Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 3rd of August 2021
 
राजस्थान

जेल में बंदियों के परिजन मुलाकात के लिए कर सकेंगे ऑनलाइन आवेदन

Friday, March 13, 2020 10:35 AM
विकास कुमार (फाइल फोटो)

जयपुर। प्रदेश की जेलों में बंद कैदियों से मुलाकात करने के लिए कई बार उनके परिजनों और रिश्तेदारों को परेशानी का सामना करना पड़ता है। कभी परिजन उस दिन पहुंच जाते हैं, जब मुलाकात का दिन नहीं होता है, तो उनको वापस लौटना पड़ता है। इसके अलावा कई अन्य कारणों से मुलाकात नहीं हो पाती है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा।

बंदियों से मिलने के लिए उनके परिजन अब ऑनलाइन अपॉइंटमेंट लेकर तय समय पर मुलाकात कर सकेंगे। इसके लिए डीआईजी जेल विकास कुमार के चलाए जा रहे ऑपरेशन संजय के तहत खाका और पुल थ्रू के जरिए ई-मुलाकात का सिस्टम ई-प्रिजन तैयार किया है। इसके जरिए परिजनों को मुलाकात में राहत मिलेगी और हर बंदी का रिकॉर्ड तैयार हो जाएगा।

ऐसे कर सकेंगे आवेदन
ई-मुलाकात के लिए बंदियों के परिजन ई-प्रिजन की वेबसाइट पर अधिकृत व्यक्ति 7 दिन से लेकर 2 दिन के बीच में आॅनलाइन मुलाकात के लिए आवेदन कर सकेंगे। आवेदन के अप्लाई करने से 24 घंटे के अंदर संभवत: आवेदन पर निर्णय ले लिया जाएगा। यदि मुलाकात होगी, तो समय और दिन संदेश से आवेदनकर्ता के पास पहुंच जाएगा। यदि मुलाकात संभव नहीं है, तो मोबाइल पर मुलाकात नहीं होने का संदेश कारण सहित पहुंच जाएगा।

20 हजार बंदियों ने दिए नाम
ई-प्रिजन के जरिए जेल विभाग ने करीब 20 हजार बंदियों से उनके परिजनों के 10-10  नाम लिए हैं। हर बंदी 10 ऐसे नाम देगा, जिनसे वह मिल सकता है। इन 10 नामों का वैरीफिकेशन किया जाएगा। उसके बाद सिस्टम में ये नाम फीड कर दिए जाएंगे। इन 10 लोगों में से हर एक आदमी अपने साथ 2 अन्य लोग मुलाकात के दौरान साथ ले जा सकेगा।

केन्द्रीय जेलों में छोड़कर हर दिन मुलाकात होती है। जिला जेल और उप जेलों में सप्ताह में 4 दिन मुलाकात होती है। विचाराधीन बंदियों से उनके परिजन 7 दिन में एक बार और सजायाफ्ता बंदियों से उनके परिजन 15 दिन में एक बार मुलाकात कर सकेंगे। वहीं यदि किसी बंदी को गिरफ्तार किया गया है या उसे कोई जेल के अंदर सजा मिली है, तो उससे मुलाकात नहीं हो सकेगी।

जेल में बंद कैदियों से उनके परिजन अब ई-मुलाकात कर सकेंगे। घर बैठकर परिजन समय ले सकेंगे और तय समय पर उनकी मुलाकात हो जाएगा। हर बंदी से 10-10 नाम लिए गए हैं। जल्द ही ई-मुलाकात का शुरू कराया जाएगा।
- विकास कुमार, डीआईजी जेल राजस्थान
 

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

जाली दस्तावेजों से फर्में बनाने का आरोपी सीए गिरफ्तार, तीन करोड़ का लेनदेन कर किया गबन

शहर की सरदारपुरा पुलिस ने फर्जी दस्तावेजों से फर्में बनाने और फर्जी हस्ताक्षर कर 2.93 करोड़ रुपए का लेन-देन करने के आरोपी चार्टर्ड एकाउंटेंट (सीए) को गुरुवार को गिरफ्तार किया। पुलिस का दावा है कि गिरोह ने फर्जी दस्तावेज से 35 फर्में बना 99 करोड़ रुपए का लेन-देन कर तीस करोड़ रुपए की जीएसटी का गबन किया है।

31/10/2019

80 हजार रुपए की रिश्वत लेते अपर लोक अभियोजक को एसीबी ने किया गिरफ्तार

अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायालय (3)के अपर लोक अभियोजक श्यामलाल गुर्जर को अपनी फॉरच्यूनर कार में 80 हजार रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।

23/05/2019

6 दिन बाद मिला कैप्टन अंकित का शव, तख्त सागर में 45 फीट गहरी चट्टानों में फंसी मिली बॉडी

सेना की ओर से किए जा रहे अभ्यास के दौरान तख्तसागर में डूबे सेना की 10 पैरा यूनिट के कैप्टन अंकित गुप्ता का शव मंगलवार को छठे दिन लंबे प्रयासों के बाद मिल गया। कैप्टन की तलाश में करीब 120 घंटों तक सेना और पुलिस के साथ गोताखोर जुटे हुए थे।

12/01/2021

मुंबई से सप्लाई हो रहा था एमडीए ड्रग्स, 4 तस्कर गिरफ्तार

आतंकवादी निरोधक दस्ते (एटीएस) की सूचना पर स्पेशल आॅपरेशन गु्रप (एसओजी) ने बड़ी कार्रवाई करते हुए चार बड़े तस्करों को गिरफ्तार किया है।

22/12/2019

महंगाई पर काबू पाने के लिए समय रहते कदम उठाए केंद्र, देशहित में नहीं होगा लोगों में असंतोष: गहलोत

केन्द्र सरकार को बढ़ती महंगाई पर नियंत्रण करने के लिए समय रहते फैसले करने चाहिए, ताकि इससे लोगों में असंतोष उत्पन्न नहीं हो।

06/03/2021

गहलोत ने ममता बनर्जी को दी बधाई, कहा- बंगाल की जनता ने विभाजनकारी-सांप्रदायिक एजेंडे को किया खारिज

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि पश्चिम बंगाल के लोगों ने भाजपा को सबक सिखाया है और पार्टी के विभाजनकारी और सांप्रदायिक एजेंडे को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है।

03/05/2021

सचिन पायलट ने राज्य निर्वाचन आयोग को लिखा पत्र, पंचायत चुनाव समय पर कराने की मांग

उप मुख्यमंत्री सचिन पायलट ने राज्य निर्वाचन आयोग को पत्र लिखकर सभी पंचायतीराज संस्थाओं के समय पर चुनाव कराने की मांग की है। पायलट ने कहा कि समय पर चुनाव नहीं होने से राज्य में पंचायतीराज संस्थाओं की अवधि या कार्यकाल के संबंध में संवैधानिक संकट खड़ा हो सकता है।

15/01/2020