Dainik Navajyoti Logo
Monday 19th of April 2021
 
राजस्थान

विधानसभा में बजट पर बहस

Wednesday, February 26, 2020 11:20 AM
फाइल फोटो

जयपुर। बजट पर बहस के दौरान विधायक सुमित गोदारा ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकार ने लूनकरणसर और नापासर को नगर पालिका बनाया था, लेकिन कांग्रेस ने फिर से ग्राम पंचायत बना दिया। इन्हें फिर से पालिका गठित किया जाए। पीबीएम अस्पताल में भामाशाह की ओर से लंगर चलाया जा रहा था, लेकिन इस लंगर को कांग्रेस ने बंद कर दिया। इस बारे में केन्द्रीय मंत्री हरसिमरत कौर ने सीएम को भी पत्र लिखा है। पर्यटन के लिए बजट में 100 करोड़ का प्रावधान किया गया है, जो पर्याप्त नहीं है। निरोगी राजस्थान प्रबंधन कोष में सिर्फ सौ करोड़ ही दिए गए है, जो उचित नहीं है। किसान की अकाल मौत पर दस लाख की राशि दी जाए, अभी दो लाख दिए जा रहे है, जो काफी कम है।

किसान का खत्म होना चाहिए जीएसटी : मीणा
विधायक रामनारायण मीणा ने कहा कि केन्द्र सरकार ने कृषि यंत्रों पर जीएसटी लगा रखा है, उसका जीएसटी को खत्म कर दो, उसके बाद कर्ज माफी की भी जरूरत नहीं है। वो अपने आप संपन्न हो जाएगा। इसके लिए विपक्ष की ओर से संकल्प प्रस्ताव लाया जाए, हम उसका समर्थन करेंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिस्थितियों में इससे अच्छा बजट नहीं आ सकता। देश में पंूजीवादी व्यवस्था बढ़ रही है। यह देश गांधी, नेहरू का है।

नेहरू ने कश्मीर पर कब्जा किया, आप कहना छोडिए, करना सीखिए आप कश्मीर पर कब्जा करोगे तो हम आपके साथ हैं। सर्दी से किसान की मौत उसे सहायता राशि मिलनी चाहिए। मुख्य सचेतक महेश जोशी से कहा आप मुख्यमंत्री तक यह बात पहुंचाएं खेती करते समय सर्पदंश से मरें या सर्दी से उसे मुआवजा मिलना चाहिए। मनमोहन सरकार ने कभी किसान पर भार नहीं डाला। आदिवासियों को बिजली कनेक्शन में प्राथमिकता मिलनी चाहिए। साथ ही कोटा हवाई अड्डे को निजी हाथों में नहीं दिया जाए। विधायक रामलाल जाट ने कहा कि बजट में हर वर्ग को राहत प्रदान की गई है।

केन्द्र पर पैसा कटौती का आरोप गलत : माहेश्वरी
विधायक किरण माहेश्वरी ने कहा कि यह बजट गुमराह करने वाला है। इस बजट से लगता है कि कांग्रेस की गाड़ी पटरी से उतर चुकी है। केवल केन्द्र की योजनाओं का विरोध करते है और केन्द्र पर आरोप लगा रहे है कि हमारे दस हजार करोड़ की कटौती कर दी, जबकि पहले से मिलने वाली राशि में बढ़ोतरी कर केन्द्र ने पैसा मुहैया करवाया है।

कांग्रेस में 64 हजार करोड़ का कर्ज बढ़ गया है, जो 21 प्रतिशत की बढ़ोतरी है। प्रदेश में बजरी माफिया का तांडव मचा है। उनको संरक्षण दिया जा रहा है। एक विभाग दूसरे पर कार्यवाही के नाम पर टोलमटोल कर रहा है। सरकार ने किसानों से की वादा खिलाफी की है। केन्द्र की किसान सम्मान निधि प्रदेश में लागू नहीं की। केंद्र का भेजा पैसा खाते में आया, लेकिन राज्य सरकार ने किसानों को पैसा नहीं दिया मैचिंग ग्रांट तक सरकार नहीं दे पाई।

किसान विरोधी कांग्रेस सरकार : पूनिया
विधायक सुभाष पूनियां ने कहा कि यह सरकार किसान विरोधी है। आवारा पशुओं से किसान परेशान है, खाद-बीज नहीं मिल रहा है। फसल का बीमा नहीं करवाया। किसान के लिए बजट में कुछ नहीं दिया गया। अस्पतालों में पद खाली पडेÞ है, ऐसे में कैसे राजस्थान निरोगी बनेगा। किसानों की 833 रुपए की सब्सिड़ी को सरकार ने खत्म कर दिया है। विधायक बलवान पूनियां ने बैंकों की कार्यशैली पर सवाल उठाते हुए कहा कि कोई ऐसा बैंक नहीं जो किसानों से ज्यादा पैसा न वसूलता हो। इसकी आॅडिट कराई जाए और अगर पैसा ज्यादा लिया तो उन्हें वापस दिलाया जाए। राष्ट्रीय बैंकों के कर्जमाफी के लिए वन टाइम सेटलमेंट की व्यवस्था की जाए। किसानों से पूरी उपज खरीदी जाए। विधायक जीआर खटाना ने कहा कि दौसा में पानी की बड़ी समस्या है, ईसरदाबांध के साथ ही पाइपलाइन भी डाली जाए।
 

यह भी पढ़ें:

प्रदेश में बढ़ते कोरोना संक्रमण के मद्देनजर 1 महीने बढ़ाई धारा 144 की अवधि

प्रदेश में कोरोना वायरस के बढ़ते संक्रमण के मद्देनजर राज्य सरकार ने प्रदेश में पहले से लागू धारा 144 की अवधि को बढ़ा दिया है। धारा 144 की अवधि 21 मार्च 2021 तक थी, जिसे अब बढ़ाकर 21 अप्रैल 2021 कर दिया गया है।

19/03/2021

SMS मेडिकल कॉलेज और अस्पताल से जुड़े ठेका कर्मियों का प्रदर्शन, ठेका प्रथा से मुक्त करने की मांग

एसएमएस मेडिकल कॉलेज और अस्पताल से जुड़े ठेका कर्मियों ने मंगलवार को एसएमएस मेडिकल कॉलेज के बाहर जमकर विरोध प्रदर्शन किया। ठेका कर्मियों की मांग है कि उन्हें ठेका प्रथा से मुक्त किया जाए और एसएमएस सहित अन्य अस्पतालों में वर्तमान में काम कर रहे ठेका कर्मियों को नियमित किया जाए या फिर उन्हें संविदा पर रखा जाए।

18/08/2020

लॉकडाउन: विधायक कोष से भरा जा सकेगा बेजुबानों का पेट, ग्रामीण क्षेत्रों में बड़ी संख्या में पशु परेशान

कोरोना वायरस के संक्रमण के चलते लॉकडाउन के कारण ग्रामीण क्षेत्रों में लोगों के साथ पशु भी परेशान नज़र आ रहे हैं। खासकर आवारा पशुओं के लिए पेट भरना मुश्किल हो गया है। कई जगह कुत्तों की भी परेशानी बनी हुई है। ऐसे पशुओं का पेट भरने के लिए स्थानीय क्षेत्र में विधायक कोष से राशि खर्च की जा सकती है।

03/04/2020

बाड़मेर में एसीबी की कार्रवाई, लाइनमैन एवं दलाल 20 हजार की रिश्वत लेते गिरफ्तार

बाड़मेर जिले में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने जोधपुर डिस्कॉम के एक लाइनमैन सहित दो लोगों को 20 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया है। आरोपियों ने परिवादी देवा राम से उसके सैलून में लगे बिजली के मीटर में गड़बड़ी के मामले को निपटाने के लिए 20 हजार रुपए की रिश्वत मांगी थी।

27/07/2020

मौसमी बीमारियों के मौसम में हड़ताल से चरमराई उपचार की व्यवस्था

उदयपुर। कार्डियोलोजी आईसीयू में रेजिडेंट डॉक्टर के साथ हुई मारपीट के बाद गुरुवार रात से हड़ताल पर उतरे डॉक्टर शुक्रवार को भी काम पर नहीं लौटे।

03/01/2020

ट्रेनों से आने वाले प्रवासियों के लिए रोडवेज बसें बनी सहारा

प्रवासियों को रेलवे स्टेशन और आवास तक पहुंचाने के लिए रोडवेज की बसें सहारा बनी है। रोडवेज की ओर से रेलवे स्टेशनों पर ट्रेनों के लिए प्रवासी श्रमिकों व अन्य को पहुंचाने एवं स्टेशन से आास पहुंचाने की व्यवस्था गुरुवार को चुनौतीपूर्ण रही।

15/05/2020

मुख्यमंत्री गहलोत लेंगे कलेक्टर-एसपी की क्लास, जनवरी के पहले पखवाड़े में वीसी का कार्यक्रम तय

लंबे समय बाद मुख्यमंत्री अशोक गहलोत समस्त कलक्टर और पुलिस अधीक्षकों की क्लास लेंगे। इसके लिए अगले साल जनवरी के पहले पखवाड़े में कांफ्रेंस आयोजित करने का कार्यक्रम तय किया गया है। इस कॉन्फ्रेंस के लिए 8 बिंदु निर्धारित किए गए हैं।

30/12/2020