Dainik Navajyoti Logo
Monday 21st of September 2020
 
राजस्थान

सेन्ट्रल जेल में अब नहीं होगी फांसी

Friday, February 14, 2020 14:40 PM
फाइल फोटो

जयपुर। सेन्ट्रल जेल में मौत की सजा पाने वाले आरोपियों को अब फांसी नहीं दी जाएगी। फांसी देने के लिये जयपुर की सेन्ट्रल जेल नहीं, बल्कि दौसा की विशेष जेल को चुना गया है। जेल मे फांसी देना उपयुक्त नहीं माना जा रहा है। जेल बदलने का कारण यह है कि यह जेल तीन तरफ से रिहायशी इलाकों से घिरा हुआ है और फांसी परिसर भी एक खुले मैदान में स्थित है। जेल परिसर के आसपास रहने वाला कोई भी व्यक्ति फांसी का फंदा देख सकता है, जो सही नहीं है। केंद्रीय जेल में फांसी का फंदा भी नहीं है। दौसा जिले के शियालावास में स्थित विशेष जेल में एक विशाल परिसर है। परिसर में पर्याप्त जगह है, जहां फांसी दी जा सकती है और इस जेल के पास कोई रिहायशी इलाका भी नहीं है।

इस मामले पर जेल डीआईजी विकास कुमार ने बताया कि जेल अधीक्षक की तरफ से एक प्रस्ताव भेजा गया है, जिसमें जेल मे फांसी देना किसी कारणों से उपयुक्त नहीं माना गया है। मुद्दा गोपनीयता का है और सेन्ट्रल जेल चारदीवारी के आस पास बना हुआ है और आवासों से जेल के अन्दर दिखाई देता है। इसलिए यह उपयुक्त नहीं है कि यहां फांसी दी जाएं।

दौसा की विशेष जेल क्यों है खास
40 एकड़ में फैले शिलावास की विशेष जेल में 14 वार्ड हैं, जिनमें 53 बैरक हैं। इनमें 157 कैदी बंद हैं। इन 14 वार्डों में एक जुदाई वार्ड भी शामिल है, जिसमें 32 बैरक हैं। फांसी की सजा पाने वालों को इस वार्ड में स्थानांतरित किया जा सकता है। अगर प्रस्ताव को मंजूरी मिल जाती है, तो जयपुर केंद्रीय जेल का भार भी कम हो सकता है। जेल निदेशालय के आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार जयपुर केंद्रीय जेल की क्षमता 1163 है और वर्तमान में 1685 कैदी इसमें बंद हैं।


 

यह भी पढ़ें:

सिलोर में बाढ़ का पानी उतरा तो उभरा दर्द

कस्बे में बहने वाली भाद नदी में सवेरे तेज बहाव से काछीपुरा के निचले मोहल्ले सहित राउमावि, सहकारी समिति, ग्राम पंचायत प्रांगण सहित रेगर मोहल्ले में पानी घुस गया था। जिससे प्रभावित करीब चार पचास परिवार के लोग दूसरे दिन सोमवार को बाढ़ का पानी उतरने के बाद भी परेशान दिखे।

29/07/2019

बिजली बचाने में लगा रोडवेज प्रशासन, लगेंगे सोलर पैनल

राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम प्रशासन बिजली बचाने की पहल कर रहा है। इसके तहत प्रदेश के सभी डिपो, वर्कशॉप और मुख्यालय में सौलर पैनल लगाए जाएंगे।

19/07/2019

राजस्थान में डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया और बुखार का बढ़ रहा प्रकोप, रहें सावधान

प्रदेश में इन दिनों डेंगू बेकाबू हो गया है। अस्पतालों में बुखार के मरीजों की जबरदस्त भीड़ उमड़ रही है और अधिकांश मरीज डेंगू, चिकनगुनिया, मलेरिया और बुखार के आ रहे हैं।

01/11/2019

45 साल के इतिहास में आमेट में कांग्रेस ने लहाराया परचम

जिले की नाथद्वारा व आमेट नगर पालिका चुनाव का दूसरा पायदान मंगलवार को ईवीएम से जीत का जिन्न निकलने के (मतगणना) के साथ सम्पन्न हुआ।

20/11/2019

डीसीपी राहुल प्रकाश ने हैड कांस्टेबल को किया सस्पेंड

राहगीर को रोककर उसके साथ अभद्रता करना और गालियां देने वाले हैड कांस्टेबल अशोक को सस्पेंड कर दिया है जबकि एएसआई सुभाष और कांस्टेबल नाहर सिंह के खिलाफ विभागीय जांच शुरू की गई है।

18/10/2019

मुख्य बाजार में वाहन खड़े करने को लेकर फलौदी में बवाल, धारा 144 लागू, इंटरनेट बैन

मामूली बात को लेकर मंगलवार को फलौदी के मुख्य बाजार में वाहन खड़े करने को लेकर हुआ विवाद सांप्रदायिक झगड़े में बदल गया। उपद्रवियों ने एक बोलेरो कैंपर को आग लगा दी। कई वाहन इसकी भेंट चढ़ गए। पुलिस ने हालात पर काबू पाते हुए कस्बे में धारा 144 लगा दी है।

04/06/2019

अशोक गहलोत ने ली उच्च स्तरीय बैठक, धारा 144 लागू

कोरोना वायरस के संक्रमण से लोगों का जीवन बचाने के लिए प्रदेश में धारा 144 लागू की गई है। इस दौरान किसी भी स्थान पर पांच व्यक्ति से अधिक समूह में इकट्ठे होने पर रोक रहेगी।

19/03/2020