Dainik Navajyoti Logo
Thursday 17th of June 2021
 
राजस्थान

मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में बाघिन की मौत की जांच शुरू, लापता शावक की तलाश

Wednesday, August 05, 2020 14:35 PM
फाइल फोटो।

कोटा। जिले के मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व में एक और बाघिन एमटी-2 की अचानक मौत के मामले की जांच के लिए राष्ट्रीय बाघ संरक्षण प्राधिकरण (एनटीसीए) ने जांच शुरू कर दी है। इस बीच बाघिन के एक घायल शावक को वन्यजीव विभाग की टीम कोटा चिड़ियाघर ले आई जबकि दूसरा शावक अभी लापता है जिसे वनकर्मियों की टीमें तलाश कर रही है। पिछले एक पखवाड़े से भी कम अवधि में इस टाइगर रिजर्व में पहले एक बाघ और अब बाघिन की मौत को लेकर चिंतित राज्य सरकार ने इस मामले की उच्च स्तरीय जांच के निर्देश दिए हैं।

नगरीय विकास मंत्री शांति धारीवाल ने वन मंत्री से इस मामले में जांच कराने और यदि कोई लापरवाही हुई है तो दोषियों के खिलाफ कार्रवाई करने का अनुरोध किया था। केंद्रीय स्तर पर भी इस मामले की जांच के लिए एनटीसीए की टीम भी कोटा पहुंच गई, जिसने स्थानीय टाइगर रिजर्व और वन्यजीव विभाग के अधिकारियों के साथ उस स्थान का अवलोकन किया, जहां बागिन एमटी-2 का शव मिला था। इस रिजर्व में गत 23 जुलाई को एक अन्य बाघ एम टी-3 की फेफड़ों में संक्रमण के कारण मौत हो गई थी।

वन्यजीव विभाग के आधिकारिक सूत्रों ने बताया कि प्रारंभिक तौर पर बाघ एमटी-2 के बाघ एमटी-1 से संघर्ष में उसके चोटिल होने के कारण मौत होने की आशंका है, क्योंकि जिस समय उसका शव मिला तब उसके शव पर घाव के निशान थे। हालांकि मौत का कारण उसके शव की विस्तृत पोस्टमार्टम रिपोर्ट आने के बाद ही पता चल पाएगा। मृतक बाघिन एमटी-2 ने कुछ समय पहले ही 2 शावकों को जन्म दिया था, जिसमें से एक शावक तो विभागीय टीम को घायल अवस्था में मिल गया, जिसे कोटा चिड़ियाघर में रखा गया है और रणथंभौर नेशनल पार्क से आए चिकित्सकों की देखरेख में उसका इलाज किया जा रहा है जबकि दूसरा शावक अभी लापता है, जिसकी तलाश के लिए वन विभाग की अलग-अलग 4 टीमें अभयारण्य क्षेत्र में तैनात की गई है। इस मामले में वन मंत्रालय ने कोटा के मुकुंदरा हिल्स टाइगर रिजर्व से जुड़े एक अधिकारी को निलंबित कर दिया है जबकि दो अधिकारियों को एपीओ किया गया है।

परफेक्ट जीवनसंगी की तलाश? राजस्थानी मैट्रिमोनी पर निःशुल्क  रजिस्ट्रेशन करे!

यह भी पढ़ें:

वसुंधरा का कानून व्यवस्था को लेकर निशाना, कहा- हर रोज हो रही आपराधिक घटनाओं ने प्रदेश को झकझोरा

पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने राजस्थान की कांग्रेस सरकार पर कानून व्यवस्था को बनाए रखने में विफल होने का आरोप लगाते हुए कहा है कि प्रदेश में हर रोज हो रही दुष्कर्म सहित आपराधिक घटनाओं ने पूरे प्रदेश को झकझोर दिया है। इन घटनाओं ने यह साबित कर दिया है कि राजस्थान में न कोई कानून-व्यवस्था और न ही कोई सरकार दिखाई देती हैं।

19/10/2020

फायरिंग करने वाले तीन आरोपी गिरफ्तार

जवाहर सर्किल थाना इलाके में 26 और 27 अक्टूबर की रात को सेक्टर-10 मालवीय नगर में संजय मीणा के भाई संत्या मीणा के घर पर फायरिंग कर भागने वाले अपराधियों की धरपकड़ के लिए एक टीम बनाई गई।

31/10/2019

गरीब के खिलाफ और भूमाफियाओं के पक्ष में हुआ फैसला : शेखावत

पूर्व नगरीय विकास मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने पृथ्वीराज नगर (पीआरएन) में नियमितीकरण को लेकर पुराने नियम-कानूनों के मॉडल में बदलाव किए जाने को गलत करार देते हुए आरोप लगाया है कि यह क्षेत्र के आम गरीब लोगों के खिलाफ और भूमाफियाओं के पक्ष में लिया गया फैसला है।

31/01/2020

भरतपुर: कच्छाधारी गिरोह के 7 खूंखार बदमाशों को किया गिरफ्तार

भरतपुर पुलिस ने उत्तरप्रदेश पुलिस के सहयोग से अंतरराज्यीय कच्छाधारी गिरोह के सात खूंखार बदमाशों को गिरफ्तार किया है।

31/07/2019

राजस्थान एपिडेमिक अध्यादेश के तहत वसूला 9 करोड़ 72 लाख रुपए से ज्यादा का जुर्माना

प्रदेश में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए सार्वजनिक स्थलों पर मास्क नहीं लगाने पर 2 लाख 54 हजार, बिना मास्क पहने लोगों को सामान बेचने पर 12 हजार 640 सोशल डिस्टेंसिंग नहीं रखने पर 3 लाख 91 हजार 181 व्यक्तियों के चालान किये गये है।

10/09/2020

गहलोत सरकार का बड़ा फैसला, कोरोना वायरस के चलते नए साल पर जश्न और आतिशबाजी पर लगाई रोक

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोमवार को मुख्यमंत्री निवास पर कोविड-19 समीक्षा एवं कोरोना वैक्सीन की तैयारियों से संबंध में बैठक ली। बैठक में कोरोना वायरस महामारी के समय में लोगों के स्वास्थ्य को सर्वोपरि रखते हुए दीपावली पर सरकार ने जो कदम उठाए थे, उसी प्रकार का सख्त निर्णय नव वर्ष के लिए लेने का फैसला किया है।

21/12/2020

प्रदेश में कड़ाके की सर्दी ने तोड़े रिकॉर्ड, कई हिस्सों में पारा जमाव बिंदु के पास

प्रदेश में पड़ रही कड़ाके की सर्दी ने मौसम के दशकों पुराने रिकॉर्ड को ध्वस्त करना शुरू कर दिया है। प्रदेश के अनेक हिस्सों में रात का तापमान जमाव बिंदु पर पहुंच गया, इससे खेतों में बर्फ जम गई।

30/12/2019