Dainik Navajyoti Logo
Monday 17th of May 2021
 
राजस्थान

हंगामेदार रही ग्रेटर नगर निगम की पहली बोर्ड बैठक, 821 करोड़ रुपए का बजट बहुमत से पारित

Friday, January 29, 2021 10:20 AM
बैठक में आपस में उलझते सत्ता पक्ष और विपक्ष के पार्षद।

जयपुर। नगर निगम ग्रेटर के प्रथम बोर्ड की प्रथम बैठक में ही हंगामेदार रही और भाजपा-कांग्रेस के साथ ही निर्दलीय पार्षदों ने एक-दूसरे पर आरोप लगाए। वहीं बैठक में शहर के विकास के लिए 821 करोड़ रुपए के बजट को बहुमत से पारित कर दिया। नगर निगम ग्रेटर मुख्यालय के सभाभवन में गुरुवार को बोर्ड की प्रथम बैठक महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर की अध्यक्षता में शुरू हुई। बैठक की शुरूआत वंदे मातरम के साथ हुई और उसके बाद दिवंगत आत्माओं को दो मिनट का मौन रखकर श्रद्धांजलि दी गई, लेकिन देश में चल रहे किसान आंदोलन में मारे गए किसानों का नाम नहीं होने पर कांग्रेस के पार्षदों ने हंगामा कर दिया और हंगामे के बीच मृतकों को श्रद्धांजलि दी गई और फिर 15 मिनट के लिए सदन को स्थगित कर दिया गया।

जब सदन की कार्रवाई दोबारा शुरू की गई तो कांग्रेस पार्षद करण शर्मा के निर्दलीय पार्षदों के सत्ता पक्ष में बैठने के बयान के बाद हंगामा हो गया। निर्दलीय पार्षद विकास बारेठ ने कहा कि वह किस पक्ष में बैठेंगे यह उनका अधिकार है और इसको लेकर हंगामा हो गया और सदस्य सीटों से उठकर लॉबी में आ गए। बाद में शर्मा के अपने शब्द वापस लेने के बाद मामला शांत हुआ, लेकिन निर्दलीय पार्षद बारेठ के कांग्रेस पर पार्षद खरीदने सहित अन्य आरोप लगा दिए तो कांग्रेस पार्षदों ने हंगामा कर दिया, बाद में महापौर के हस्तक्षेप किया और बारेठ केने अपने शब्द वापस लेने के बाद मामला शांत हुआ। इसके अलावा सदन के स्थगन के दौरान भाजपा-कांग्रेस के पार्षदों ने एक-दूसरे के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

यूडी टैक्स वसूली व सफाई व्यवस्था करें निगम
निगम ग्रेटर की साधारण की बैठक में शहर की बिगड़ी सफाई व्यवस्था के लिए बीवीजी कंपनी को जिम्मेदार मानते हुए इस पर पुनर्विचार करने की भाजपा व कांग्रेस के पार्षदों ने मांग की। इसके साथ ही नगरीय विकास कर की वसूली को दिया गया ठेका भी निगम की आर्थिक स्थिति को सुधारने के स्थान पर बिगाड़ रहा है। कांग्रेस पार्षद लादूराम दुलारिया ने कहा कि अधिकारियों ने मनमर्जी से नगरीय विकास कर वसूली का काम निजी फर्म को सौंप दिया, जबकि इसके बदले इसे करोड़ों का भुगतान किया जाएगा। हमारे राजस्व अधिकारी कर्मचारी इस वसूली के लिए सक्षम है। वहीं भाजपा पार्षद दिनेश कांवट ने कहा कि डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण का काम करने वाली बीवीजी कंपनी अपनी मनमर्जी कर रही है और गाड़ियां घरों की बजाय वाणिज्यक संस्थानों से कचरा उठा रही है, जिससे वह अतिरिक्त पैसा वसूल करती है जबकि आमजन को इसका फायदा नहीं मिल पा रहा है। भाजपा पार्षद राखी राठौड़ ने कहा कि सरकारी भवनों पर साढ़े तीन सौ करोड़ से अधिक का नगरीय कर बकाया चल रहा है।

बीवीजी कंपनी के खिलाफ 30 दिवस में होगी विधिक कार्रवाई
शहर में डोर-टू-डोर कचरा संग्रहण करने का काम करने वाली फर्म बीवीजी की कार्यप्रणाली से खफा भाजपा एवं कांग्रेस पार्षदों के विरोध के बाद महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर ने आसन से कंपनी के खिलाफ 30 दिवस की अवधि में विधिक कार्रवाई कर नई व्यवस्था की कार्य योजना लागू करने के लिए कहा।

खोली जाएंगी निशुल्क ई-लाइब्रेरी
महापौर डॉ. गुर्जर ने कहा कि समाज के सभी वर्गों के अध्ययनरत विद्यार्थियों के लिए नगर निगम ई-लाइब्रेरी शुरू करेगा। इसके अलावा इलेक्ट्रॉनिक वाहनों को बढ़ावा देने के लिए चार्जिग स्टेशनों लगाने, गरीब वर्ग के बच्चों के लिए स्कूल खोले जाएंगे। इस दौरान भाजपा पार्षद राखी राठौड़ ने इंदिरा रसोई का नाम बदलकर अन्नपूर्णा रसोई करने, पार्षदों के लिए कार्यालय बनाने के अलावा सामुदायिक भवनों में चल रहे निगम कार्यालयों के लिए भवन बनाकर सामुदायिक भवनों को खाली कराने के भी पार्षदों ने प्रस्ताव रखे।

शहर की सफाई पर 60 करोड़ होंगे खर्च
नगर निगम ग्रेटर सरकार की ओर से पेश किए गए बजट में सबसे अधिक खर्च शहर की सफाई व्यवस्था पर 60 करोड़ रुपए का प्रावधान किया गया है। इसके दहलावास ट्रीटमेंट प्लांट व सड़क नालियों की मरम्मत पर 40-40 करोड़ रुपए सहित नई सड़कों के निर्माण पर 33 करोड़, स्वच्छ भारत मिशन पर 20 करोड़, पार्कों के रखरखाव व पौधारोपण पर 18 करोड़, स्ट्रीट लाइटों पर 18 करोड़, सीवरेज लाइन निर्माण पर 15 करोड़, बिजली लाइनों पर 12 करोड़, नगर निगम बिल्डिंग रखरखाव पर 7.20 करोड़, श्मशान, कब्रिस्तानों की मरम्मत पर  3.60 करोड़, हिंगौनिया गौशाला पर 2.40 करोड़ एवं सीवरेज ट्रीटमेंट प्लांट रखरखाव के लिए 1.20 करोड़ रुपए का बजट तैयार किया गया है। पार्षदों ने सफाई, सड़क सहित विभिन्न मदों में बजट के प्रावधान को कम बताया और इसे बढ़ाने की भाजपा कांग्रेस सहित निर्दलीय पार्षदों ने मांग की।

कोरोना गाइडलाइन की उड़ी धज्जियां
शहर में कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए बैठक में नगर निगम की ओर से किए गए कार्यों का महापौर डॉ. सौम्या गुर्जर ने बखान किया और कहा कि किस तरह नगर निगम ने कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए अधिकारी-कर्मचारियों ने दिन-रात एक कर कार्य किया, वहीं निगम ग्रेटर की बोर्ड बैठक में राज्य सरकार की ओर से जारी की गई कोरोना गाइडलाइन की जमकर धज्जियां उड़ाई गई। बैठक के दौरान चार की सीट पर आठ-आठ पार्षद बैठे और अधिकांश पार्षदों ने मास्क भी नहीं लगा था। महापौर के बार बार निर्देशों के बाद भी पार्षदों ने इसकी अवहेलना की।

देरी से शुरू हुई बैठक
आमतौर पर सदन शुरू करने के साथ ही स्थगित के बाद दोबारा निर्धारित समय पर सदन की कार्रवाई होती है, लेकिन सदन का निर्धारित समय दोपहर 1 बजे का होने के बाद भी सदन अध्यक्ष महापौर डॉ. गुर्जर ही लगभग 10 मिनट बाद दोपहर 1.10 बजे सदन में पहुंची। वहीं आधा दर्जन प्रस्ताव पारित होने के बाद लंच के लिए 15 मिनट के लिए स्थगित की गई सदन की कार्रवाई भी दोबारा लगभग 25 मिनट बाद शुरू हो पाई।

यह प्रस्ताव पारित
बैठक में निगम ग्रेटर के 821.60 करोड़ रुपए के बजट को पारित करने के साथ ही महापौर को सशक्त बनाने के लिए संचालन समितियों के गठन के अधिकार से जुड़ा प्रस्ताव है। पार्षदों के वेतन एवं भत्ते बढ़ाने एवं लेपटॉप देने का प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाने, निगम की समितियों बनाकर प्रस्ताव राज्य सरकार को भिजवाने के प्रस्ताव की अधिकार महापौर को सौंपने, हुडको से पांच सौ करोड़ का ऋण लेने, वार्ड पार्षदों को अपने क्षेत्र में कार्य के लिए अस्थाई अकुशल श्रमिक नियुक्त करने, नए बिल्डिंग बायलॉज 2020 का अनुमोदन, जेडीए एवं राजस्थान आवासन मंडल द्वारा निर्धारित आरक्षित दरों एवं भविष्य में इसमें होने वाले संशोधनों के तहत पूर्व कार्रवाई की पुष्टि सहित शहर की सफाई व्यवस्था में सुधार के प्रस्तावों को पारित किया गया। अभी पार्षदों को दिए जा रहे 1500 रुपए टेलीफोन के भत्ते को बढ़ाकर दो हजार, वाहन भत्ते को 1500 रुपए से बढ़ाकर 7 हजार करने एवं स्टेशनरी भत्ते को 1500 से बढ़ाकर दो हजार करने के साथ ही वेतन को 11 हजार रुपए के प्रस्ताव का अनुमोदन किया गया।

सेल्फी में लगे रहे नव निर्वाचित पार्षद
निगम ग्रेटर के बोर्ड में अधिकांश पार्षद पहली बार जीत कर सदन में पहुंचे और शुरू में एक-दूसरे को बधाई देने का सिलसिला चलता रहा। वहीं पार्षद अपने-अपने साथियों के साथ सेल्फी लेने में व्यस्त रहे।

यह भी पढ़ें:

नगर निगम के दो सौ से अधिक कार्मिक फिर मिले अनुपस्थित

राज्य सरकार एक तरफ प्रदेश के आम नागरिकों को सरकारी विभागों की कार्यप्रणाली में पारदर्शिता लाने के लिए नए-नए कार्य कर रही है, वहीं नगर निगम के अधिकारी-कर्मचारियों के कार्यालयों में नहीं आने से आमजन के कार्य समय पर नहीं हो रहे हैं।

19/09/2019

बैंक कर्मचारियों की 2 दिवसीय हड़ताल

वेतन बढ़ोतरी की मांग को लेकर बैंक कर्मचारी 9 यूनियनों के संयुक्त मंच यूनाइटेड फोरम ऑफ बैंक यूनियन के आह्वान पर दो दिवसीय हड़ताल पर है।

31/01/2020

राजस्थान में कोरोना संक्रमितों की संख्या पहुंची 5629, अबतक 139 लोगों की मौत

राजस्थान में 122 नये कोरोना पॉजिटिव मरीज सामने आने के साथ ही इसकी संख्या बढ़कर मंगलवार को 5629 पहुंच गई।

19/05/2020

आमजन और पुलिस की तीसरी आंख कमजोर, 52 लाख की आबादी पर सिर्फ 5 हजार सीसीटीवी कैमरे रख रहे निगाह

प्रदेश में अपराध और अपराधी पर अंकुश लगाने के लिए हर आमजन को अपनी तीसरी निगाह (सीसीटीवी कैमरे) को मजबूत करनी होगी। यदि सभी ने अपनी दुकान और मकान के बाहर सीसीटीवी कैमरे लगवा लिए तो कोई भी अपराधी अपराध करने के बाद बच नहीं सकता। आमजन को जागरुक होकर सीसीटीवी कैमरे लगाकर पुलिस को सहयोग करना चाहिए।

12/02/2021

रिश्वत मामले में निलंबित RAS पुष्कर मित्तल को हाईकोर्ट से मिली राहत, जमानत पर रिहा करने का आदेश

हाईकोर्ट ने हाईवे निर्माण कंपनी से पांच लाख रुपए की रिश्वत लेने के आरोप में न्यायिक अभिरक्षा में चल रहे निलंबित आरएएस पुष्कर मित्तल को जमानत पर रिहा करने के आदेश दिए हैं।

01/04/2021

जयपुर में मतगणना केंद्र के बाहर छाया सन्नाटा, जेएलएन मार्ग पर यातायात खोला

जवाहरलाल नेहरू मार्ग पर यातायात जनता के लिए खोल दिया गया है। झालाना से कनोडिया कॉलेज की ओर जाने वाला और कॉमर्स कॉलेज से गांधी सर्किल जाने वाले रास्ते को खोला गया है।

23/05/2019

मनरेगा में प्रति वर्ष कार्य दिवस 200 दिन करे केन्द्र सरकार: गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि कोविड-19 महामारी के इस दौर ने यूपीए सरकार की महत्वाकांक्षी रोजगार योजना मनरेगा के महत्व को स्थापित कर दिया है।

31/05/2020