसंस फ्रॉम भूटान विषय पर इंटरेनशनल गेस्ट सैशन आयोजित किया गया। ये वर्तमान में 21वीं सदी की अर्थव्यवस्था की एक प्रमुख बिजनेस स्ट्रेटेजी के तौर पर माइंडफुलनेस मेडिटेशन में युवा पीढ़ी व कॉर्पोरेट जगत को सशक्त बना रहे हैं। इसमें नोरबू वांगचुक चीफ  गेस्ट थे। जबकि सेंट जेवियर्स कॉलेज, जयपुर की प्रिंसिपल डॉ. शीला राय गेस्ट आॅफ आॅनर थीं। जयपुरिया जयपुर के डायरेक्टर डॉ. प्रभात पंकज द्वारा दोनों अतिथियों को ग्रीन सर्टिफिकेट प्रदान कर सम्मानित किया गया। इस मौके पर नोरबू वांगचुक ने श्रोताओं को खुश रहने के लिए प्रेरित किया। उन्होंने कहा कि जीडीपी के संदर्भ में देश के विकास को मापने की चूहा दौड़ सही उपाय नहीं है। विश्व के कुल 83 प्रतिशत लोग और भारत के 89 प्रतिशत लोग तनाव में जी रहे है।

बदलाव लाने की जरूरत
वांगचुक ने कंजप्शन, मोर कंजप्शन और माइंडलेस कंजप्शन पर विचार करने और इसमें बदलाव लाने की आवश्यकता पर जोर दिया। उन्होंने बहुत ही कलात्मक ढंग से समझाया कि खुशी माहौल एवं व्यक्ति के दिमाग के वार्तालाप का परिणाम होती है। वांगचुक ने अपने आसपास खुशी का माहौल बनाने के लिए व्यक्तिगत व सामाजिक स्तर पर सचेत प्रयास किए जाने की आवश्यकता पर विशेष ध्यान दिया। डॉ.रॉय ने विभिन्न समाजों एवं सभ्यताओं के उदाहरण देते हुए उनके द्वारा बेहतर जीवन जीने के तरीकों की जानकारी दी। श्रोताओं में जयपुरिया इंस्टीट्यूट आॅफ  मैनेजमेंट और इंडियन इंस्टीट्यूट आॅफ  हैल्थ मैनेजमेंट एंड रिसर्च के स्टूडेंट्स तथा इंडस्ट्री व शिक्षा जगत के आमंत्रित व्यक्ति शामिल थे।

 

यह भी पढ़ें:

सर्जरी में रखे ध्यान, बेहतर होंगे परिणाम

ज्वाइंट रिप्लेसमेंट का मतलब शरीर के किसी भी हिस्से का ज्वाइंट हो सकता है। इसमें घुटनों का बदलना भी शामिल है और हिप रिप्लेसमेंट भी।

14/05/2019

एसएमएस अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में बनेगा स्पेशियलिटी क्लीनिक

सवाई मानसिंह अस्पताल में अब मिर्गी, लकवा, डिमेंशिया एवं मूवमेंट डिस ऑर्डर के मरीजों के लिए राहत की खबर है। इन मरीजों के लिए अस्पताल के न्यूरोलॉजी विभाग में जल्द ही स्पेशियलिटी क्लीनिक शुरू की जाएगी।

22/11/2019

देश में 40 लाख से अधिक लोग अल्जाइमर से पीड़ित

अल्जाइमर एक तरह की भूलने की बीमारी है जो सामान्यतया बुजुर्गों में 60 वर्ष के बाद शुरू होती है। इससे पीड़ित सामान रखकर भूल जाते हैं।

21/09/2019

850 ग्राम की जन्मे शिशु ने जीती जिंदगी की जंग, डॉक्टरों की मेहनत लाई रंग

जहां 850 ग्राम की प्री-मैच्योर डिलीवरी हुई बच्ची को बचा लिया गया।

19/10/2019

Video: गुर्दे का कैंसर पहुंचा हार्ट तक, 8 घंटे की सफल सर्जरी के बाद स्थापित किया कीर्तिमान

यह ट्यूमर किडनी की खून की नली के रास्ते होता हुआ ह्रद्य के निचले चैम्बर तक अपनी जडे जमा चुका था एवं विष्व में इस तरह का यह तीसरा सफल ऑपरेशन है।

06/01/2020

सात वचन निभाये, बाईपास सर्जरी भी कराई एक साथ

जीवन के सभी सुख-दुख साथ बांटने का वादा लिये एक जोड़े ने हार्ट की बायपास सर्जरी जैसा उपचार भी एक ही दिन, एक ही अस्पताल में और एक ही सर्जन से कराया।

05/11/2019

अचानक बढ़ जाती है दिल की धड़कन तो हो सकता है आईएसटी, जानें डॉक्टर की राय

दिल के साथ-साथ शरीर के अन्य महत्वपूर्ण अंगों जैसे फेफड़े, लीवर, किडनी और दिमाग को भी नुकसान पहुंचा सकती है। ऐसी ही एक बीमारी इनएप्रोप्रीऐट साइनस टेककार्डिया (आईएसटी) है।

25/12/2019