Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 10th of December 2019
 
खेल

गांगुली का कार्यकाल बढ़ाने की तैयारी

Monday, December 02, 2019 11:35 AM
वैभव बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली से मिले।

मुंबई। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई) अपने अध्यक्ष सौरव गांगुली का कार्यकाल बढ़ाने की तैयारी में है और इसके लिए बीसीसीआई ने रविवार यहां आयोजित 88वीं वार्षिक आम बैठक में अपने पदाधिकारियों के कार्यकाल की सीमा में ढिलाई देने को मंजूरी दे दी। गांगुली ने 23 अक्टूबर को बीसीसीआई के नए अध्यक्ष का पद संभाला था और उन्हें अगले साल यह पद छोड़ना होगा, लेकिन छूट दिए जाने के बाद वह 2024 तक बीसीसीआई के बॉस बने रह सकते हैं। बीसीसीआई की एजीएम में यह फैसला लिया गया। हालांकि इसके लिए बोर्ड को सुप्रीम कोर्ट की मंजूरी की जरूरत होगी।

लोढा कमेटी की सिफारिशों में बदलाव को दी मंजूरी
एजीएम में लोढा कमेटी की सिफारिशों में बदलाव को मंजूरी दे दी गई है। यह फैसला इसलिए लिया गया है ताकि उच्च पदों पर बैठे अधिकारियों के कार्यकाल को बढ़ाया जा सके। सभी प्रस्तावित संशोधनों को स्वीकृति के लिए शीर्ष अदालत में भेजा जाएगा। यदि सर्वोच्च अदालत इन प्रस्तावित संशोधनों को मंजूरी दे देती है तो गांगुली 2024 तक बीसीसीआई के बॉस बने रह सकते हैं।

जुलाई में खत्म होगा कार्यकाल
बीसीसीआई के मौजूदा संविधान के अनुसार अगर किसी पदाधिकारी ने बीसीसीआई या राज्य संघ में कुल मिलाकर तीन साल के दो कार्यकाल पूरे कर लिए हों जो उसे तीन साल की कूलिंग अवधि में जाना पड़ेगा। भारत का पहला डे-नाईट टेस्ट कराने वाले गांगुली का कार्यकाल अगले साल जुलाई में खत्म हो रहा है और इसे 2024 तक बढ़ाया जा सकता है।

कूलिंग अवधि पर हुई चर्चा
गांगुली बंगाल क्रिकेट संघ (सीएबी) के 5 साल 3 महीने तक अध्यक्ष रह चुके हैं। 23 अक्टूबर को उन्हें बीसीसीआई का नया अध्यक्ष चुना गया। इस लिहाज से उनके पास 9 महीने का कार्यकाल ही बचा था। उनका 9 महीने का कार्यकाल अगले साल जुलाई में खत्म हो रहा है। सुप्रीम कोर्ट द्वारा स्वीकृत संविधान के अनुसार अगर कोई पदाधिकारी बीसीसीआई या राज्य संघ में तीन साल के दो कार्यकाल पूरा कर लेता है, तो उसे तीन साल का अनिवार्य ब्रेक (कूलिंग अवधि) लेना होगा। बीसीसीआई का नया प्रशासन इसी कूलिंग अवधि को समाप्त करना चाहता है। एजीएम में कूलिंग अवधि को समाप्त करने पर गहरी चर्चा हुई। पदाधिकारी चाहते हैं कि यह ब्रेक बोर्ड और राज्य संघ में दो कार्यकाल अलग पूरे करने पर हो। बीसीसीआई के इन प्रस्तावों पर सुप्रीम कोर्ट तीन दिसम्बर को सुनवाई कर सकता है।

जय शाह आईसीसी में बोर्ड का प्रतिनिधित्व करेंगे
बीसीसीआई की एजीएम की शुरूआत पूर्व केंद्रीय मंत्री और भाजपा के दिवंगत नेता अरुण जेटली को श्रद्धांजलि देने के साथ हुई। यह बैठक पूर्व भारतीय कप्तान सौरव गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के बाद पहली बैठक थी। बैठक में सभी 38 सदस्य शामिल हुए। बैठक में यह फैसला किया गया कि बोर्ड के सचिव जय शाह अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) की चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी (सीईसी) की बैठक में बोर्ड का प्रतिनिधित्व करेंगे। शाह 23 अक्टूबर को गांगुली के बीसीसीआई अध्यक्ष बनने के साथ सचिव बने थे। जय शाह केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के बेटे हैं।

राहुल जौहरी थे बोर्ड के प्रतिनिधि
चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी की जब भी बैठक होगी, शाह इसमें बोर्ड का प्रतिनिधित्व करेंगे। चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी की अगली बैठक की तारीख और स्थल अभी तय नहीं हुआ है। जब बोर्ड का प्रशासनिक काम उच्चतम न्यायालय द्वारा नियुक्त प्रशासकों की समिति (सीओए) देख रही थी तब बीसीसीआई के मुख्य कार्यकारी अधिकारी राहुल जौहरी बोर्ड के प्रतिनिधि का काम भी देख रहे थे। इस तरह बोर्ड में पूर्व स्थिति बहाल हो गई है जिसमें सचिव चीफ एग्जीक्यूटिव कमेटी की बैठक में बोर्ड का प्रतिनिधित्व करता है।

वित्तीय फैसलों पर उठाए सवाल
बैठक के दौरान कुछ सदस्यों ने प्रशासकों की समिति (सीओए) के कार्यकाल के दौरान लिए गए वित्तीय फैसलों पर भी सवाल उठाए। सीओए ने 33 महीने तक बोर्ड का कार्यभार संभाला था जिसके बाद गांगुली बोर्ड के अध्यक्ष बने। बैठक में पिछले वित्तीय तीन साल के खातों की भी जांच की गई।

चयनकर्ताओं का कार्यकाल समाप्त
संविधान के अनुसार बीसीसीआई को एजीएम में क्रिकेट सलाहकार समिति की नियुक्ति करनी थी जो पुरुष सीनियर चयन समिति की नियुक्ति करती लेकिन बैठक में बताया गया कि क्रिकेट सलाहकार समिति और अन्य क्रिकेट समितियों का फैसला बीसीसीआई पदाधिकारियों द्वारा निकट भविष्य में किया जाएगा। मौजूदा चयन समिति के अध्यक्ष एमएसके प्रसाद और सदस्य गगन खोड़ा का कार्यकाल समाप्त हो चुका है।

जल्द ही मिलेंगे अंतरराष्ट्रीय मैच
राजस्थान क्रिकेट एसोसिएशन के अध्यक्ष वैभव गहलोत ने भी रविवार को बीसीसीआई की एजीएम में शिरकत की। वैभव  बीसीसीआई के अध्यक्ष सौरव गांगुली और सचिव जय शाह से मिले और उनका आभार जताया। उन्होंने आरसीए के विभिन्न मुद्दों पर सौरव गांगुली से चर्चा की। सूत्रों के अनुसार बीसीसीआई ने औपचारिक रूप से टीम राजस्थान को समाप्त कर दिया है और मार्च 2020 के बाद राजस्थान में अन्तरराष्ट्रीय मैचों की वापसी हो सकती है।
 

यह भी पढ़ें:

अफ्रीका के खिलाफ टी-20 टीम में धोनी को जगह नहीं, हार्दिक की वापसी

आलराउंडर हार्दिक पांड्या की दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 15 सितम्बर से शुरू होने वाली तीन मैचों की ट्वेंटी-20 सीरीज के लिए गुरूवार को घोषित भारत की 15 सदस्यीय टीम में वापसी हो गई है, जबकि तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार को टीम से बाहर किया गया है।

30/08/2019

वार्नर को औरेंज कैप मिलना तय, रबादा को ताहिर से चुनौती

आईपीएल के 12वें संस्करण में अब सिर्फ दूसरा क्वालिफायर और फाइनल बच गए हैं। ऐसे में सर्वाधिक रनों के लिये औरेंज कैप सनराइजर्स हैदराबाद के डेविड वार्नर को मिलना लगभग तय हो चुका है

10/05/2019

नांदू गुट ने धिक्कार दिवस मनाया

राजस्थान क्रिकेट संघ के सचिव राजेन्द्र सिंह नांदू गुट ने रविवार को राज्य में क्रिकेट की दुर्गति को लेकर रविवार को धिक्कार दिवस मनाया।

03/06/2019

प्लेऑफ की उम्मीदें बनाए रखने उतरेगी बेंगलुरू

आईपीएल तालिका में आखिरी स्थान पर मौजूद विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू बुधवार को अपने घरेलू मैदान पर किंग्स इलेवन पंजाब की मेजबानी करने उतरेगी

24/04/2019

काम बिगाड़ सकते हैं विराट के चैलेंजर्स

इंडियन प्रीमियर लीग के 12वें संस्करण में भी फिसड्डी साबित हुई विराट कोहली की रॉयल चैलेंजर्स बेंगलुरू टूर्नामेंट से बाहर हो चुकी है

30/04/2019

अंडर-19 मीनू मांकड़ ट्रॉफी और कूच बिहार ट्रॉफी प्रतियोगिताओं के लिए ओपन ट्रायल शुरू

आगामी सत्र 2029-20 के लिए बीसीसीआई की ओर से आयोजित की जाने वाली अंडर -19 मीनू मांकड़ ट्राफी और अंडर-19 कूच बिहार ट्राफी प्रतियो

04/06/2019

भगवान भरोसे चल रही है राजस्थान खेल परिषद, सिर्फ क्रिकेट की फिक्र

राजस्थान खेल परिषद इन दिनों भगवान भरोसे ही चल रही है। परिषद के अधिकारियों को फिक्र है तो सिर्फ क्रिकेट की। अन्य खेलों पर ध्यान देने का वक्त ही नहीं है। अधिकारियों की अनदेखी का खामियाजा उठा रहे हैं प्रदेश के खिलाड़ी।

10/10/2019