Dainik Navajyoti Logo
Sunday 17th of January 2021
 
राजस्थान

राज्यपाल कलराज मिश्र और विधानसभा अध्यक्ष सीपी जोशी ने किरण माहेश्वरी के निधन पर जताया शोक

Monday, November 30, 2020 14:50 PM
कलराज मिश्र (फाइल फोटो)

जयपुर। राज्यपाल कलराज मिश्र ने पूर्व उच्च शिक्षा मंत्री और राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। मिश्र ने अपने शोक सन्देश में माहेश्वरी को समाज हित के लिए समर्पित संवेदनशील जन नेत्री बताया। उन्होंने ईश्वर से उनकी आत्मा की शांति और उनके परिजनों को यह भारी दुख सहन करने की शक्ति देने की कामना की है।

विधानसभा अध्यक्ष ने जताई गहरी संवेदना
विधानसभा अध्यक्ष डॉक्टर सीपी जोशी ने राजसमंद विधायक किरण माहेश्वरी के निधन पर गहरा दुख व्यक्त किया है। सीपी जोशी ने कहा है कि पूर्व मंत्री व पूर्व सांसद किरण माहेश्वरी प्रखर वक्ता थीं। सदन में विभिन्न मुद्दों पर प्रभावी तरीके से अपनी बात रखती थी। जोशी ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिजनों को इस दुख को सहन करने की शक्ति प्रदान करने के लिए ईश्वर से प्रार्थना की है। उन्होंने कहा कि किरण माहेश्वरी का निधन बेहद दुखद है। उन्होंने अपना पूरा जीवन समाज की सेवा और हितों को संरक्षित करने के लिए समर्पित किया। मेरे लिए उनका निधन व्यक्तिगत क्षति है। ईश्वर दिवंगत आत्मा को श्रीचरणों में स्थान दें। परिजनों के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करता हूं।

चिकित्सा मंत्री ने जताया शोक
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ रघु शर्मा ने किरण माहेश्वरी के निधन पर शोक व्यक्त किया है। रघु शर्मा ने कहा कि किरण जी ने राजनीति में महिलाओं को बराबरी का स्थान दिलवाने में अहम भूमिका निभाईं। वे सदैव आमजन के कार्यों के लिए तत्पर रहती थीं। सदन में भी काफी मिलनसार और अपने हंसमुख व्यवहार के कारण लोकप्रिय रहीं। शर्मा ने कहा कि किरण माहेश्वरी बीते तीन दशक से राजनीति में सक्रिय थीं। उनकी पहचान एक सुदृढ़ लीडर और मजबूत व्यक्तित्व के तौर पर रहीं है और हमेशा इसी रूप में प्रदेश, विशेषकर मारवाड़ की जनता उन्हें याद रखेगी। चिकित्सा मंत्री ने ईश्वर से दिवंगत आत्मा की शांति और दुःख की इस घड़ी में शोक संतप्त परिजनों को यह आघात सहन करने की शक्ति प्रदान करने की प्रार्थना की है।

यह भी पढ़ें:

जनहित में सभी नागरिक सेवाएं ऑनलाइन उपलब्ध कराएं : गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने राज्य सरकार की विभिन्न विभागों की नागरिक सेवाओं को जल्द से जल्द आॅनलाइन उपलब्ध करवाने के लिए सख्त निर्देश दिए हैं।

23/10/2019

आरएसएस की अखिल भारतीय समन्वय बैठक पुष्कर में, 35 से अधिक संगठन शामिल

राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ की त्रिदिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक शनिवार को अखिल भारतीय माहेश्वरी सेवा सदन में शुरू हुई। बैठक में सरसंघचालक मोहन भागवत, सरकार्यवाह भैयाजी जोशी, संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं समाज जीवन में भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले 35 से अधिक संगठनों के अखिल भारतीय स्तर के लगभग 200 कार्यकर्ताओं ने भाग लिया।

07/09/2019

एएसआई लक्ष्मणदास 24 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार, 4 फाइलों में निकली घूस की राशि

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने जवाहर सर्किल थाने के एएसआई लक्ष्मणदास को 24 हजार रुपए की घूस लेते गिरफ्तार किया है।

29/11/2020

पंचायत चुनाव: पहले चरण में 65 पंचायत समितियों के लिए मतदान जारी, दोपहर 12 बजे तक 25.79 फीसदी मतदान

जिला परिषद और पंचायत समिति के सदस्य चुनावों के लिए पहले चरण का मतदान आज सुबह साढ़े सात बजे से शुरू हुआ, जो शाम पांच बजे तक चलेगा। प्रथम चरण में 10,131 मतदान केन्द्रों पर 72 लाख 38 हजार 66 मतदाता वोट डाल सकेंगे।

23/11/2020

लॉकडाउन में प्रवासी श्रमिकों के लिए बसें बनी सहारा, घर पहुंचते ही कहा थैंक्स रोडवेज

राज्य सरकार की ओर से विभिन्न चरणों में प्रवासी श्रमिकों को वापस भेजने तथा बाहर के राज्यों से राजस्थान में आने वाले श्रमिकों को गृह जिलों में भेजने का आंकड़ा रविवार दोपहर तक 1 लाख के पार हो गया। यह आंकड़ा केवल राजस्थान रोडवेज की बसों से ही संबंधित है। घर पहुंचते ही श्रमिकों ने रोडवेज प्रशासन को धन्यवाद दिया।

25/05/2020

11 बीघा जमीन पर अवैध कॉलोनी बसाने का प्रयास विफल

अवैध निर्माण के खिलाफ जयपुर विकास प्राधिकरण के प्रवर्तन दस्ते ने मथुरादासपुरा व समुेल गांव में ग्यारह बीघा भूमि पर अवैध कॉलोनी बसाने के प्रयास को विफल कर दिया है। इसके साथ ही दस्ते ने विद्याधर नगर क्षेत्र में अतिक्रमण को भी हटाया।

05/02/2020

1 जनवरी 2020 से 18 नवंबर तक नाम मात्र की कार्रवाई की, डीजी की मार्किंग में 11 जिलों की एसीबी टीम फेल

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो के महानिदेशक भगवान लाल सोनी ने अपने विभाग की सभी जिला टीमों का कार्य मूल्यांकन किया है। कार्य मूल्यांकन के आधार पर की गई मार्किंग में एसीबी के 11 जिला यूनिट फेल साबित हुई हैं। इन यूनिटों को भी और यूनिटों की तरह ही सारी सुविधाएं दी गई हैं लेकिन ये घूसखोरों को पकड़ना तो दूर उनके बारे में जानकारी तक नहीं जुटा पाई हैं।

23/11/2020