Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 28th of September 2021
 
राजस्थान

फोन टैपिंग मामले को लेकर विधानसभा में दूसरे दिन भी हंगामा, पक्ष-विपक्ष में जमकर हुई तू-तू मैं-मैं

Wednesday, March 17, 2021 14:35 PM
सदन में वेल में बैठे विपक्षी सांसद।

जयपुर। प्रदेश में फोन टैपिंग मामले को लेकर विधानसभा में बुधवार को भी विपक्ष का हंगामा जारी रहा। मामले में एक घंटे की विशेष चर्चा के बाद सरकार के जवाब से नाराज विपक्ष ने जमकर हंगामा किया और सीबीआई जांच की मांग को लेकर वेल में  नारेबाजी की। इस दौरान पक्ष-विपक्ष आमने सामने हो गया और आपस में जमकर तू-तू, मैं-मैं हुई। इससे पहले भाजपा विधायक मदन दिलावर का निलंबन भी बहाल कर दिया गया और वे सदन में आकर बैठे। विधानसभा में प्रश्नकाल समाप्त होने के बाद स्पीकर सीपी जोशी ने फोन टैपिंग मामले को लेकर विशेष चर्चा आहूत करते हुए नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया को बोलने का मौका दिया। कटारिया ने कहा कि जिस तरह से फोन टैपिंग को लेकर सवाल में यह जानकारी दी गई है कि फोन टैप करवाए गए हैं, ऐसे में हम जानना चाहते हैं कि किसकी अनुमति से फोन टैप करवाए गए, जो सीधा-सीधा एक तरह से व्यक्ति की निजता पर हमला है।

कटारिया ने कहा कि सरकार यह बताएं कि जो ऑडियो क्लिपिंग के साथ मुख्य सचेतक ने एफआईआर करवाई थी, वह ऑडियो क्लिपिंग कहां से आई। उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि जिस तरह से फर्जी ऑडियो के हवाले से एफआईआर दर्ज करवाई गई है, उनकी स्पष्ट जांच होनी चाहिए, जिससे सारी स्थिति स्पष्ट हो जाएगी। विधायक सतीश पूनिया ने कहा कि जब-जब, जहां-जहां फोन टैपिंग के मामले सामने आए हैं वहां सरकारों को जाना पड़ा है, ऐसे में अब राज्य सरकार की बारी आ गई है। जवाब में संसदीय कार्य मंत्री शांति धारीवाल ने कहा कि केंद्र की एजेंसी क्या कर रही है। राजीव अरोड़ा, धर्मेंद्र राठौड़, सीएम के बड़े भाई के यहां छापे मारे, लेकिन कभी बीजेपी नेता के यहां पड़े क्या? विपक्ष इस मुद्दे पर फिजूल वक्त बर्बाद कर रहा है। विपक्ष को माफी मांगनी चाहिए।

धारीवाल ने कहा कि यह चिंगारी कालीचरण सराफ के सवाल से उठी है। उन्होंने जैसा पूछा वैसा ही जवाब दिया गया। उन्होंने कहा कि पुलिस अधिकारी विनय कुमार जैन को वॉइस रिकॉर्ड शाखा में अधिकृत किया गया। उन्होंने अवैध हथियारों के संदर्भ में बातें रिकॉर्ड में आने पर दो बाहरी व्यक्तियों के फोन टैप किए गए, उसमें सरकार गिराने को लेकर भी थी, जिसमें कई नाम सामने आए, जिसमें गजेंद्र सिंह शेखावत भी है, लेकिन वो आखिर क्यों वॉयस टेस्ट नहीं दे रहे है, इसमें शक है। धारीवाल ने कहा कि लोकतांत्रिक ढंग से चुनी हुई सरकार गिराने के षड्यंत्र में गजेंद्र सिंह का नाम भी आया, जो संजय जैन से बात कर रहे हैं। अब कौन गजेंद्र सिंह है। जैसे ही केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह का नाम आया उस वक्त ही उन्हें पीएम मोदी को हटा देना चाहिए था।

धारीवाल ने कहा कि मुख्यमंत्री इस मामले में सदन में पहले ही जवाब दे चुके है। राजस्थान में कभी फोन टेपिंग की परम्परा नहीं रही है। सीएम कह चुके है कि जब भैरों सिंह शेखावत सरकार को गिराने के दो बार प्रयास हुए तब में खुद गया पीएम नरसिम्हा राव के पास और सरकार गिराने के दुष्चक्र का हिस्सा नहीं बने। धारीवाल ने कहा कि अभिव्यक्ति की आजादी की बात बीजेपी नेता करे तो अचरज भरा है। आपकी जिद है आप हमें जीने नहीं दोगे, जनता की जिद है हम तुम्हें जीने नहीं देंगे। धारीवाल ने कहा कि फोन टैपिंग के लिए केंद्र में 9 एजेंसी है लेकिन राजस्थान में एक पुलिस को ही अधिकार है जो नियमों और एक्ट के तहत टैपिंग की कार्रवाई करती है। जहां तक सरकार पर फोन टैपिंग का आरोप है, सरकार ने ऐसा कुछ नहीं किया है कि किसी की निजता भंग की जाए। अगर विपक्ष साबित कर देगा कि सरकार ने फोन टैपिंग या फर्जी क्लिपिंग बनाई है, तो पूरी सरकार इस्तीफा दे देंगी। सरकार ने किसी सांसद, मंत्री, विधायक और जनप्रतिनिधि का फोन टैप नहीं करवाया है। केवल बाहरी व्यक्तियों की वार्तालाप के ऑडियो क्लिप के आधार पर एफआईआर दर्ज करवाई। अब एसओजी ने मामला एसीबी को ट्रांसफर कर दिया है, जहां अनुसंधान जारी है।

धारीवाल ने कहा कि केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने वॉइस सैंपल देने से इंकार कर दिया, इसके कारण यह कार्रवाई आगे नहीं बढ़ सकी है। विपक्ष की ओर से जो आरोप लगाए जा रहे हैं वह गलत है। फोन टैपिंग मोदी सरकार करवाती है। धारीवाल के जवाब के बाद उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने कहा कि मैं प्रस्ताव करता हूं कि इस मामले की किसी स्वतंत्र एजेंसी को जांच दी जाए। ऐसे में प्रस्ताव करता हूं कि इसकी जांच सीबीआई को दी जाए। इसी दौरान धारीवाल ने कहा कि मोदी सरकार ने 90000 लोगों के फोन टैप करवाए हैं। सत्ता पक्ष के लोगों ने एक पोस्टर भी लहराया। उसके बाद भाजपा विधायक आक्रोशित हो गए और नेता प्रतिपक्ष ने भी विरोध जताया। विपक्षी सदस्य वेल में आकर सीबीआई जांच की मांग करने लगे। शोर-शराबे के चलते स्पीकर ने सदन की कार्रवाई आधा घंटे के लिए स्थगित कर दी। इसके बाद आसान पर सभापति महेन्द्र सिंह मालवीय आए तो विपक्ष ने नारेबाजी शुरू कर दी, तो सभापति ने आधे घंटे के लिए फिर कार्यवाही स्थगित कर दी। इसके बाद स्पीकर ने विपक्ष के सदस्यों को चैंबर में बुलाकर गतिरोध खत्म करवाया।

आंजना और कटारिया में गाली-गलौच
विपक्ष जब वेल में आकर नारेबाजी कर रहा था और स्पीकर ने सदन की कार्यवाही आधा घंटे के स्थगित कर दी, इसके बाद आंजना विपक्ष की तरफ आए। इस दौरान एक टिप्पणी को लेकर बात गाली गलौज तक पहुंच गई। इस मामले में स्पीकर ने दोनों से समझाइश कर मामले को खत्म करवाया।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

गहलोत की केन्द्र से मांग, जोधपुर, भरतपुर और बीकानेर को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल करें

राजस्थान के जोधपुर, भरतपुर और बीकानेर शहर को स्मार्ट सिटी योजना में शामिल करने के लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने केंद्र सरकार को पत्र लिखा है।

25/06/2019

रिकाउंटिंग की मांग को लेकर धरने पर बैठी तबस्सुम, जबरन महारानी कॉलेज में घुसा पति

महारानी कॉलेज में छात्रसंघ चुनाव के नतीजे जारी हो चुके हैं। अध्यक्ष पद की उम्मीदवार तबस्सुम बानो ने परिणामों पर आपत्ति जताते हुए दोबारा मतों की गिनती कराने की मांग की है।

28/08/2019

गहलोत ने 11 पाक विस्थापितों की मौत पर व्यक्त किया शोक, कहा- सामने लाई जाएगी घटना की सच्चाई

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत बुधवार को जोधपुर पहुंचे और गंगाणा के पास अल्कोसर नगर भील बस्ती में बीते दिनों पाक विस्थापित भील परिवार के 11 जनों की मौत की दुःखद घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया। गहलोत ने यहां शोकसभा में सभी दिवंगतों को श्रद्धांजलि दी तथा दो मिनट का मौन रखा।

12/08/2020

जल जीवन मिशन: 11 परियोजनाओं की नहीं बनी डीपीआर, 18 स्कीम्स में काम शुरू नहीं, सीई को सौंपी जांच

जल जीवन मिशन के तहत कई परियोजनाओं को मंजूरी देने के बाद भी कार्य आगे नहीं बढ़ सका है। 11 परियोजनाओं की डीपीआर जारी करने के लिए पूर्व में जारी की गई स्वीकृति के बाद भी ये समय पर तैयार नहीं हो पाई है। इसके साथ ही 10 प्रोजेक्ट्स में 2 लाख 42 हजार घरों तक नल से जल कनेक्शन जारी करने की भी पूर्व में स्वीकृति जारी की गई थी, जिसमें से मात्र 8 हजार कनेक्शन ही जारी किए गए हैं।

12/02/2021

स्कूलों में बालिकाओं को बनाया शिक्षक

बालिका दिवस पर स्कूलों में बालिकाओं को शिक्षक बनाया गया। शिक्षकों ने बालिकाओं को एक दिन के लिए शिक्षक बनया गया।

11/10/2019

उदयपुर में 7, राजसमंद-डूंगरपुर में 13-11 नए मरीज

उदयपुर। शहर में शनिवार को सात रोगी पॉजिटिव आए और पॉजिटिव रोगियों का आंकड़ा बढ़ कर 641 हो गया है। दिन भर में 998 सैंपल जांच में पॉजिटिव आए सात रोगियों में पांच मुम्बई से लौटे हैं।

20/06/2020

वाहन चोर गैंग का पर्दाफाश, तीन आरोपियों सहित बाइक बरामद

क्षेत्र में हो रही चोरियों की रोकथाम को लेकर जैतारण पुलिस उप अधीक्षक सुरेश कुमार पुलिस अधिकारी रविन्द्र सिंह खीची के निर्देशानुसार चलाए जा रहे अभियान के अंतर्गत आनंदपुर कालू पुलिस ने बाइक चोरी गिरोह को पकड़ा।

14/06/2019