Dainik Navajyoti Logo
Tuesday 20th of October 2020
 
राजस्थान

हमारी सरकार में विधायकों में नहीं कोई डर : गहलोत

Saturday, March 14, 2020 11:30 AM
अशोक गहलोत (फाइल फोटो)

जयपुर। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने भाजपा की कार्यशैली को लेकर अपने चिरपरिचित अंदाज में फिर टिप्पणियां की है। उन्होंने राजस्थान विधानसभा में बोलते हुए कहा कि ये सरकार वसुंधरा की नहीं, अशोक गहलोत की है। हमारी सरकार में विधायकों में कोई डर नहीं है। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया को संबोधित करते हुए कहा कि आपकी पार्टी में तो मुख्यमंत्री का इतना खौफ था कि एमएलए हमारे विधायकों के साथ बैठ नहीं सकते थे। अभी भी हमारा एमएलए भाजपाइयों के साथ बैठ नहीं सकता, लेकिन हम चाहते है कि भाजपा वाले हमारे साथ बैठे और चर्चा करें। उनके साथ कोई भेदभाव नहीं होगा, मैं वादा करता हूं। आप आइए, आपका सम्मान होगा।

ना ओवर ड्राफ्ट और ना ही कर्जा
गहलोत ने अपनी सरकार के वित्तीय प्रबंधन की तारीफ करते हुए कहा कि इस समय ना तो कोई ओवर ड्राफ्ट है और ना ही कर्जा बढ़ा है। मेरी सरकार की पहली प्राथमिकता बजट घोषणाओं को समय पर पूरा करना है। हमारी सरकार का वित्तीय प्रबंधन काफी बेहतर है। जनता पर करों का बोझ नहीं डाला गया है और न ही भविष्य में डालेंगे।

करप्शन पर अंकुश लगाएंगे
गहलोत ने सदन में फिर दोहराया है कि राजस्थान में करप्शन पर अंकुश लगाएंगे। उन्होंने कहा कि हम चाहते है कि प्रदेश में जन प्रतिनिधियों का सम्मान रहे, चाहे जन प्रतिनिधि किसी भी स्तर का हो। जो अधिकारी जन प्रतिनिधि का सम्मान नहीं करेंगे हम उसके खिलाफ बड़ी कार्रवाई करेंगे। उन्होंने प्रतिपक्ष के सदस्यों से भी कहा कि अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जिम्मेदारी मेरे ऊपर छोड़ों आप तो करप्शन समाप्त करने में हमारा सहयोग करो।

आपका रुतबा और सम्मान
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने पानी पी पीकर विपक्ष पर कटाक्ष करने में कोई कसर नहीं छोड़ी। उन्होंने नेता प्रतिपक्ष कटारिया को कहा कि दिल्ली में आपका रुतबा भी है और सम्मान भी है। आरएसएस में भी आपकी क्रेडिबिल्टी है। यह राजस्थान के लिए काम आनी चाहिए। ईस्ट कैनाल को राष्ट्रीय योजना घोषित कराने के लिए, जिससे 13 जिलों के लोगों का भाग्य जुड़ा हुआ हैं को लेकर आपको हमारा सहयोग करना चाहिए। कई महत्वपूर्ण मामलों में हमारे साथ चलकर केन्द्र सरकार पर दबाव बनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि नेता प्रतिपक्ष को राजस्थान के हितों में सरकार का साथ देकर यह संदेश देना चाहिए कि राजस्थान में जनहित के लिए सत्ता और प्रतिपक्ष दोनों एक है।

व्यक्तिगत दुश्मनी नहीं
गहलोत ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष ने जो मुद्दे उठाए, विपक्ष की भावना की कद्र करना लोकतंत्र को मजूबत करना है। हम उसी भावना से चलना चाहते हैं, हमारी व्यकितगत दुश्मनी नहीं होती, लड़ाई विचारधारा और नीति-सिद्धांतों की होती है, सदन का मान सम्मान बनाए रखने में हमारी तरफ  से कोई कमी नहीं रखी जाएगी। कॉमन मुद्दों पर विपक्ष सरकार का सहयोग करे, कई राज्य ऐसे हैं, जहां राज्य के कॉमन कॉज को लेकर एक रहते हैं। वे पहले अपने राज्य के हित की बात करते हैं, नेता प्रतिपक्ष ने जो भावना व्यक्त की उसका हम सम्मान करते हैं।

अफसोस असहमति को बता देते हैं देशद्रोह
मुख्यमंत्री ने कहा कि लोकतंत्र में विरोध से सरकारें मजबूत होती है। सरकारों को विभिन्न विचारों का सम्मान करना चाहिए। सरकार का विरोध करना देश का विरोध करना नहीं है। लेकिन बड़ा अफसोस है कि हमारे यहां असहमति को देशद्रोह कहा जा रहा है। सरकारों को एक तरफा नहीं चल सकती। जस्टिस चन्द्रचूड़ ने कहा कि सरकारें असहमति को दबाने की बजाए विभिन्न विचारों को प्रोत्साहन देना चाहिए। जस्टिस दीपक मेहता ने भी कहा है कि सरकार का विरोध करना देशद्रोह या देश का विरोध करना नहीं है।

गहलोत ने कहा कि सरकार को वोट नहीं दिया तो उन्हें नजरअदांज नहीं करना चाहिए। अभी देश के हालात काफी खराब है। इसे गंभीरता से लेना चाहिए। आम जनता की आवाज को दबाया जा रहा है। कोई विरोध करता है तो उसे देशद्रोही बता दिया जाता। चाहे नोटबंदी का मामला हो या फिर सीएए का या एनपीआर का मामला हो। लोगों के विरोध को जबरदस्ती दबाया जा रहा है। गहलोत ने नेता प्रतिपक्ष गुलाब चन्द कटारिया को इंगित करते हुए कहा कि देश के हालात को लेकर चिन्ता के साथ चिन्तन भी करो।

किसानों की पूरी मदद करेंगे
मुख्यमंत्री ने सदन को बताया कि ओलावृष्टि पीड़ितों को इसी माह आदान अनुदान का वितरण शुरू हो जाएगा। सरकार ओलावृष्टि  पीड़ित किसानों की पूरी मदद करेगी। संकट की घड़ी में राज्य सरकार किसानों के साथ खड़ी है। बीस मार्च तक गिरदावरी पूरी होते ही किसानों को मदद  देना शुरू कर दी जाएगी।

भाजपा राज में अनुशासनहीनता बरती
मुख्यमंत्री ने  कहा कि भाजपा राज में वित्तीय अनुशासनहीनता बरती गई। उस राज में पूरे पांच साल रेवेन्यू डेफिसट ही रखा, हमारी सरकार आते ही रेवेन्यू डेफिसिट कम किया है। भाजपा राज की तुलना में कोर सैक्टर्स में बजट बढ़ाया है। राजस्थान सौभाग्य से क्राइसिस से बचा हुआ है। हिमाचल प्रदेश,जम्मू-कश्मीर, केरल और पंजाब प्रदेश आरबीआई में ओडी में जा चुके हैं। इसके साथ ही 10 राज्य आरबीआई से मींस का पैसा उठा चुके हैं। केंद्र भुगतान करने की हालत में नहीं है, बिना केंद्र की मदद के राज्यों को चला नहीं पाएंगे। सभी राज्यों की हालत केंद्र की नीतियों की वजह से खराब है। दुनिया भर के अर्थशास्त्री क्या कहते हैं, उनकी बात सुननी चाहिए, क्यों बार बार आरबीआई गवर्नर छोड़कर चले गए, मौजूदा केन्द्र सरकार मंदी शब्द को मानना ही नहीं चाहती। जब तक खतरे को मानकर मुकाबला नहीं किया जाएगा, तब तक हालात ठीक नहीं होंगे। प्रधानमंत्री के सलाहकार रहे अरविंद सुब्रहमण्यम भी कह चुके हैं कि अर्थव्यवस्था ठीक नहीं है, निर्मला सीतारमण के पति कह चुके कि इस सरकार को अर्थव्यवस्था की समझ नहीं है। हमें कोसने वाले सुब्रह्मयम स्वामी कहते हैं कि निर्मला सीतरारमन को अर्थशास्त्र की समझ नहीं है, अब इसका मैं क्या कर सकता हूं।

 

यह भी पढ़ें:

डॉक्टरों को लोन दिलाकर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले चार बदमाश गिरफ्तार

स्पेशल आॅपरेशन ग्रुप ने चिकित्सकों को लोन दिलाकर करोड़ों रुपए की ठगी करने वाले गिराहे के चार बदमाशों को और गिरफ्तार किया है। चारों को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया गया है।

05/09/2019

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में कांग्रेस ने जयपुर में निकाला फ्लैग मार्च

कांग्रेस देशभर में 135वां स्थापना दिवस मना रही है। कांग्रेस के नेता और कार्यकर्ता रैली का आयोजन कर रहे है, जिसमें भारी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद है।

28/12/2019

कांग्रेस के बागी विधायकों को नोटिस का मामला, हाईकोर्ट में याचिकाएं खारिज करने के लिए प्रार्थना-पत्र पेश

कांग्रेस के बागी विधायको को विधानसभा अध्यक्ष द्वारा जारी किये गये नोटिस के मामले पर राजस्थान हाईकोर्ट में सुनवाई हुई।

20/10/2020

SpiceJet की जिस फ्लाइट से जा रहे सीपी जोशी और अशोक चांदना, उसमें आई तकनीकी खराबी

एयरपोर्ट से सुबह 10 बजे फ्लाइट रवाना होती है। तकनीकी खराबी के कारण फ्लाइट के डिपार्चर में देरी हुई।

03/12/2019

कोरोना संक्रमण की चपेट में पुलिस हेडक्वार्टर, दो दिन मुख्यालय को किया जाएगा सैनेटाइज

प्रदेश में कोरोना संक्रमण का कहर लगातार बढ़ता जा रहा है। कोरोना संक्रमण अब पुलिस मुख्यालय भी पहुंच गया है। संक्रमण के करीब दो दर्जन मामले सामने आने के बाद पुलिस मुख्यालय को शुक्रवार दोपहर के बाद बंद कर दिया गया। अब शनिवार और रविवार को अवकाश के दिन पुलिस मुख्यालय को सैनेटाइज किया जाएगा।

11/09/2020

हाईकोर्ट ने राज्य सरकार और एसएमएस प्रशासन को नोटिस जारी कर मांगा जवाब

राजस्थान हाईकोर्ट ने डॉ. अशोक गुप्ता को बड़ी राहत देते हुए राज्य सरकार के गत 4 सितंबर के उस आदेश पर रोक लगा दी है, जिसके तहत राज्य सरकार ने गुप्ता को जेके लोन अस्पताल अधीक्षक के पद से हटा दिया था।

10/09/2020

बहरोड फायरिंग मामला: 2 हैडकांस्टेबल बर्खास्त, उप अधीक्षक और थानाधिकारी निलंबित

प्रारम्भिक जांच उपरांत 2 हैडकॉस्टेबल को सेवा से बर्खास्त करने के साथ ही एक पुलिस उप अधीक्षक, संबंधित थानाधिकारी, एक हैडकांस्टेबल व एक कॉस्टेबल को निलंबित किया गया है ।

09/09/2019