Dainik Navajyoti Logo
Friday 14th of May 2021
 
राजस्थान

राजस्थान में ई-ऑक्सन से दिए जाएंगे 111 रॉयल्टी ठेके, दुनिया के किसी भी कोने से इच्छुक ले सकेंगे हिस्सा

Sunday, September 06, 2020 14:00 PM
फाइल फोटो।

जयपुर। राज्य सरकार ने रॉयल्टी ठेकों की नीलामी प्रक्रिया को निष्पक्ष व पारदर्शी बनाने, छीजत रोकने और अधिक राजस्व प्राप्त करने की कवायद शुरु कर दी है। माइन्स व पेट्रोलियम विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया है कि राज्य में खान विभाग के रॉयल्टी ठेकों की रॉयल्टी कलेक्सडन कॉन्ट्रैक्ट (आरसीसी) और एक्सेस रॉयल्टी कलेक्सन कॉन्ट्रैक्ट (ईआरसीसी) की नीलामी में देश-दुनिया में कहीं भी बैठा हुआ व्यक्ति हिस्सा ले सकेगा। विभाग ने पहले चरण में ई-ऑक्सन की पारदर्शी व्यवस्था से राज्य के 111 रॉयल्टी ठेकों के आरसीसी और ईआरसीसी की नीलामी की तैयारी पूरी कर ली है। उन्होंने बताया कि प्रदेश के 111 रॉयल्टी ठेकों के लिए 14 सितम्बर से नीलामी की ई-ऑक्सन प्रक्रिया शुरु हो जाएगी जो 6 अक्टूबर तक जारी रहेगी। एक मोटे अनुमान के अनुसार इन 111 रॉयल्टी ठेकों से एक हजार करोड़ रुपए से अधिक के राजस्व की प्राप्ति होगी।

अतिरिक्त मुख्य सचिव डॉ. सुबोध अग्रवाल ने बताया कि राज्य सरकार प्रदेश में बजरी सहित अन्य खनिजों से राजस्व छीजत को रोकने के लिए सख्त कदम उठा रही है। 14 सितंबर से राज्य के 111 रॉयल्टी ठेकों की नीलामी प्रक्रिया को पारदर्शी व निष्पक्ष बनाने के लिए भारत सरकार द्वारा प्रधान खनिजों के नीलामी के ऑनलाईन एमएसटीसी पोर्टल पर ई-नीलामी की व्यवस्था की गई है। उन्होंने बताया कि इससे देश-दुनिया में कहीं से भी कोई भी व्यक्ति इस ई-नीलामी प्रक्रिया में हिस्सा ले सकेगा। ई-नीलामी की इस ऑनलाईन व्यवस्था में कोई व्यक्ति या फर्म को खान विभाग में पंजीकृत नहीं होने की स्थिति में भी राशि जमा कराकर नीलामी में हिस्सा लेने का अवसर दिया गया है। इस तरह के इच्छुक बोली लगाने वाले 15 दिवस में पंजीकरण की कार्यवाही पूरी कर सकेंगे।

अग्रवाल ने बताया कि सेंड स्टोन, मार्बल, ग्रेनाइट, मैसेनरी स्टोन, सोप स्टोन, जिप्सम, फेल्सपार आदि की खनन गतिविधियां संचालित हो रही है। उन्होंने बताया कि इनके आरसीसी और ईआरसीसी के ठेकों के लिए केन्द्र सरकार के पोर्टल पर ई ऑक्सन के माध्यम से 14 सितंबर से 6 अक्टूबर तक इच्छुक व्यक्ति हिस्सा ले सकेंगे। उन्होंने बताया कि आरसीसी व ईआरसीसी के यह ठेके उदयपुर, चूरू, भरतपुर, चित्तौड़गढ़, पाली, बूंदी, सीकर, नागौर, सिरोही, बाड़मेर, कोटा, अजमेर, जयपुर, राजसमंद, जैसलमेर, अलवर, टोंक, जोधपुर, भीलवाड़ा, दौसा, डूंगरपुर, झुंझुनूं, हनुमानगढ़, धौलपुर, जालोर, बीकानेर, जैसलमेर, प्रतापगढ़ और बांसवाड़ा आदि जिलों की खानों के रॉयल्टी संग्रहण के लिए दिए जाएंगे। खान निदेशक केबी पण्ड्या ने बताया कि रॉयल्टी ठेको की नीलामी की पूरी जानकारी विभागीय वेबसाइट पर भी देखी जा सकती है। उन्होंने बताया कि प्रदेश्‍ में करीब 197 रॉयल्टी ठेके दिए जाते हैं। वर्तमान में 51 ठेके प्रभावी है।

यह भी पढ़ें:

सीमावर्ती जिलों में कानून व्यवस्था हो पुख्ता : अरोड़ा

भारत के मुख्य निर्वाचन आयुक्त सुनील अरोड़ा ने वीडियो कॉन्फ्रेसिंग के जरिए हरियाणा से सटे जिलों में कानून व्यवस्था की समीक्षा की।

17/10/2019

साल के अन्त तक शुरू होगा मुकन्दरा टाइगर रिजर्व

प्रदेश की तीसरी बाघ परियोजना मुकन्दरा टाइगर रिजर्व शीघ्र ही पर्यटकों और वन्यजीव प्रेमियों के लिए खोले जाने की संभावना है। अभयारण्य में टाइगर सफारी शुरू करने पर भी विचार किया जा रहा है।

14/10/2019

गहलोत ने दी और दो उप तहसील को मंजूरी

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने अलवर जिले में एक उप तहसील को तहसील में क्रमोन्नत करने और दो नए उप तहसील कार्यालय खोलने के प्रस्ताव को मंजूरी दी है।

12/11/2019

पुलिसकर्मी ने गर्भवती महिला को कराया अस्पताल में भर्ती

कोरोना में पुलिसकर्मी देवदूत बनकर सामने आ रहे हैं। वह ड्यूटी के साथ-साथ दोहरी जिम्मेदारी का निर्वहन कर रहे है।

27/04/2020

बेरोजगार अभ्यर्थियों ने मुख्यमंत्री निवास पर किया प्रदर्शन

राजस्थान बेरोजगार एकीकृत महासंघ के बेनर तले मुख्यमंत्री निवास पर सैकड़ों बेरोजगारों ने प्रदर्शन किया।

16/09/2019

बहरोड फायरिंग मामला: 2 हैडकांस्टेबल बर्खास्त, उप अधीक्षक और थानाधिकारी निलंबित

प्रारम्भिक जांच उपरांत 2 हैडकॉस्टेबल को सेवा से बर्खास्त करने के साथ ही एक पुलिस उप अधीक्षक, संबंधित थानाधिकारी, एक हैडकांस्टेबल व एक कॉस्टेबल को निलंबित किया गया है ।

09/09/2019

अशोक गहलोत का वैक्सीन समाप्त होने का दावा है खोखला : पूनिया

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत का प्रदेश में कोरोना वैक्सीन समाप्त होने का दावा खोखला है। भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने कहा कि केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 37.61 लाख वैक्सीन भेजी है। कांग्रेस सरकार 24.28 लाख बता रही है।

10/03/2021