Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 28th of September 2021
 
खेल

गेंद की चमक बनाए रखने के लिए दूसरे विकल्प की जरुरत: बुमराह

Monday, June 01, 2020 16:55 PM
जसप्रीत बुमराह (फाइल फोटो)

नई दिल्ली। अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट परिषद (आईसीसी) के वैश्विक महामारी कोरोना वायरस के कारण बनाये गए नए दिशा-निर्देशों को लेकर भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने कहा है कि गेंद को चमकाने और उसकी चमक बनाए रखने के लिए गेंदबाजों को दूसरे विकल्प की जरुरत है। आईसीसी की तकनीकी समिति ने गेंद को चमकाने के लिए लार पर रोक लगाने की सिफारिश की है जिसके बाद दुनिया भर के तेज गेंदबाजों ने इस सिफारिश पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की है और अधिकतर तेज गेंदबाजों का मानना है कि इससे तेज गेंदबाजों के हाथों से स्विंग और रिवर्स स्विंग जैसा हथियार निकल जाएगा।

बुमराह ने आईसीसी के इनसाइड-आउट साक्षात्कार में कहा कि एक ही चीज जो मुझे प्रभावित करती है वो है लार। मुझे नहीं पता जब हम वापस मैदान पर जाएंगे तो कौन-कौन से दिशा-निर्देशों का हमें पालन करना होगा, लेकिन मेरा मानना है कि लार के अलावा कोई दूसरा विकल्प होना चाहिए। अगर गेंद सही से नहीं चमकेगी तो गेंदबाजों के लिए बहुत परेशानी होगी। उन्होंने कहा कि मैदान और छोटे होता जा रहे हैं और पिच सपाट होती जा रही है इसलिए हमें कुछ तो चाहिए। गेंदबाजों के लिए कोई विकल्प तो होना चाहिए, जिससे वे गेंद की चमक को बनाए रख सकें, जिससे गेंद रिवर्स या पारंपरिक स्विंग तो हो सके।

बुमराह ने कहा कि टेस्ट मुकाबलों में परिस्थिति गेंदबाजों के अनुकूल होती है इसलिए यह मेरा पसंदीदा प्रारूप हैं। लेकिन वनडे क्रिकेट में दो नई गेंद मिलती है इसलिए अंतिम ओवरों में गेंद रिवर्स स्विंग होती ही नहीं है। बुमराह ने विकेट लेने के बाद खिलाड़ियों के एक-दूसरे को ताली न देने पर अपनी सलाह देते हुए कहा कि विकेट लेने के बाद मैं बहुत अधिक उत्साहित नहीं होता हूं और मैं ताली देने (हाई फाइव) वाला इंसान भी नहीं हूं इसलिए मुझे एक-दूसरे को ताली देने पर प्रतिबन्ध लगाए जाने से खास परेशानी नहीं हैं। छोटे मैदानों को लेकर उन्होंने कहा कि भारतीय टीम इस वर्ष के शुरू में न्यूजीलैंड में खेली थी,वहां मैदान की बाउंड्री 50 मीटर के आसपास होती है। इसलिए अगर कोई बल्लेबाज छक्का मारने की सोच भी नहीं रहा है तो वो मैदान इतना छोटा है कि गेंद छक्के के लिए जा सकती है।

विश्व के नंबर दो गेंदबाज ने कहा कि जब भी हम खेलते है तो हम देखते हैं कि बल्लेबाज गेंद स्विंग होने की शिकायत कर रहे होते हैं। खैर हमारी टीम में कोई बल्लेबाज यह नहीं कहता। लेकिन गेंद का काम ही घूमना है। गेंद का काम ही कुछ हरकत करना है। हम केवल सीधी-सीधी गेंद फेकने के लिए नहीं हैं। मैं बल्लेबाजों को यही कहता हूं। मुझे यह भी नहीं याद कि वनडे क्रिकेट में आखिरी बार गेंद कब रिवर्स हुई थी। आज कल नई गेंद अधिक स्विंग भी नहीं करती है। किसी भी तेज गेंदबाज के लिए लय में होना बहुत महत्वपूर्ण है और बुमराह ने न्यूडीलैंड के खिलाफ हुई टेस्ट सीरीज के बाद से अबतक गेंदबाजी नहीं की है। इसको लेकर उन्होंने कहा कि वह कड़ी मेहनत कर रहे है ताकि क्रिकेट के फिर से शुरू होने से पहले थोड़ी बहुत लय हासिल कर लें।

कोरोना वायरस के कारण बंद पड़ी खेल गतिविधियों के फिर से शुरू होने को लेकर तेज गेंदबाज ने कहा कि मुझे सच में नहीं पता कि यह कब शुरू होगा और जब आप दो-तीन महीने तक गेंदबाजी नहीं करते हैं तो शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा। इसलिए मैं लगातार अभ्यास करने की कोशिश कर रहा हूं ताकि जब भी मैदान खुले मैं थोड़ी बहुत लय हासिल कर सकूं। मैं सप्ताह के लगभग 6 दिन अभ्यास कर रहा हूं लेकिन मैंने लम्बे समय से गेंदबाजी नहीं की है इसलिए मुझे नहीं पता कि जब मैं गेंदबाजी करना शुरू करूंगा तो शरीर कैसी प्रतिक्रिया देगा।

बुमराह ने अपने अनूठे गेंदबाजी एक्शन के लिए कहा कि क्रिकेट खेलने की शुरुआत में मैं कभी किसी प्रोफेशनल कोच के पास नहीं गया था। जो भी मैंने सीखा खुद ही सीखा। मैंने जो भी देखा और सीखा वो सब टीवी और वीडियो देखकर सीखा, इसलिए मुझे नहीं पता यह एक्शन कैसे आया। हमेशा कुछ लोग शक करते थे कि मुझे इस एक्शन को बदलना चाहिए या नहीं, लेकिन मैंने वास्तव में कभी भी उनकी बात नहीं सुनी है और मुझे हमेशा विश्वास था कि यह काम कर सकता है। उन्होंने अपने छोटे रन अप का रहस्य बताते हुए भी कहा कि रन अप इसलिए छोटा है, क्योंकि मेरे घर के पीछे बहुत ज्यादा जगह नहीं थी और हम बचपन में वहीं खेलते थे। वहां बहुत लम्बा रन अप लेने की जगह नहीं थी और छोटे रन अप का शायद यही कारण हो सकता हैं। बुमराह ने कहा कि जब मैं टेस्ट मैच खेलता हूं तो छोटे रन अप से मुझे मदद मिलती है, क्योंकि जब मैं अपना चौथा या पांचवां स्पैल डालता हूं तो मैं उन गेंदबाजों की तुलना में ज्यादा तरोताजा होता हूं, जो मेरे साथ खेलते हैं और लम्बे रन अप इस्तेमाल करते हैं।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

रणजी ट्रॉफी : हैदराबाद के खिलाफ शिखर धवन का नाबाद शतक, दिल्ली को संकट से उबारा

बाएं हाथ के सलामी बल्लेबाज शिखर धवन ने नाबाद 137 रनों की जबरदस्त पारी खेल कर अपनी फॉर्म और फिटनेस दोनों में वापसी कर ली है। शिखर की कप्तानी की जिम्मेदारी भरी शतकीय पारी की बदौलत दिल्ली ने हैदराबाद के खिलाफ पहले दिन 66 ओवर में 6 विकेट पर 269 रन बना लिए।

25/12/2019

सिंधू, साक्षी, दीपा और जीतू बने खेल रत्न, 15 खिलाड़ियों को अर्जुन पुरस्कार

नई दिल्ली। राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी ने रियो ओलंपिक में बैडमिंटन में रजत विजेता पीवी सिंधू, कांस्य पदक विजेता महिला पहलवान साक्षी मलिक, जिमनास्ट दीपा करमाकर और निशानेबाज जीतू राय को सोमवार को खेल दिवस के दिन देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न से सम्मानित किया।

29/08/2016

मानसिक बीमारी से उबरने के लिए ब्रेक लेंगे मैक्सवेल

ऑस्ट्रेलिया के स्टार ऑलराउंडर ग्लेन मैक्सवेल इन दिनों मानसिक बीमारी से जूझ रहे हैं, जिसके उबरने के लिए उन्होंने कुछ समय क्रिकेट से विश्राम लेने का फैसला किया है। मैक्सवेल मानसिक रूप से अपनी फिटनेस समस्याओं के कारण पाकिस्तान के खिलाफ आगामी टी-20 सीरीज में हिस्सा नहीं ले पाएंगे।

31/10/2019

पुणे टी-20 में सीरीज जीत के लिए उतरेगी टीम इंडिया, तीन मैचों की सीरीज में 1-0 से आगे भारत

विराट कोहली की अगुवाई वाली भारतीय क्रिकेट टीम पुणे में शुक्रवार को तीसरे और अंतिम टी 20 मुकाबले में श्रीलंका के खिलाफ जीत के साथ सीरीज में 2-0 की जीत के लक्ष्य के साथ उतरेगी। गुवाहाटी में पहला मैच रद्द रहने के बाद तीन मैचों की सीरीज में टीम इंडिया 1-0 की बढ़त बना चुकी है।

09/01/2020

सुशीला को तिहरे खिताब

जयपुर की सुशील काजला ने रविवार को यहां एसएमएस स्टेडियम में सम्पन्न अखिल भारतीय मास्टर्स बैडमिंटन प्रतियोगिता में शानदार प्रदर्शन करते हुए तिहरे खिताब जीत लिए।

08/04/2019

New Zealand will be hiding Rustam: Kapil

भारत के विश्व कप विजेता कप्तान कपिल देव ने कहा था कि न्यूजीलैंड की टीम इस विश्व कप की सरप्राइज पैकेज होगा और किवी टीम ने अभ्यास मैच में विश्व की दूसरे नंबर की टीम भारत को छह

27/05/2019

भारत दौरे में द. अफ्रीका के बल्लेबाजी कोच बने मुजुमदार

क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका ने मुंबई के पूर्व बल्लेबाज अमोल मुजुमदार को दक्षिण अफ्रीका की भारत के खिलाफ तीन मैचों की टेस्ट सीरीज के लिए बल्लेबाजी कोच नियुक्त किया है। टेस्ट सीरीज की शुरुआत दो अक्टूबर को विशाखापत्तनम से होगी।

10/09/2019