Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 27th of October 2020
 
राजस्थान

80 हजार की घूस लेते रीडर, दलाल के रिश्तेदार को पकड़ा

Friday, May 10, 2019 14:45 PM
रीडर अर्जुनलाल व दलाल प्रदीप शर्मा

जयपुर। भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम लगातार प्रदेश में घूसखोरों पर शिकंजा कस रही है। शुक्रवार को टीम ने एम.ए.सी.टी क्लेम प्रकरण में राशि स्वीकृत कराने के लिए रिश्वत लेते रीडर अर्जुन लाल और दलाल के रिश्तेदार को गिरफ्तार किया है। एसीबी टीम के अनुसार रीडर अर्जुन लाल ने दलाल एडवोकेट विजय कुमार शर्मा की मार्फत एम.ए.सी.टी क्लेम प्रकरण में राशि स्वीकृत कराने के लिए स्वीकृत राशि 14.30 लाख रुपए का 10 प्रतिशत मांगा था। सौदा एक लाख 43 हजार रुपए में तय हुआ। सूचना की तस्दीक के लिए दोनों के मोबाइल फोन सर्विसलांस पर लिए गए।

क्लेम की राशि स्वीकृत होने के बाद शुक्रवार को विजय का रिश्तेदार प्रदीप 80 हजार रुपए रीडर अर्जुन को देने आ रहा था। एसीबी टीम ने वीकेआई एक्सप्रेस हाईवे रोड नम्बर-14 पर पहुंची और अर्जुन लाल जाट को प्रदीप शर्मा से 80 हजार की रिश्वत लेते हुए दोनों को गिरफ्तार किया गया है। दलाल विजय फरार है, जिसकी तलाश जारी है। वहीं एसीबी टीम मामले में शामिल अन्य की भूमिका के संबंध में जांच
कर रही है।

दिल्ली के वास्तु शास्त्री ने दिया ज्ञान
दिल्ली के वास्तु शास्त्री ने अर्जुन को कहा कि वह प्रदेश के कई ठिकानों पर जाकर दबा हुए धन की तलाशी करें तो उसे बड़ी मात्रा में धन प्राप्त होगा, जो उसके भविष्य को संवार देगा। अर्जुन को इससे पहले अपने मकान में ही पुरातत्व की कई तरह की करेंसी मिली है। इन रुपयों के आधार पर उसे विश्वास हो गया था कि उसे भविष्य में जमीन में दबा धन मिल सकता है। धन खोजने के लिए वह कोटपूतली, रुदावल, भरतपुर में कई जगहों पर मेटल डिटेक्टर से जांच कर वहां खुदाई करवा चुका है। शुक्रवार को जब एसीबी टीम ने घूसखोर रीडर और दलाल के रिश्तेदार को गिरफ्तार किया उसके पास मेटल डिटेक्टर समेत अन्य खुदाई का सामान मिला।

गिरफ्तार रीडर अर्जुन लाल जाट मालवीय नगर का रहने वाला है। यह विशिष्ट न्यायालय, प्रिटिंग स्टेशनरी गबन प्रकरण जयपुर में पीए के पद पर पदस्थापित है। टीम ने इसके साथ रुपए देने वाले बिचौलिए विजयवाड़ी, सीकर रोड निवासी प्रदीप शर्मा को गिरफ्तार किया है।

तलाशी के दौरान यह मिला
एसीबी टीम को अर्जुन के घर तलाशी के दौरान उसके और परिवार के लोगों के नाम जयपुर शहर व अन्य स्थानों पर एक व्यावसायिक, करीब 1.50 करोड़ रुपए के 2 फ्लैट, शहर में करीब 10 आवासीय भूखंड, शहर के विभिन्न स्थानों पर  8 बीघा कृषि भूमि, दो गैस एजेंसिया तथा कन्सट्रक्शन कम्पनी के दस्तावेज बरामद किए गए है।

एम.ए.सी.टी क्लेम मामले में घूस लेने वाले दो जनों को एसीबी ने गिरफ्तार किया है। इसके पास जमीन के दस्तावेज बरामद हुए है। मामले की जांच की जा रही है।
- आलोक त्रिपाठी, डीजी एसीबी

यह भी पढ़ें:

राहगीरों से मोबाइल छीनने वाले दो को पकड़ा

आदर्श नगर थाना पुलिस ने राहगीरों से मोबाइल छीनने वाले दो बदमाशों को गिरफ्तार किया है। पुलिस पूछताछ में इनसे पांच वारदातों का खुलासा हुआ है।

08/10/2019

हनुमान बेनीवाल ने वसुंधरा और यूनुस खान पर कांग्रेस प्रत्याशी की मदद करने का लगाया आरोप

सांसद हनुमान बेनीवाल ने बीजेपी नेता यूनुस खान पर कांग्रेस प्रत्याशी की मदद करने का आरोप लगाया है।

25/10/2019

जयपुर में चाइनीज मांझे से दो युवक घायल, पक्षियों को बचाने में जुटे लोग

देशभर में मकर संक्रांति का त्यौहर मनाया जा रहा है। लोग पतंग का तुल्फ उठा रहे है। इस बीच सुभाष चौक थाना इलाके में दो युवक चाइनीज मांझे से घायल हो गए।

14/01/2020

राजस्थान का बजट: सड़क तंत्र पर 35 हजार करोड़ रुपए खर्च होंगे

राजस्थान में अगले पांच वर्षो में सडक तंत्र पर करीब पैतीस हजार करोड़ खर्च किये जायेंगे। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने विधानसभा में परिवर्तित बजट 2019-20 प्रस्तुत करते हुए यह घोषणा की। उन्होंने कहा कि इसके तहत इस वर्ष सार्वजनिक निर्माण विभाग के लिए कुल छह हजार 37 करोड़ का प्रावधान प्रस्तावित है।

10/07/2019

नैतिकता है तो खाली कराएं बंगला : बेनीवाल

राजस्थान के पूर्व मुख्यमंत्रियों को बंगले सहित कैबिनेट मंत्री स्तर तक दी जाने वाली तमाम सुविधाओं को बरकराकर रखने के लिए राज्य सरकार की ओर से सुप्रीम कोर्ट में दायर एसएलपी खारिज होने के बाद रालोपा संयोजक व नागौर सांसद हनुमान बेनीवाल ने प्रतिक्रिया दी।

08/01/2020

शहीदों के परिजनों को स्टाम्प ड्यूटी में पूरी छूट

देश के लिए शहीद हेने वाले सैनिकों के सम्मान में उनके आश्रित पत्नी, पुत्र, पुत्री, माता-पिता के पक्ष में राज्य सरकार या निजी संस्था या व्यक्ति की ओर से आवंटित-हस्तांतरित आवासीय भूखण्ड, भवन के दस्तावेज पर स्टांप ड्यूटी एवं पंजीयन शुल्क की संपूर्ण छूट मिलेगी।

11/07/2019

दृष्टिहीन बजट में कर्ज और खर्च के बारे में कोई स्पष्ट योजना नहीं है: सतीश पूनिया

उन्होंने कहा कि अधिकांश योजनाओं पर केन्द्र सरकार पर निर्भरता है, महिला, युवा और किसान के साथ छलावा है।

11/07/2019